रोहिंग्या और टेरर फंडिंग मामले में यूपी के पांच जिलों में एटीएस की छापेमारी | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

रोहिंग्या और टेरर फंडिंग मामले में यूपी के पांच जिलों में एटीएस की छापेमारी

Published

on

raid-

उत्तर प्रदेश के आतंक निरोधी दस्ता (यूपी एटीएस) ने बुधवार को रोहिंग्या मुसलमान और टेरर फंडिंग के मामले में यूपी के पांच जिलों में छापेमारी की। आज सुबह से संतकबीरनगर जिले के खलीलाबाद व अलीगढ़ समेत पांच जिलों में संदिग्धों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

जानकारी मिली है कि छह संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। हिरासत में लिए गए संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। इसके अलावा यूपी एटीएस की एक टीम मुंबई गई है, यह टीम दूसरे ऑपरेशन को अंजाम दे रही है। 

संतकबीरनगर में लखनऊ एटीएस की टीम ने खलीलाबाद ब्लॉक में तैनात एक तकनीकी सहायक को हिरासत में लिया। इसके अलावा तीन अन्य लोगों के भी हिरासत में लिए जाने की चर्चा है।

तकनीकी सहायक को उसके शहर स्थित गोस्त मंडी के पास मोतीनगर नगर मोहल्ले से उठाया है। कुछ लोग फर्जी पासपोर्ट बनवाने के मामले तो कुछ टेरर फनडिंग के मामले में उठाए जाने की चर्चा कर रहे है। तकनीकी सहायक के परिजन भी एटीएस टीम का ही नाम ले रहे हैं।

यह भी बता रहे हैं कि स्कार्पियों से पांच लोग आए थे और अब्दुल मन्नान को उठा ले गए। परिजनों ने एसपी कार्यालय पहुंच कर अब्दुल मन्नान के उठाए जाने की जानकारी जुटाने की कोशिश की लेकिन पुलिस कुछ स्पष्ट बता पाने की स्थिति में नहीं है।

WeForNews

राष्ट्रीय

गहलोत का बड़ा फैसला, प्रदेश में अब नहीं लगेगा नाइट कर्फ्यू

Published

on

Hotspot in Delhi Police

कोरोना महामारी से जूझ रहे राजस्थान को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को बड़ा फैसला लिया है। सीएम गहलोत ने एलान किया है कि राज्य में अब नाइट कर्फ्यू नहीं लगाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट करके इस फैसले की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि राजधानी जयपुर समेत अन्य सभी शहर जल्द ही नाइट कर्फ्यू से मुक्त हो जाएंगे।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने ट्वीट में नाइट कर्फ्यू हटाने का जिक्र किया। उन्होंने लिखा कि प्रदेश में रात्रिकालीन कर्फ्यू समाप्त करने और कुछ छूट चरणबद्ध रूप में देने का निर्णय लिया गया है, लेकिन हेल्थ प्रोटोकॉल्स को अपनाना जरूरी होगा। अन्यथा संक्रमितों की संख्या पुनः बढ़ सकती है। यह नौबत नहीं आनी चाहिए कि फिर से सख्ती करनी पड़े। सीएम गहलोत ने बताया कि जयपुर समेत अन्य सभी शहरों से नाइट कर्फ्यू हटने के बाद कारोबार में इजाफा होने की उम्मीद है। बता दें कि व्यापारी वर्ग लगातार नाइट कर्फ्यू हटाने की मांग कर रहा था। 

कारोबारियों का कहना है कि नाइट कर्फ्यू की वजह से सिर्फ जयपुर में अब तक 100 करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है। वहीं, पूरे प्रदेश में अब तक करीब 700 करोड़ रुपये की चपत लग चुकी है। व्यापारियों का कहना है कि प्रदेश में अब कोरोना वायरस की स्थिति नियंत्रण में है। इसके चलते नाइट कर्फ्यू हटाया जाना चाहिए। 

Continue Reading

राष्ट्रीय

गणतंत्र दिवस परेड में पहली बार शामिल होगा राफेल

Published

on

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर आयोजित होने वाली परेड में इस बार लड़ाकू विमान राफेल भी शामिल होगा।

फ्लाईपास्ट का समापन राफेल विमान की उड़ान के साथ होगा। वायुसेना के प्रवक्ता ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि परेड में फ्लाईपास्ट का समापन ‘वर्टिकल चार्ली फॉर्मेशन’ में उड़ान से होगा।

बता दें कि पिछले साल फ्रांस से 8 राफेल लड़ाकू विमान भारत आया है। भारत ने फ्रांस से ऐसे 36 राफेल (Rafale) लड़ाकू विमान खरीदने का सौदा करीब 59000 करोड़ में किया है। अगले दो साल के भीतर 36 रफाल वायुसेना में शामिल हो जाएंगे। इन विमानों के शामिल होने से वायुसेना की ताकत में काफी इजाफा होगा, खासकर जिस तरह लद्दाख में चीन के सथ तनातनी चल रही है उसमें भारत को हवाई ताकत में बढ़त मिलेगी।

इस लड़ाकू विमान में मेटयोर, स्कल्प, माइका जैसे मिसाइल के लगने से यह विमान काफी खतरनाक हो जाता है जो हवा से हवा और हवा से जमीन पर दुश्मनों को मार गिरा सकता है। यही नहीं, यह विमान एक साथ कई मिशन का अंजाम दे सकता है जिस वजह यह दूसरों पर भारी पड़ता है।

Continue Reading

मनोरंजन

सुशांत मौत मामला में बॉम्बे हाईकोर्ट की तल्ख टिप्पणी, ‘मीडिया ट्रायल’ को बताया कानून का उल्लंघन

Published

on

Bombay High Court
File Photo

बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मीडिया कवरेज को लेकर दायर की गयी याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई हुई।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई के दौरान तल्ख टिप्पणी करते हुए कहा कि मीडिया ट्रायल केबल टीवी नेटवर्क नियमन कानून के तहत कार्यक्रम नियमावली का उल्लंघन करता है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट ने साथ ही कि जब तक कि कुछ नए दिशानिर्देशों को तैयार नहीं किया जाता है, तब तक सुसाइड के मामलों में इलेक्ट्रॉनिक मीडिया द्वारा भारतीय प्रेस परिषद के दिशानिर्देशों का पालन किया जाना चाहिए।

दरअसल, अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद हुए मीडिया ट्रायल को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की गयी थी। याचिका पर सुनवाई पूरी होने के बाद हाईकोर्ट ने आज इस पर अपना फैसला सुनाते हुई उक्त टिप्पणी की।

यह याचिका मीडिया ट्रायल और न्यूज चैनल पर चल रही अलग-अलग थ्योरी को लेकर रिटायर्ड पुलिस अधिकारी सहित मुंबई के कुछ जाने माने लोगों की ओर से बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर की गयी थी।

इस याचिका में मीडिया ट्रायल से बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच को प्रभावित करने से रोकने और मुम्बई पुलिस की छवि बदनाम करने से रोकने के मद्देनजर मीडिया के लिए गाइडलाइन बनाने की मांग की गयी थी। गौर हो कि केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई इस मामले की जांच में जुटी है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular