कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पैगंबर मोहम्मद के बारे में बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादास्पद टिप्पणियों पर नाराजगी जताते हुए इसे विश्व स्तर पर भारत की स्थिति को भी नुकसान पहुंचाने वाला करार दिया है।

राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, आंतरिक रूप से विभाजित, भारत बाहरी रूप से कमजोर हो जाता है।भाजपा की शर्मनाक कट्टरता ने न केवल हमें अलग-थलग कर दिया है, बल्कि विश्व स्तर पर भारत की स्थिति को भी नुकसान पहुंचाया है।

वहीं इस मसले पर कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि भाजपा एक तरफ तो धार्मिक ध्रुवीकरण कर और नफरत फैला कर भारत की सदियों पुरानी ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की परंपरा का अपमान करती है तो दूसरी और सब धर्मों के सम्मान का ढोंग व पाखंड करती है। यह भाषा अविश्वसनीय है।

उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा, भाजपाई नेतृत्व ने वोट बटोरने के लिए एक नया शब्दकोश बना लिया है।ये हैं-‘श्मशान-कब्रिस्तान’, ’80 बनाम 20′, ‘बुलडोजर’, ‘गर्मी निकालना’।

सुरजेवाला ने सवाल करते हुए कहा कि क्या भाजपा अपने तौर-तरीकों में सुधार लाने के प्रति गंभीर है? क्या अब भारत की आत्मा, विचारधारा और मानवता की समावेशी परंपरा पर नफरत का बुलडोजर चलना बंद हो जाएगा? भाजपा द्वारा दिया एक छोटा सा बयान भारतीयता के सिद्धांत को पहुंचाए गए लाखों जख्मों को नहीं भर पाएगा।

सुरजेवाल ने कहा देश यह भी जानना चाहता है कि क्या भाजपा नेतृत्व संकीर्ण राजनैतिक स्वार्थों को पूरा करने के लिए देश को सांप्रदायिक ध्रुवीकरण के अंधेरे युग में धकेल रहा है? क्या कारण है की भाजपा नेताओं को पार्टी से निष्काषित कर धार्मिक भावना भड़काने की एफआईआर दर्ज नहीं की गई? क्या भाजपा जानती है की लगभग 320 लाख भारतीय मूल के लोग विदेशों में रहते हैं व काम करते हैं, जिनमें से 150 लाख खाड़ी के देशों में हैं?

गौरतलब है कि पैगंबर मोहम्मद के बारे में बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा की विवादास्पद टिप्पणियों पर मुस्लिम देश लगातार आपत्ति जता रहे हैं। रविवार को कतर ने सबसे पहले इसे लेकर अपनी नाराजगी जताई थी जिसके बाद से कुवैत, सऊदी अरब, अफगानिस्तान, ईरान, पाकिस्तान जैसे देशों ने आपत्ति जताई है।

हालांकि बीजेपी ने नूपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है। नूपुर शर्मा बीजेपी की राष्ट्रीय प्रवक्ता रही हैं।

साल 2015 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने नई दिल्ली सीट से दिल्ली के मौजूदा मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ा था। हालांकि वह चुनाव नहीं जीत सकी थीं और एक बड़े अंतर से हार गई थीं।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275