ब्राजील : अदालत ने व्हाट्सएप पर लगी 72 घंटे की रोक हटाई | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

ब्राजील : अदालत ने व्हाट्सएप पर लगी 72 घंटे की रोक हटाई

Published

on

व्हाट्सएप
ब्राजील

ब्राजील में मैसेजिंग सर्विस व्हाट्सएप पर लगाई की 72 घंटे की रोक को हटा लिया गया है। सर्जिपे राज्य के कोर्ट मजिस्ट्रेट रिकाडरे मुसियो सैंटाना डे एबरू लीमा ने मंगलवार को पूर्व में सर्जिपे की एक आपराधिक अदालत के न्यायाधीश मार्सेल माइया मोंटाल्वो द्वारा सुनाए गए फैसले को रद्द कर दिया है।

समाचार एजेंसी ‘एफे’ की रिपोर्ट के अनुसार, ब्राजील के पांच मोबाइल ऑपरेटर-टीआईएम, ओआई, वीवो, क्लेरो एवं नेक्सटेल ने सोमवार अपराह्न् दो बजे व्हाट्सएप सेवा बंद करनी शुरू कर दी थी। इस कदम से ब्राजील में व्हाट्सएप के करीब 10 करोड़ उपयोगकर्ता प्रभावित हुए।

मोंटाल्वो ने व्हाट्सएप सेवा 72 घंटों के लिए बंद करने का आदेश संघीय पुलिस के एक प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया स्वरूप दिया था। दरअसल संघीय पुलिस ने व्हाट्सएप की मालिक सोशल मीडिया जाइंट फेसबुक से मांग की थी कि वह उन टैक्सट का खुलासा करे, जो एक ड्रग केस के आरोपियों द्वारा व्हाट्सएप के जरिए भेजे गए थे। लेकिन उसने मदद करने से इनकार कर दिया था, जिसके बाद व्हाट्सएप सेवा पर 72 घंटों के लिए रोक लगाने का आदेश दिया गया था।

wefornews bureau

अंतरराष्ट्रीय

पाकिस्तान के पेशावर में धमाका, 7 लोगों की मौत, 70 से ज्यादा घायल

Published

on

Photo-नवजीवन

पाकिस्तान के पेशावर में बम धमाका हुआ है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, पेशावर के दिर कॉलोनी में मदरसे के पास यह धमाका हुआ है। धमाके में 7 लोगों की मौत हो गई है और 70 लोग घायल हो गए हैं। मरने वालों और घायलों में बच्चे भी शामिल हैं।

WeForNews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

इमरान ने फेसबुक को लिखी चिट्ठी, इस्लामोफोबिया से जुड़ी सामग्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

Published

on

imran khan

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग को पत्र लिखकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इस्लामोफोबिक सामग्री पर प्रतिबंध लगाने को कहा है। भारत के नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) का उल्लेख करते हुए, खान ने कहा कि मुसलमानों को उनके नागरिक अधिकारों से वंचित किया जा रहा है।

जुकरबर्ग को लिखे अपने पत्र में, इमरान ने कहा कि बढ़ता इस्लामोफोबिया दुनियाभर में चरमपंथ और हिंसा को प्रोत्साहित कर रहा है, खासकर फेसबुक जैसे प्लेटफार्मों के माध्यम से। इस्लामोफोबिया की होलोकॉस्ट के साथ तुलना करते हुए, पाकिस्तानी पीएम ने फेसबुक के सीईओ से इस्लामोफोबिया और इस्लाम के खिलाफ नफरत पर प्रतिबंध लगाने को कहा। 

फेसबुक ने 12 अक्तूबर को एक बयान जारी कर कहा था कि कंपनी होलोकॉस्ट से इनकार या विकृत करने वाली किसी भी सामग्री पर प्रतिबंध लगाने के लिए अपनी हेट स्पीच नीति को अपडेट कर रही है।

अपने पत्र में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, मैं होलोकॉस्ट की आलोचना या उसपर सवाल करने वाली किसी भी पोस्ट को प्रतिबंधित करने के लिए आपके कदम की सराहना करता हूं। हालांकि, आज हम दुनिया के विभिन्न हिस्सों में मुसलमानों के खिलाफ समान चीजें होते हुए देख रहे हैं। 

सीएए और एनआरसी को ‘मुस्लिम विरोधी कानून’ करार देते हुए, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने लिखा, इस तरह के उपाय, साथ ही मुसलमानों की हत्या और कोरोना वायरस के लिए मुसलमानों को दोषी ठहराना इस्लामोफोबिया की घिनौनी घटना का सबूत है। 

इससे पहले, इमरान ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों पर इस्लाम के खिलाफ खड़े होने और इस्लाम पर हमला करने का आरोप लगाया था। इमरान ने ट्वीट करते हुए कहा था कि यह बेहद ही दुखद है कि मैक्रों ने इस्लाम के खिलाफ या इस्लामोफोबिया को बढ़ावा दिया। उन्होंने कहा कि मैंक्रों को अगर तकलीफ होनी चाहिए तो इस्लाम से नहीं आतंकवाद से होनी चाहिए। 

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

आर्मीनिया और अजरबैजान की जंग खत्म, पांच हजार लोगों की हुई मौत

Published

on

आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच 29 दिनों से चल रही जंग आखिरकार समाप्त हो गई है। दोनों देश मानवीय संघर्षविराम के लिए तैयार हो गए हैं। जंग के बाद दोनों देशों के प्रतिनिधियों ने सीजफायर के पालन पर मुहर लगाई है। आधी रात से दोनों देशों के बीच संघर्षविराम प्रभाव में आ गया है। 

दोनों देशों के बीच शांति की बहाली अमेरिका की पहल पर हुई है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने इसका एलान किया है। ट्रंप ने दोनों देशों के राष्ट्र प्रमुखों को संघर्षविराम के लिए बधाई दी है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया, आर्मेनिया के प्रधानमंत्री निकोल पाशिन्यान और अजरबैजान के राष्ट्रपति इलहाम अलीयेव को बधाई। दोनों देश सीजफायर के पालन के लिए सहमत हो गए हैं, जो आधी रात से प्रभाव में आ गया है। कई जीवन बच जाएंगे। मुझे मेरी टीम माइक पोम्पियो, स्टीव बेगन और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद पर इस डील के लिए गर्व है। 

गौरतलब है कि आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच नागोर्नो-काराबाख को लेकर करीब एक महीने से जंग चल रही है। बताया गया है कि इस जंग में अब तक दोनों देशों के पांच हजार लोग मारे जा चुके हैं। दुनियाभर की नजर इस युद्ध पर थी, हालांकि अब युद्धविराम के बाद शांति स्थापित होने के कयास लगाए जा रहे हैं। 

WeForNews

Continue Reading

Most Popular