बकरीद : हैदराबाद में बकरे की ऑनलाइन बिक्री, आउटसोर्स कुर्बानी | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

बकरीद : हैदराबाद में बकरे की ऑनलाइन बिक्री, आउटसोर्स कुर्बानी

Published

on

Online payment
प्रतीकात्मक तस्वीर

हैदराबाद में इस बार बकरीद के मौके पर कुर्बानी के लिए कोई जानवर खरीदने को बाजार में भागदौड़ करता नजर नहीं आ रहा है, जानवरों के कत्ल के लिए कसाई को तलाशने की जरूरत नहीं और कोरोनावायरस महामारी के समय में जगह को साफ रखने को लेकर कोई चिंता नहीं है।

इस बार ईद-उल-अजहा हैदराबाद और तेलंगाना के अन्य हिस्सों में मुसलमानों के लिए अलग होगा, क्योंकि उनमें से ज्यादातर अपने घरों में ही बैठकर कुर्बानी दे रहे होंगे।

वे पशु व्यापारियों और अन्य समूहों को काम आउटसोर्स कर रहे हैं, जो न केवल उनके लिए भेड़, बकरी या मवेशी खरीद रहे हैं, बल्कि जानवरों का कत्ल भी करते हैं और उनके घर के दरवाजे तक मांस भी पहुंचाते हैं या अपनी इच्छा के अनुसार इसे गरीबों और जरूरतमंदों में वितरित करते हैं।

1 अगस्त को मनाया जाने वाला ईद-उल-अजहा जिसे बकरीद के नाम से भी जाना जाता है, इस बार कई मायनों में अलग होगा। अब तक जिस तरह से यह त्योहार मनाया जाता रहा है, उसके मनाने के अंदाज को कोविड-19 ने बदल दिया है।

चूंकि राज्य में वायरस का फैलाव जारी है, और हैदराबाद हॉटस्पॉट बना हुआ है, इसलिए अधिकांश मुसलमान व्यापारियों, गैर सरकारी संगठनों, सामाजिक-धार्मिक संगठनों और कुछ इस्लामी सेमनेरी द्वारा दी जाने वाली सेवाओं का लाभ उठा रहे हैं।

एहतियात को ध्यान में रखते हुए ज्यादातर लोग जानवर खरीदने के लिए बाहर निकलने या घर पर कुर्बानी करने से बच रहे हैं। वे जानवर को मारने के लिए भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने या कसाई को बुलाने का जोखिम नहीं उठाना चाहते। हर साल, सैकड़ों व्यापारी विभिन्न जिलों से भेड़ या बकरियों को हैदराबाद लाते हैं और अपने अस्थायी स्टॉल लगाते हैं।

इस बार, अधिकांश व्यापारियों ने अपने स्मार्टफोन पर संभावित खरीदारों के लिए जानवरों की तस्वीरें और वीडियो भेजकर और उनके भुगतान विकल्पों की पेशकश करके अपना व्यवसाय ऑनलाइन किया है। हर बार अधिकांश लोग कुर्बानी के लिए कसाइयों की सेवा लेते हैं, लेकिन कोरोना के चलते इस बार कई ने अपनी योजना बदल दी है।

अपने दम पर जानवरों की बलि देने के बजाय, वे इस काम को व्यापारियों और संगठनों को आउटसोर्स कर रहे हैं। ये समूह हर साल इज्तेमाई कुर्बानी या सामूहिक कुर्बानी की व्यवस्था करते हैं, लेकिन यह उन लोगों के लिए होता है जो मवेशियों की साझा खरीद में हिस्सा लेते हैं।

सात व्यक्ति एक बड़े जानवर की कुर्बानी में शामिल हो सकते हैं, जबकि एक भेड़ या बकरी को एक व्यक्ति द्वारा कुर्बान किया जा सकता है। हर साल कई समूह और व्यक्ति सामूहिक कुर्बानी का आयोजन करते हैं।

टोली चौकी क्षेत्र के एक सामाजिक कार्यकर्ता फारूक अहमद, जो हर साल इज्तेमाई कुबार्नी की व्यवस्था करते हैं, ने कहा कि इस बार उनके समूह ने पेशेवर कसाई सहित कई अन्य लोगों के साथ करार किया है।

इस साल प्रत्येक हिस्सा की कीमत 3,400 रुपये है, जो पिछले साल 3,000 रुपये थी, क्योंकि जानवरों की कीमतें 30 से 40 प्रतिशत तक बढ़ गई हैं।

मौलवियों का कहना है कि तीन दिवसीय त्योहार पैगंबर इब्राहिम के महान बलिदान को याद करने का एक अवसर है, जिन्होंने अल्लाह के आदेश पर अपने बेटे पैगंबर इस्माइल को कुर्बान करने की पेशकश की। अल्लाह के रहम से जब इस्माइल अपने बेटे की कुर्बानी देने चले तब उनके बेटे की जगह एक मेमना आ गया।

