ब्रिस्बेन एकदिवसीय : बराबरी के इरादे से उतरेगा भारत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

खेल

ब्रिस्बेन एकदिवसीय : बराबरी के इरादे से उतरेगा भारत

Published

on

India-vs-Australia-WEFORNEWS-min

भारत और आस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला का दूसरा मैच शुक्रवार को ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर खेला जाएगा। पहले मैच में 309 रनों का शानदार स्कोर बनाने के बावजूद भी भारत पांच विकेट से हार गया था। दूसरे मैच में दोनों ही टीमों को अपने गेंदबाजों से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद होगी। पहले मैच में भारत और आस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने जमकर रन लुटाए थे।

पहले मैच में भारत ने पहले खेलते हुए 309 रन बनाए थे लेकिन बावजूद इसके भारत के गेंदबाज लक्ष्य बचाने में नाकामयाब रहे थे।

टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी ने भी मैच के बाद कहा था कि उनके स्पिनरों का ना चलना उनके लिए हैरानी की बात थी। हालांकि पहले मैच में पर्दापण करने वाले बरेंदर सरन ने जरूर तीन विकेट हासिल किए थे और कप्तान को दूसरे मैच में भी उनसे इसी प्रदर्शन की उम्मीद होगी, लेकिन उन्हें दूसरे छोर से समर्थन नहीं मिला था।

उमेश यादव भी लय में नहीं थे। वहीं रविचन्द्रन अश्विन और रविन्द्र जडेजा को स्टीव स्मिथ और जॉर्ज बेले ने बड़ी आसानी से खेला था।

आस्ट्रेलिया के गेंदबाजी आक्रमण में अनुभव की कमी साफ झलक रही थी। पर्दापण करने वाले स्कॉट बोलैंड और जोएल पेरिस प्रभावित करने में असफल रहे थे। वहीं मिशेल स्टार्क की गैरमौजूदगी में गेंदबाजी की कमान संभालने वाले जोस हाजलेवुड भी बेअसर रहे थे।

दोनों ही टीमों की बल्लेबाजी काफी अच्छी रही थी जिसको लेकर दोनों की कप्तान निश्चिंत होंगे, लेकिन गेंदबाजी को लेकर दोनों ही कप्तानों को जरूर सोचना पड़ेगा।

भारत की तरफ से रोहित शर्मा और विराट कोहली ने शानदार बल्लेबाजी की थी और निचले क्रम में धौनी और जडेजा ने भी अच्छे हाथ दिखाए थे।

आस्ट्रेलिया की तरफ से स्मिथ और बेले ने शानदार परियां खेल मैच जिताया था। इन दोनों के कारण आस्ट्रेलिया को किसी और बल्लेबाज को ज्यादा खेलना का मौका नहीं मिला था।

आस्ट्रेलिया को हालांकि डेविड वार्नर की कमी खल सकती है जो पितृत्व अवकाश पर गए हैं। उनकी पत्नी ने गुरुवार को ही बेटी को जन्म दिया है। वार्नर की जगह उस्मान ख्वाजा को टीम में शामिल किया गया है।

मैदान की परिस्थितिओं में हालांकि कोई ज्यादा अंतर देखने को नहीं मिलेगा। गावा की पिच भी वाका की पिच की तरह उछाल भरी होगी। पर्थ के मुकाबले यहां गर्मी थोड़ी ज्यादा होगी।

भारत शुक्रवार को दूसरा मैच जीत कर बराबरी करने के इरादे से उतरेगा तो वहीं इस मैच को जीत कर 2-0 से बढ़त लेने की कोशिश करेगा।

टीमें :

आस्ट्रेलिया (सम्भावित) : स्टीव स्मिथ (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, एरॉन फिंच, जॉर्ज बेली, ग्लेन मैक्सवेल, जॉन हेस्टिंग्स, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), जेम्स फॉल्कनर, स्कॉट बोलैंड, जोस हाजलेवुड, जोएल पेरिस।

भारत (सम्भावित) : शिखर धवन, रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, महेंद्र सिंह धौनी (कप्तान), गुरकीरत मान, मनीष पांडेय, रवींद्र जडेजा, आर. अश्विन, भुवनेश्वर उमेश यादव, बारिंदर सरन, इशांत शर्मा, अक्षर पटेल, ऋषि धवन।

wefornews bureau

खेल

आईपीएल-13 : रोहित शर्मा की आंधी, KKR पर Mumbai की रिकॉर्ड जीत

Published

on

Rohit Sharma

‘हिटमैन’ रोहित शर्मा की अपने पसंदीदा पुल शॉट से सजी लाजवाब पारी के बाद गेंदबाजों के अनुशासित प्रदर्शन से मुंबई इंडियन्स ने बुधवार को यहां कोलकाता नाइटराइडर्स (केकेआर) को 49 रन से हराकर 13वें इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपना खाता खोला.

