व्यापारनाम में Oxygen लगा होने के कारण इस कंपनी के Stocks 2 महीने में 157% उछले

कंपनी के शेयर में यह तेजी कंपनी के मजबूत फंडामेंटल, बैलेंसशीट या अर्निंग ग्रोथ के कारण नहीं आई, बल्कि उसके नाम में लगा ऑक्सीजन वर्ड के कारण आई है। कंपनी अगस्त 2019 तक इंडस्ट्रियल गैस सप्लाई करती थी, जो कों वह करीब 2 साल पहले छोड़ चुकी है। कंपनी अब NBFC है।
WeForNews DeskApril 20, 20211691 min

नाम (Name) को लेकर हिंदी में दो मशहूर कहावतें हैं। पहला- बस नाम ही काफी है और दूसरा- नाम में क्या रखा है। NBFC कंपनी बॉम्बे ऑक्सीजन इंवेस्टमेंट्स (Bombay Oxygen Investments) ने साबित कर दिया है कि नाम में बहुत कुछ रखा है और नाम ही काफी है। सिर्फ नाम की वजह से NBFC कंपनी बॉम्बे ऑक्सीजन इंवेस्टमेंट्स के शेयर में 3 महीने से भी कम समय में 157% की उछाल आई।

लेकिन कल जब इसका भेद खुला कि लोग बिना फंडामेंटल्स चेक किए और नाम से भ्रमित होकर कंपनी में अंधाधुंध निवेश कर रहे हैं तो कंपनी के शेयर आज अर्श से फर्श पर आ गए। आशंका है कि भेद खुलने के बाद कंपनी के शेयर में भारी गिरावट आएगी, जिसकी शुरुआत आज हुई है।

दरअसल, कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण ऑक्सीजन की भारी किल्लत है। चूंकि, Bombay Oxygen Investments के नाम के बीच में ऑक्सीजन वर्ड लगा है, इस वजह से लोगों ने सोचा कि कंपनी ऑक्सीजन का प्रोडक्शन करती है, ऐसे में कंपनी को जबरदस्त मुनाफा होना तय है। यह सोचकर लोगों ने कोरोना के मामले बढ़ने और ऑक्सीजन की किल्लत होने के बाद कंपनी में जमकर निवेश किया, बिना या जाने कि कंपनी किस चीज का कारोबार करती है।

कल यानी 19 अप्रैल को Moneycontrol ने बताया कि यह कंपनी ऑक्सीजन का प्रोडक्शन नहीं करती है, बल्कि एक नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (NBFC) है, जो पब्लिक के डिपोडिट को एक्सेप्ट भी नहीं करती है। इसके बाद आज कंपनी के शेयर लुढ़क गए और इसमें 5% लोअर सर्किट लगा। जबकि, कल यानी 19 अप्राल को कंपनी के शेयर में 5% अपर सर्किट लगा था।

1 फरवरी 2021 के बाद से Bombay Oxygen Investments के शेयर में आई जबरदस्त उछाल से यह बात भी साबित हो गया है कि लोग किस तरह सोशल मीडिया फ्रेंजी के कारण बिना सोचे-समझे और बिना रिसर्च किए स्टॉक्स में निवेश करते हैं। 1 फरवरी को बॉम्बे ऑक्सीजन इंवेस्टमेंट्स के एक शेयर की कीमत 9965 रुपये थी जो 19 अप्रैल को बढ़कर 24,574.85 रुपये हो गई।

कंपनी के शेयर में यह तेजी कंपनी के मजबूत फंडामेंटल, बैलेंसशीट या अर्निंग ग्रोथ के कारण नहीं आई, बल्कि उसके नाम में लगा ऑक्सीजन वर्ड के कारण आई है। कंपनी अगस्त 2019 तक इंडस्ट्रियल गैस सप्लाई करती थी, जो कों वह करीब 2 साल पहले छोड़ चुकी है। कंपनी अब NBFC है।

आपको बता दें कि जब से देश में कोविड का दूसरा वेव पीक पर आया है, तब से कंपनी के स्टॉक्स इसके स्टॉक्स 100% से अधिक उछल चुके हैं। 1 अप्रैल को कंपनी के 1 शेयर की कीमत 11,255 रुपये थी जो अब 24,574 रुपये से अधिक हो गई है। यानी कंपनी के शेयर में इस महीने 120% की उछाल आई है।

लेकिन लगता है अब कंपनी के स्टॉक्स में तेजी का बुलबुला फूट चुका है और कंपनी के स्टॉक्स में करेक्शन की शुरुआत आज से हो चुकी है। आज कंपनी के स्टॉक्स 5% लोअर सर्किट लगकर 23,346 रुपये पर बंद हुए, जबकि कल इसके शेयर 24,574.85 रुपये पर बंद हुए थे। 12 अप्रैल से 19 अप्रैल के बीच कंपनी के स्टॉक्स में रोज अपर सर्किट लगा था।

Related Posts