चीन: 17 साल की बच्ची के शरीर में 4 किडनियां देख हैरान हुए डॉक्टर्स | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

चीन: 17 साल की बच्ची के शरीर में 4 किडनियां देख हैरान हुए डॉक्टर्स

Published

on

चीन में  17 साल की एक लड़की में चार किडनी पाए जाने का मामला सामने आया है।

इस लड़की को पीठ के दर्द से परेशान होकर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां जांच में उसकी चार किडनी निकलीं।

शाओलीन बचपन से ही स्वस्थ थी लेकिन पीठ के निचले हिस्से में लगातार दर्द होने के बाद वह अस्पताल पहुंची थी। सरकारी अखबार पीपुल्स डेली ने खबर दी कि उसका अल्ट्रासाउंड किया गया जिसमें उसकी चार किडनी दिखी जिससे देख लोग दंग रह गए।

मामले से जुड़े एक चिकित्सक ने कहा कि यह एक बीमारी है जिसे रेनल डुप्लेक्स मॉन्सट्रोसिटी कहते हैं। डॉक्टर ने कहा, ‘इसमें मृत्यु दर 1500 में एक की होती है जिसका मतलब है कि लोगों को पूरी जिंदगी यह महसूस नहीं होगा कि उन्हें यह प्रॉब्लम है।’ खबर में कहा गया है कि अतिरिक्त किडनी का ज्यादा उपयोग नहीं होता क्योंकि वे नियमित कार्य के लिए एक दूसरे से जुड़े होती हैं और इसलिये उन्हें आसानी से नहीं हटाया जा सकता।

डॉक्टर्स ने यूरेटेरल रिप्लांटेशन सर्जरी की और शाओलीन की अतिरिक्त किडनी को हटाया जिसके बाद उसकी हालत में कुछ सुधार आ रहा है।

wefornews bureau 

अंतरराष्ट्रीय

ब्राजील में कोरोना से मरने वालों की 135,000 के पार

Published

on

Coronavirus

रियो डि जेनेरो, 19 सितम्बर (आईएएनएस)। ब्राजील में कोरोनावायरस के कारण 858 और मरीजों की मौत होने के साथ देश में इस बीमारी से मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 135,793 हो गई है।

ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, मंत्रालय ने शुक्रवार को बताया कि इस बीच, पिछले 24 घंटों में 39,797 नए मामले दर्ज किए गए, जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4,495,183 हो गई।

ब्राजील ने हाल ही में दैनिक मौतों की औसत संख्या को कम करने में कामयाबी हासिल की है, जो पिछले सात दिनों में 779 रही, यह पूर्व के 14 दिनों के मुकाबले 9 प्रतिशत कम है।

प्रति दिन नए मामलों की औसत संख्या में भी कमी देखने को मिली है, जो पिछले सात दिनों में 31,097 रही है, यह पिछले दो हफ्तों की तुलना में 22 प्रतिशत कम है।

कोरोना से सबसे प्रभावित राज्य साओ पाउलो में 924,532 मामलों सामने आ चुके हैं और 33,678 मौतें हुई है, उसके बाद रियो डि जेनेरो में 249,798 मामले आ चुके हैं जबकि 17,575 लोग दम तोड़ चुके हैं।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

थाईलैंड ने दिया चीन को झटका, क्रा नहर परियोजना दौड़ में भारत भी शामिल

Published

on

china-flag-min

थाईलैंड ने हिंद महासागर में बनने वाली क्रा नहर परियोजना से हाथ खींचकर चीन को बड़ा झटका दिया है।

अब थाईलैंड ने दावा किया है कि इस परियोजना के निर्माण को लेकर भारत समेत अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और कई देशों ने रुचि दिखाई है और इसके बारे में वह विचार करेगा। थाईलैंड ने कहा है कि करीब 30 से अधिक विदेशी फर्मों ने नहर निर्माण में रुचि दिखाई है।