रोहित ने 54 गेंदों पर 80 रन की पारी खेली जिसमें तीन चौके और छह गगनदायी छक्के शामिल हैं. उन्होंने सूर्यकुमार यादव (28 गेंदों पर 47, छह चौके, एक छक्का) के साथ दूसरे विकेट के लिये 90 रन जोड़े. मुंबई ने इन दोनों के महत्वपूर्ण योगदान से पांच विकेट पर 195 रन बनाये. इसके जवाब में केकेआर की टीम नौ विकेट पर 146 रन ही बना पायी.

उसकी तरफ से गेंदबाजी में नाकाम रहे और आठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे पैट कमिन्स ने सर्वाधिक 33 रन बनाये जिसमें जसप्रीत बुमराह (32 रन देकर दो) के एक ओवर में लगाये चार छक्के शामिल हैं. ट्रेंट बोल्ट, जेम्स पैटिनसन और राहुल चाहर ने भी मुंबई की तरफ से दो-दो विकेट लिये,

केकेआर ने 2013 के बाद पहली बार आईपीएल में अपना पहला मैच गंवाया जबकि मुंबई ने यूएई में छह हार के बाद पहली जीत दर्ज की थी. इससे पहले उसने यहां 2014 में पांचों मैच गंवाये थे जबकि इस बार उद्घाटन मैच में वह चेन्नई सुपरकिंग्स से पांच विकेट से हार गया था.

मुंबई की यह केकेआर के खिलाफ कुल 20वीं जीत है. केकेआर की शुरुआत बेहद खराब रही. उसका पहला रन नौवीं गेंद पर बना तथा जल्द ही उसके सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (सात) और सुनील नारायण (नौ) पवेलियन लौट गये. कप्तान दिनेश कार्तिक (23 गेंदों पर 30) ने कुछ अच्छे शॉट खेले लेकिन चाहर ने दूसरे स्पैल में आते ही उन्हें पगबाधा आउट कर दिया.

नितीश राणा (18 गेंदों पर 24) का हार्दिक पंड्या ने सीमा रेखा पर बेहतरीन कैच लपका. कीरेन पोलार्ड का यह आईपीएल में 2015 के बाद पहला विकेट था. अब इयोन मोर्गन और आंद्रे रसेल पर केकेआर की निगाह टिकी थी. रसेल (11) ने पूर्व में कई बार इस तरह की परिस्थितियों में केकेआर की नैया पार लगायी थी लेकिन बुमराह ने उन्हें बोल्ड करने के बाद इसी ओवर में मोर्गन (16) को भी पवेलियन भेजकर मुंबई की बड़ी जीत सुनिश्चित की.

केकेआर के सबसे महंगे खिलाड़ी कमिन्स गेंदबाजी में तो महंगे साबित हुए लेकिन उन्होंने बल्लेबाजी में अपना कौशल दिखाकर हार का अंतर कम किया. उन्होंने बुमराह के एक ओवर में चार छक्कों की मदद से 27 रन बटोरे.

बुमराह ने अपने पहले तीन ओवरों में केवल पांच रन दिये थे. इससे पहले केकेआर के गेंदबाजों का शुरू में गेंदों पर नियंत्रण नहीं रहा. कमिन्स ने तीन ओवर में 49 रन लुटाये. युवा शिवम मावी ने प्रभावित किया और 32 रन देकर दो विकेट लिये. सुनील नारायण 22 रन देकर एक विकेट लिया.