एक बुजुर्ग शख्स इश्तियाक अहमद ने कहा, यह एक बड़ी कुर्बानी को याद करने और अल्लाह की राह में कुछ भी कुर्बान करने के लिए तैयार रहने का संकल्प लेने का अवसर है।

आईएएनएस

राष्ट्रीय

यूपीएससी के लिए अतिरिक्त मौका नहीं दिए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा स्पष्टीकरण, हलफनामे पर जताई नाराजगी

Published

on

Supreme_Court_of_India

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना प्रभावित अभ्यर्थियों को संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सर्विसेज परीक्षा में अतिरिक्त मौका नहीं दिए के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा है। कोर्ट ने गुरुवार को यह स्पष्ट करने को कहा कि सरकार में फैसला किस स्तर पर लिया गया।

जस्टिस एएम खानविलकर की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने इस बात पर नाराजगी जताई कि एक तो उपसचिव के दस्तखत से हलफनामा दाखिल किया गया है और यह भी स्पष्ट नहीं किया गया है कि उक्त फैसला किस स्तर पर लिया गया।

सर्वोच्‍च अदालत की पीठ ने अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू से कहा कि उसने सरकार का हलफनामा देखा है और बेहतर होता कि इसे किसी उच्च अधिकारी द्वारा दाखिल किया जाता।

पीठ ने मामले की सुनवाई शुक्रवार के लिए तय करते हुए कहा, ‘हलफनामा में इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है कि फैसला किस स्तर पर लिया गया। यह उच्चतम स्तर पर लिया जाना चाहिए था। यह नीतिगत निर्णय है और एक बार की छूट का मामला है। यह तो रूटीन हलफनामा है। क्या काम करने का यही तरीका है? हलफनामा उचित तरीके से दाखिल करें।’

Continue Reading

राष्ट्रीय

NSA अजीत डोभाल ने की अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार से बातचीत

Published

on

Ajit Doval

भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अपने अमेरिकी समकक्ष जेक सुलिवन से टेलीफोन पर बातचीत कर क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर मिलकर काम करने पर सहमति जताई।

दोनों ने आतंकवाद के सफाए और ¨हद प्रशांत क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम करने पर भी बातचीत की।

विदेश मंत्रालय ने बताया कि दोनों राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार, साझा मूल्यों रणनीतिक हितों के आधार पर बने दोनों देशों के आपसी रिश्तों को और आगे ले जाने पर भी सहमत हुए। इस मौके पर डोभाल ने सुलिवन को उनकी नियुक्ति पर बधाई भी दी। विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया कि बातचीत में डोभाल ने दुनिया की दो सबसे बड़ी लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं के बीच तालमेल बढ़ाने की जरूरत पर बल दिया। दोनों पक्ष हिंद प्रशांत क्षेत्र में शांति बनाए रखने के साथ आतंकवाद के खतरे से निपटने, समुद्री सुरक्षा, साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में मिलकर काम करने पर सहमत हुए।

Continue Reading

राष्ट्रीय

सुप्रीम कोर्ट सख्त : ‘भड़काऊ’ टीवी कार्यक्रमों पर नकेल नहीं लगाने पर की केंद्र की खिंचाई

Published

on

Supreme Court
File Photo

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को उन टीवी कार्यक्रमों पर लगाम लगाने के लिए ‘कुछ नहीं करने’ पर फटकार लगाई है जिनका असर ‘भड़काने’ वाला होता है। शीर्ष कोर्ट ने कहा कि ऐसी खबरों पर नियंत्रण उसी प्रकार से जरूरी हैं जैसे कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए एहतियाती उपाय।

उच्चतम न्यायालय ने गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद दिल्ली के कुछ इलाकों में इंटरनेट सेवा बंद किए जाने का जिक्र किया और निष्पक्ष और सत्यपरक रिपोर्टिंग की जरूरत पर जोर दिया और कहा कि समस्या तब आती है जब इसका इस्तेमाल दूसरों के खिलाफ किया जाता है।

प्रधान न्यायाधीश एसए बोबड़े की अगुवाई वाली पीठ ने केंद्र की तरफ से पेश हुए सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि तथ्य यह है कि कुछ ऐसे कार्यक्रम हैं जिनके प्रभाव भड़काने वाले हैं और आप सरकार होने के नाते इस पर कुछ नहीं कर रहे हैं।

पीठ में न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना और न्यायमूर्ति वी रामसुब्रमण्यम भी शामिल हैं। पीठ ने यह बात उन याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान कही जिनमें पिछले वर्ष कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के दौरान तब्लीगी जमात के कार्यक्रम पर मीडिया रिपोर्टिंग का मुद्दा उठाया गया था। पीठ ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम हैं जो भड़काने वाले होते हैं या एक समुदाय को प्रभावित करते हैं। लेकिन एक सरकार के नाते, आप कुछ नहीं करते।

