व्यापारछोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर को लेकर कांग्रेस ने केंद्र को घेरा

ऐलान किए जाने के 24 घंटे के भीतर सरकार ने 2021-22 की पहली तिमाही के लिए राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) और सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) सहित छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती किए जाने के अपने आदेश को वापस ले लिया।
WeForNews DeskApril 1, 20211141 min

नई दिल्ली, 1 अप्रैल । केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा छोटी बचत पर ब्याज दर घटाए जाने के फैसले को वापस लिए जाने का ऐलान किए जाने के कुछ घंटों बाद कांग्रेस ने भाजपा की सरकार पर सीधा हमला किया है।

सरकार की आलोचना करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा, पेट्रोल-डीजल पर तो पहले से ही लूट थी, चुनाव खत्म होते ही मध्यवर्ग की बचत पर फिर से ब्याज कम करके लूट की जाएगी। जुमलों की झूट की, ये सरकार जनता से लूट की।

अपने एक ट्वीट में निर्मला सीतारमण ने यह फैसला सुनाते हुए कहा, सरकार छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर घटाने के फैसले को वापस लेगी। हालांकि उन्होंने ब्याज दरों को 31 मार्च को खत्म हुए वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही के स्तर पर लाने का आश्वासन दिया है।

ऐलान किए जाने के 24 घंटे के भीतर सरकार ने 2021-22 की पहली तिमाही के लिए राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र (NSC) और सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) सहित छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती किए जाने के अपने आदेश को वापस ले लिया। वित्त मंत्री ने बताया कि यह फैसला गलती से लिया गया था।

वित्त मंत्री के ट्वीट पर जवाब देते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने लिखा, सरकार ने आमजनों की छोटी बचत वाली स्कीमों की ब्याज दरों में कटौती कर दी थी। आज सुबह जब सरकारी जागी तो उसको पता चला कि अरे ये तो चुनाव का समय है और सारा दोष ओवरसाइट (भूल-चूक) पर मढ़ दिया।

इसके अलावा कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, मैडम वित्त मंत्री, क्या आप सर्कस चला रही हैं या सरकार? जब करोड़ों लोगों को प्रभावित करने वाले ऐसे आदेश दिए जा सकते हैं, तो अर्थव्यवस्था का कामकाज कैसा होगा इसकी कल्पना की जा सकती है। आपको वित्त मंत्री के पद पर रहने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है।

Source: IANS

Related Posts