केकेआर का संदीप वारियर से गेंदबाजी का आगाज करवाना सही नहीं रहा. रोहित ने जहां उन पर छक्का लगाया तो सूर्यकुमार ने चार चौके जमाये लेकिन मावी ने इस बीच न सिर्फ मेडन ओवर किया बल्कि क्विंटन डिकाक (एक) को हवा में लहराता कैच देने के लिये भी मजबूर किया.

कमिन्स जब पांचवें ओवर में गेंदबाजी के लिये आये. उनकी शार्ट पिच गेंदों पर रोहित ने पुल शॉट से दो छक्के लगाये. आंद्रे रसेल और नारायण भी पहले ओवर में नाकाम रहे. ऐसे में कुलदीप यादव आठवें ओवर में छठे गेंदबाज के रूप में आक्रमण पर आये. सूर्यकुमार ने उन पर छक्का जड़ा.

कुलदीप और नारायण ने अगले चार ओवर में गेंद सीमा रेखा तक नहीं जाने दी. इस बीच सूर्यकुमार दूसरा रन चुराने के प्रयास में रन आउट हुए. रोहित ने 39 गेंदों पर टी20 में अपना 61वां अर्धशतक पूरा किया और फिर कुलदीप के आखिरी ओवर में दो छक्के लगाये.

नारायण ने अपने अंतिम तीन ओवर में केवल 11 रन दिये और सौरभ तिवारी (13 गेंदों पर 21) का विकेट लिया लेकिन हार्दिक पंड्या (18) ने भी कमिन्स पर रहम नहीं दिखाया तथा उन पर दो चौके और एक छक्का लगाया. रोहित की पारी का अंत आखिर में मावी ने किया जिन पर उन्होंने हवा में लहराता शॉट खेला.

Continue Reading

खेल

वेस्ट हैम युनाइटेड के कोच और दो खिलाड़ी कोविड-19 पॉजिटिव

Published

on

लंदन, 23 सितंबर (आईएएनएस)। इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल) के क्लब वेस्ट हैम युनाइटेड के मुख्य कोच डेविड मोयेस और दो खिलाड़ी इस्सा डिओप तथा जोश कुलैन कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं।

क्लब ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।

क्लब ने एक बयान में कहा, वेस्ट हैम युनाइटेड इस बात की पुष्टि करता है कि डेविड मोयेस, इसा डिओप और जोश कुलेन का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है।

टीम कारावाओ कप के लिए लंदन स्टेडियम में थी तब क्लब की मेडिकल टीम को इस बात की जानकारी दी गई।

क्लब ने बयान में कहा है, इन तीनों में किसी तरह के लक्षण नहीं हैं। हम अब इंग्लैंड और इंग्लिश फ्रीमियर लीग की स्वास्थ गाइडलाइंस और प्रोटोकॉल्स का पालन करेंगे।

Continue Reading

खेल

आईपीएल-13 : रॉयल्स की विजयी शुरुआत, चेन्नई को 16 रनों से पटका

Published

on

शारजाह, 23 सितंबर (आईएएनएस/ग्लोफैंस)। पहले मैच में बेहतरीन शुरुआत करने वाली चेन्नई सुपर किंग्स मंगलवार को आईपीएल के 13वें सीजन के अपने दूसरे मैच में राजस्थान रॉयल्स के हाथों हार गई।

राजस्थान का यह इस सीजन का पहला मैच था जिसे उसने 16 रनों से जीता। राजस्थान के बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों चले, लेकिन तीन बार की विजेता सीएसके के लिए इस मैच में कुछ भी अच्छा नहीं रहा। राजस्थान ने 20 ओवरों में सात विकेट खोकर 216 रन बनाए। सीएसके 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 200 रन ही बना सकी।

राजस्थान के मजबूत स्कोर की बुनियाद संजू सैमसन (74 रन, 32 गेंदें, नौ छक्के, एक चौका), स्टीव स्मिथ (69 रन, 47 गेंदें, चार चौके, चार छक्के) ने रखी, जिसे जोफ्रा आर्चर ने आठ गेंदों पर चार छक्कों की मदद से 27 रन बनाकर पूरा किया। आर्चर ने आखिरी ओवर में चार छक्के मारे और राजस्थान ने कुल 30 रन इस ओवर में लिए जिसके कारण वह चेन्नई के सामने 217 रनों का लक्ष्य रख सकी।

