बिहार में सत्तारूढ गठबंधन में शामिल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक ही अब विपक्ष की भाषा बोलने लगे हैं।

भाजपा के विधायक हरिभूषण सिंह ने शनिवार को कहा कि राज्य में नीचे के स्तर पर लूट मची है।

उन्होंने कहा कि अफसरशाही नहीं ‘डाकूशाही’ चल रही है।बिहार विधानसभा परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि विधायकों की ही बात नहीं सुनी जा रही है तो आम जनता का क्या हाल होगा।भाजपा के विधायक ने अपनी ही सरकार पर भड़कते हुए चेतावनी देते हुए कहा कि भाजपा और जदयू चेत जाए नहीं तो इसका परिणाम बहुत बुरा होगा।

उन्होंने कहा कि निचले स्तर थाना, प्रखंड में कोई काम नहीं हो रहा है। सरकारी अधिकारी लूटने के अलावा कुछ काम नहीं कर रहे हैं।उन्होंने कहा कि पुलिस बिना पैसे लिए किसी की नहीं सुनती है।

भाजपा विधायक के इस बयान पर जब कांग्रेस विधायक दल के नेता अजीत शर्मा से पूछा गया तो उन्होंने भी भाजपा विधायक के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि इसमें कोई गलत बात नहीं कह रहे हैं।उन्होंने कहा कि बिहार में शराबबंदी है, जहां जहरीली शराब से मौत होती है, वहां पर एसपी और डीएम जाकर लोगों पर दबाव बनाते हैं कि आप कहिए कि मौत शराब से नहीं बीमारी से मौत हुई है।

उन्होंने आरोप लगाया कि राजग की सरकार में प्रशासन के पदाधिकारी अपने आप को ही सरकार समझ रहे हैं।

उन्होंने यहां तक कहा कि अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस पर विचार करना चाहिए, अब अपने ही सहयोगी सवाल उठा रहे हैं। यह बात अब किसी से छिपी नहीं है कि बिहार में अफसरशाही चरम पर है।

उन्होंने कहा कि सरकार में विधायकों की आवाज नहीं सुनी जा रही है।

–आईएएनएस

Share.

Leave A Reply