WeForNews

Continue Reading
Advertisement
Supreme_Court_of_India
राष्ट्रीय9 mins ago

यूपीएससी के लिए अतिरिक्त मौका नहीं दिए जाने पर सुप्रीम कोर्ट ने मांगा स्पष्टीकरण, हलफनामे पर जताई नाराजगी

Anna Hazare
राजनीति11 mins ago

30 जनवरी से अन्ना हजारे करेंगे किसानों के समर्थन में अनशन

Ajit Doval
राष्ट्रीय20 mins ago

NSA अजीत डोभाल ने की अमेरिकी सुरक्षा सलाहकार से बातचीत

Mehbooba Mufti
राजनीति25 mins ago

महबूबा ने दिल्ली हिंसा के लिए पीएम मोदी पर बोला हमला- दंगों की साजिश रचने वाले बीजेपी से मिले हुए

खेल35 mins ago

सौरव गांगुली की दूसरी बार हुई एंजियोप्लास्टी, दो और स्टेंट लगाए गए

Supreme Court
राष्ट्रीय44 mins ago

सुप्रीम कोर्ट सख्त : ‘भड़काऊ’ टीवी कार्यक्रमों पर नकेल नहीं लगाने पर की केंद्र की खिंचाई

Narendra Modi
राष्ट्रीय2 hours ago

विश्व आर्थिक मंच के कार्यक्रम में बोले मोदी, आशंकाओं के बीच उम्मीदों का संदेश लाया हूं

mamata banerjee
राजनीति2 hours ago

कृषि कानूनों के खिलाफ बंगाल विधानसभा में हंगामे के बीच प्रस्ताव पारित

Supreme_Court_of_India
राष्ट्रीय2 hours ago

कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस सांसद की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से मांगा जवाब

CBSE
राष्ट्रीय2 hours ago

सीबीएसई बोर्ड की दसवीं-बारहवीं की डेटशीट 2 फरवरी को होगी जारी

Wuhan China Market
अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

चीन ने कैसे कोविड-19 महामारी पर काबू पाया

Sourav-Ganguly
खेल3 weeks ago

गांगुली के दिल की जांच के लिए होगी इकोकार्डियोग्राफी

pfizer-biontech-vaccine
अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

पुर्तगाली महिला ने लगवाई थी Pfizer की Corona Vaccine, दो दिन बाद हो गई मौत

terrorists
ब्लॉग3 weeks ago

मध्य प्रदेश: आतंकवादी और नक्सली बनने की ली शपथ

suicide
टेक3 weeks ago

ऑनलाइन गेमिंग में नुकसान होने पर युवक ने दी जान

Whatsapp Group
टेक3 weeks ago

कैट ने व्हाट्सएप और फेसबुक पर बैन लगाने की मांग की

Shashi Tharoor
राष्ट्रीय4 weeks ago

कोवैक्सीन की मंजूरी अपरिपक्व निर्णय, परीक्षण का तीसरा चरण पूरा नहीं: थरुर

Donald Trump
अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

भारत का उदाहरण देते हुए ट्रंप ने 8 चीनी ऐप ब्लॉक किए

Shashi Tharoor
राष्ट्रीय3 weeks ago

बिना तीसरे चरण के ट्रायल के कोवैक्सीन को हरी झंडी क्यों? : थरूर

India Coronavirus
राष्ट्रीय3 weeks ago

भारत में कोरोना के दैनिक मामले घट कर 16,504 हुए

taj mahal
अन्य3 weeks ago

ताजमहल में लहराया भगवा झंडा, लगे जय श्री राम के जयकारे

Farmers-Protest
राजनीति1 month ago

मध्य प्रदेश के कृषि मंत्री पटेल का विवादित बयान: कुकुर मुत्ते की तरह उगे किसान संगठन, विदेशों से हो रही फंडिंग

lucky ali
ज़रा हटके2 months ago

लकी अली ने भीड़ में बैठकर गुनगुनाया, वीडियो वायरल

robbery at gunpoint
शहर2 months ago

बिहार: दरभंगा में 5 करोड़ के गहनों की लूट

Rahul Gandhi with Opp Leaders
राष्ट्रीय2 months ago

राष्ट्रपति से मिलने के बाद राहुल गांधी बोले – सरकार कृषि कानून को वापस ले

Viral Video Tere Ishq Me
Viral सच2 months ago

प्यार में युवती को मिला धोखा तो प्रेमी के घर के सामने डीजे लगाकर ‘तेरे इश्क में नाचेंगे’ पर जमकर किया डांस, देखें Viral Video

Faisal Patel
राजनीति2 months ago

फैसल पटेल ने पिता Ahmed Patel की याद में भावनात्मक वीडियो शेयर कर जताया शोक

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति4 months ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय4 months ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन6 months ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Most Popular