इससे पहले चीन ने थाईलैंड के साथ मिलकर हिंद महासागर में 120 किलोमीटर की मेगा नहर काटने की महत्वाकांक्षी परियोजना बनाई थी। यदि थाईलैंड इस परियोजना से हाथ न खींचता तो चीन को दक्षिण सागर से हिंद महासागर पहुंचने के लिए मलक्का जलडमरूमध्य होते हुए गुजरने की जरूरत नहीं पड़ती और दूरी काफी कम हो जाने से ईंधन की भी भारी बचत होती।

थाई समाचार पत्र खोसोद ने परियोजना की व्यवहार्यता का अध्ययन करने वाले थाई नेशन पावर पार्टी के सांसद सोंगक्लोड थिप्पारत के हवाले से कहा है कि भारत, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका निश्चित रूप से थाईलैंड का समर्थन करने के इच्छुक हैं। वे हमारे साथ हैं और ज्ञापन पर दस्तखत करना चाहते हैं।

उन्होंने कहा, 30 से ज्यादा विदेशी फर्म इस परियोजना में वित्तीय और तकनीकी मदद के साथ हमें निवेश व आपूर्ति में रुचि दिखा रही हैं।

मलक्का के पश्चिमी भाग को रोक सकता है भारत
फिलहाल चीन की वैश्विक महत्वाकांक्षाओं में मलक्का जलडमरूमध्य एक बड़ी अड़चन है जबकि चीन की 80 फीसदी तेल आपूर्ति इसी रास्ते से करनी होती है जो काफी खर्चीली है।

इसीलिए वह इसे किसी भी सूरत में बनाने का इच्छुक है। जबकि भारत की भौगोलिक स्थिति ऐसी है कि यह मलक्का डलडमरूमध्य के पश्चिमी भाग को आसानी से रोक सकता है। इससे चीन को काफी परेशानी हो सकती है।

हकीकत के करीब पहुंच रहा सदियों पुराना सपना
इस प्रोजक्ट की व्यवहार्यता का अध्ययन करने वाली संसदीय समिति के प्रमुख और थाई नेशन पावर पार्टी के सांसद सोंगक्लोड थिप्पारत ने कहा कि क्रा क्षेत्र में एक नहर बनाने का सदियों पुराना सपना वास्तविकता बनने के करीब पहुंच रहा है। भारत, ऑस्ट्रेलिया या अमेरिका जैसे देश इस परियोजना पर थाईलैंड  के साथ हैं।

Wefornews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ट्रंप प्रशासन का बड़ा फैसला, अब बिना लक्षण वालों को भी कराना होगा कोरोना परीक्षण

Published

on

Donald Trump

पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रही है। वहीं अमेरिका इससे सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। इसी बीच ट्रंप प्रशासन ने कोविड-19 परीक्षण को लेकर के दिशानिर्देशों को बदल दिया है।

प्रशासन ने ऐसा दूसरी बार किया है। अब उन लोगों को भी परीक्षण कराना अनिवार्य होगा जो कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, बेशक उनमें किसी तरह के लक्षण न दिखाई दे रहे हों।

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (सीडीसी) ने अगस्त के अंत में राज्य के सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों और विशेषज्ञों को उस समय नाराज कर दिया था जब यह कहा गया था कि जिन लोगों में लक्षण नहीं हैं, उन्हें परीक्षण की आवश्यकता नहीं है। 24 अगस्त से पहले, सीडीसी ने उन सभी के लिए परीक्षण अनिवार्य किया था जिनमें वायरस के लक्षण दिखाई दे रहे थे।

वहीं शुक्रवार को जारी किए गए दिशानिर्देश ने सीडीसी के परीक्षण को लेकर जारी किए गए निर्देशों को वापस लागू कर दिया है। अमेरिका के अधिकांश राज्यों ने संक्रमण के रोकथाम के लिए सीडीसी के 24 अगस्त के दिशानिर्देश को खारिज कर दिया था। कुछ राज्य अधिकारियों ने पिछले महीने कहा था कि उन्हें लगता है कि परीक्षण के महत्व को कम करना रिपब्लिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा नए मामलों में कटौती करने की इच्छा है।

Wefornews

Continue Reading

Most Popular