छत्तीसगढ़ :जंगल सफारी का सफर होगा महंगा | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

शहर

छत्तीसगढ़ :जंगल सफारी का सफर होगा महंगा

Published

on

छत्तीसगढ़ के नया रायपुर में बना मानव निर्मित जंगल सफारी का सफर पर्यटकों के लिए महंगा होगा।

क्योंकि जंगल सफारी के लिए पार्किंग समेत अन्य शुल्क तय कर दिए गए हैं ।ये 6 को नवंबर खोल दिया जाएगा।

नंदन वन तुलना में जंगल सफारी का सफर काफी महंगा होगा। नंदन वन में जहां 20 रुपये शुल्क के साथ पर्यटक प्रवेश ले सकते थे, वहीं जंगल सफारी के लिए नॉन एसी गाड़ियों के लिए 200 रुपये शुल्क देना होगा। सफारी सफर सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। टिकट जंगल सफारी काउंटर से लिया जाएगा। हर सोमवार को ये बंद रहेगा।

वन विभाग ने जंगल सफारी के लिए जो शुल्क तय किया गया है,वो है हर व्यक्ति नॉन एसी गाड़ियों के लिए 200, एसी गाड़ी के लिए 300, वहीं 6 से 12 साल तक के बच्चों को नॉन एसी गाड़ी के लिए 50 रुपये और एसी गाड़ी के लिए 100 देने होंगे।

मगर 6 साल से कम उम्र के बच्चों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसी तरह विदेशी पर्यटकों से नॉन एसी गाड़ी के लिए 500 और एसी गाड़ी के लिए 1000 हजार रुपये, विदेशी (अवयस्क) से नॉन एसी गाड़ी के लिए 400 और एसी गाड़ी के लिए 800 रुपये लेना निर्धारित किया गया है।

जंगल सफारी में फोटोग्राफी के लिए स्टिल कैमरा/डिजिटल कैमरा 100 रुपये शुल्क, हैंडीकैम/वीडियो कैमरा (साधारण) के लिए 500 और व्यावसायिक वीडियो कैमरा के लिए शुल्क समेत अनुमति लेनी होगी।

वहीं बड़े वाहनों बस, मिनी बस के लिए 100 रुपये, कार-जीप (हल्के वाहनों) के लिए 50 रुपये, ऑटो रिक्शा 30 रुपये, मोटरसाइकिल 20 और 10 रुपये साइकिल पार्किंग के लिए शुल्क तय किया गया है।

 

Wefornews bureau

राष्ट्रीय

गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन में अब जानवरों की एंट्री

किसानों का कहना है अभी हम दो जानवर ले कर आए हैं। और जानवर आएंगे और यही रहेंगे, जिसमें गाएं भी शामिल हैं।

Published

on

Farmers Protest Animal

गाजीपुर बॉर्डर (दिल्ली/उप्र), 2 दिसंबर । गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसान अब अपने साथ जानवर (गाय) लेकर पहुंच गए हैं। मंगलवार को सरकार से बातचीत बेनतीजा रहने पर किसान अब आर-पार की लड़ाई के मूड में हैं।

पिछले 6 दिनों से चल रहा किसान आंदोलन बुधवार को 7वें दिन भी थमता नहीं दिख रहा है। गाजीपुर बॉर्डर पर आए किसानों ने अपने घरों से जानवरों को बुला लिया है और अपने साथ इस प्रदर्शन में शामिल कर लिया है। किसान जानवरों को लखीमपुर खीरी और उत्तराखंड से ले कर आए हैं। उनका कहना है कि अभी दो ही जानवरों को लाया गया है, और जानवर आने वाले हैं।

पुलिस प्रशासन द्वारा लगाए गए बेरिगेड पर इन जानवरों को बांध दिया गया है और वहीं जानवरों के खाने की व्यवस्था भी की गई है।

किसानों का कहना है कि इस प्रदर्शन की वजह से जानवरों को घरों में अकेला छोड़ नहीं सकते। जानवरों को चारा डालने में समस्या आ रही थी। वहीं अब बॉर्डर पर ही इन जानवरों की देखरेख करेंगे।

किसानों का कहना है अभी हम दो जानवर ले कर आए हैं। और जानवर आएंगे और यही रहेंगे, जिसमें गाएं भी शामिल हैं।

किसानों के प्रदर्शन के चलते दिल्ली की ओर आने वाले सभी बोर्डरों पर जगह जगह जाम की स्थिति बनी हुई है।

Continue Reading

शहर

दिल्ली में कोरोना का प्रकोप जारी, 108 और मरीजों की मौत

Published

on

Coronavirus Death US

राजधानी दिल्ली में कोरोना वायरस (COVID-19) का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। लेकिन राहत की बात यह है कि पिछले 24 घंटों के दौरान नए मामलोें की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या अधिक होने से सक्रिय मामलों में कमी आयी और सोमवार को यहां सक्रिय मामले 2206 घटकर 32,885 पहुंच गये।

दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग की ओर से सोमवार को जारी बुलेटिन के अनुसार दिल्ली में इस अवधि में 3,726 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की कुल संख्या 5,70,374 हो गयी है। जबकि 5,824 मरीजों के स्वस्थ होने से सक्रिय मामलों में कमी आयी है और कोरोना मुक्त लोगों की संख्या 5,28,315 हो गयी। कोरोना रिकवरी दर 92.62 फीसदी पहुंच गयी है। इस दौरान 108 और मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 9,174 पहुंच गया है जोकि काफी चिंताजनक माना जा रहा है। जबकि मृत्यु दर 1.61 हो गयी है। मृतकों के मामले में पूरे देश में दिल्ली चौथे स्थान पर आ गया है।

दिल्ली में फिलहाल सक्रिय मामले घटकर 32,885 रह गये हैं जाे रविवार को 35,091 थे। राजधानी में पिछले 24 घंटों के दौरान 50.6 हजार नमूनों का परीक्षण किया गया। इसके साथ ही अब तक हुई जांच संख्या बढ़कर 62.88 लाख पहुंच गयी है। प्रत्येक दस लाख पर जांच का औसत 3,30,950 है। दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है और यह संख्या 5552 हो गयी है।

Continue Reading

शहर

उप्र : दिव्यांग किशोरी के साथ पारिवारिक मित्र ने किया दुष्कर्म

Published

on

Rape

पीलीभीत (उप्र) 1 दिसंबर । सुंगरही पुलिस सर्कल के अंतर्गत एक गांव में 13 वर्षीय एक नाबालिग दिव्यांग लड़की के साथ कथित तौर पर एक व्यक्ति ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने यह जानकारी मंगलवार को दी।

आरोप है कि आरोपी पारिवारिक मित्र है, जो लड़की को टॉफी लेने के लालच के बहाने ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।

यह घटना 27 नवंबर को घटी थी, लेकिन लड़की के परिवार ने पारिवारिक प्रतिष्ठा खोने के डर से शिकायत दर्ज कराने से परहेज किया।

आखिरकार पीड़ित परिवार द्वारा रविवार शाम को प्राथमिकी दर्ज की गई और लड़की को सोमवार को मेडिकल परीक्षण के लिए जिला अस्पताल भेजा गया।

एसएचओ अतर सिंह ने कहा, आरोपी पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (दुष्कर्म) और यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण (पॉस्को) अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Continue Reading

Most Popular