विशाल लक्ष्य के सामने सीएसके को जिस तरह की शुरुआत की जरूरत थी वो उसे मिली। पहले मैच में फ्लॉप रहने वाली शेन वाटसन और मुरली विजय की सलामी जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 56 रन जोड़े।

पावर प्ले के बाद आए लेग स्पिनर राहुल तेवतिया की गेंद पर वाटसन (33 रन, 21 गेंद, एक चौका, चार छक्के चूक गए और बोल्ड हो गए। इसी के साथ इस साझेदारी का अंत हुआ और सीएसके के पटरी पर से उतरने की शुरुआत। वाटसन के बाद विजय (21 रन, 21 गेंद) को श्रेयस गोपाल ने सैम कुरैन के हाथों कैच कराया।

इन दोनों के जाने के बाद चेन्नई का स्कोर 58 रनों पर दो विकेट हो गया और चेन्नई दबाव में आ गई।

राजस्थान को पहली सफलता दिलाने वाले तेवतिया को सैम कुरैन ने अपने हाथ लिया और दो छक्के सहित छह गेंदों पर 17 रन बनाए। इसी ओवर में एक और बड़ा शॉट खेलने के प्रयास में कुरैन स्टम्पिंग हो गए।

यही हाल अंबाती रायडू की जगह आए ऋतुराज गायकवाड़ का हुआ। वह पहली ही गेंद पर बड़े शॉट के लिए गए और सैमसन ने स्टम्प करने में कोई गलती नहीं की। अब सीएसके का स्कोर नौ ओवरों में 77 रनों पे चार विकेट था। यहां से जीत काफी मुश्किल लग रही थी।

केदार जाधव (22), फाफ डु प्लेसिस (72 रन, 37 गेंद, सात छक्के, 1 चौका), महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 29) ने कोशिश की लेकिन टीम जीत नहीं सकी।

सीएसके के पक्ष में कुछ रहा तो वो था टॉस जिसे जीतकर उसने राजस्थान को बल्लेबाजी के लिए बुलाया। अंडर-19 विश्व कप में बल्ले से धमाल माचने वाले यशस्वी जयसवाल आईपीएल पदार्पण में कुछ खास नहीं कर सके। दीपक चहर की गेंद को मारने के प्रयास में गेंद उनके बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर हवा में खड़ी हुई और चहर ने ही कैच पकड़ इस युवा बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। आउट होने से पहले जयासवाल ने चहर पर चौका भी लगाया था और इसी चौके के दम पर वह छह रन बना सके।

इसके बाद आए सैमसन ने आते ही अपना आक्रामक अंदाज दिखाया और तेजी से रन बनाए। उन्होंने 19 गेंदों पर अपने 50 रन पूरे किए। यह सैमसन का सबसे तेज अर्धशतक है। स्ट्रेटिजक टाइम आउट तक राजस्थान ने आठ ओवरों में एक विकेट खोकर 96 रन बना लिए थे।

टाइम आउट से लौटने के बाद स्मिथ ने भी बड़े शॉट लगाने शुरू कर दिए। दोनों बल्लेबाजों ने चेन्नई के गेंदबाजों पर जमकर रन बटोरे।

लुंगी नगिदी हालांकि इस साझेदारी को तोड़ने में कामयाब रहे। सैमसन ने नगिदी की गेंद पर बड़ा शॉट खेलना चाहा लेकिन चहर ने उनका कैच पकड़ लिया। राजस्थान के लिए पहला मैच खेल रहे डेविड मिलर खाता नहीं खोल पाए। कोलकाता नाइट राइडर्स से राजस्थान में रॉबिन उथप्पा भी सिर्फ पांच रन बना सके। तेवतिया और रियान पराग भी कुछ खास नहीं कर सके।

19वें ओवर में स्मिथ के आउट होने से राजस्थान के बड़े स्कोर की उम्मीदें धूमिल होती दिखी, लेकिन आर्चर ने उम्मीदों को पूरा किया उन्होंने चार गेंदों पर चार छक्के मारे और मध्य के ओवरों मे जो कमी आई थी उसकी भरपाई कर दी।

चेन्नई के लिए सैम कुरैन ने तीन सफलताएं हासिल कीं। चहर, नगिदी और पीयूष चावला के हाथ एक-एक विकेट आया।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular