इस महीने होगा भारत में लॉन्च आसुस ज़ेनफोन ज़ूम | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

टेक

इस महीने होगा भारत में लॉन्च आसुस ज़ेनफोन ज़ूम

Published

on

आसुस

आसुस ने ज्यादा ज़ेनफोन ज़ूम स्मार्टफोन भारत में लॉन्च करेगी। कंपनी ने एक प्रेस विज्ञप्ति रिलाज की बात किया। इस ‘सबसे एडवांस फोटोग्राफी केंद्रित स्मार्टफोन’ को जनवरी महीने में लॉन्च करेगी। कंपनी ने इस हैंडसेट में 3x ऑप्टिकल ज़ूम,13 मेगापिक्सल का कैमरा, लेज़र ऑटोफोकस, 10 एलिमेंट लेंस ओआईएस, क्वाड-कोर प्रोसेसर और 4 जीबी रैम होने की जानकारी दी। ये सारे फ़ीचर ज़ेनफोन ज़ूम में मौजूद हैं पहले सीईएस 2015 में लांच किया गया था, इसे अभी तक ज्यादातर मार्केट में नहीं उपलब्ध नही किया गया था।

एंड्रॉयड 5.0 लॉलीपॉप पर आधारित ज़ेनयूआई पर चलने वाले ज़ेनफोन ज़ूम में 13 मेगापिक्सल का रियर कैमरा है। रियर कैमरा एफ/2.7 से एफ/4.8 एपरचर, ऑप्टिकल इमेज स्टेबलाइजेशन, लेज़र ऑटो-फोकस और डुअल-कलर रियल टोन फ्लैश से लैस है। कंपनी का दावा है कि 11.95 मिलीमीटर मोटाई वालाज़ेनफोन ज़ूम स्मार्टफोन 3एक्स ऑप्टिकल ज़ूम से लैस दुनिया का सबसे पतला हैंडसेट है। इसमें 5 मेगापिक्सल का फ्रंट कैमरा भी मौजूद है। ज़ेनफोन 2 सीरीज के अन्य स्मार्टफोन की तरह ज़ूम में भी 4 जीबी का रैम दिया गया है।

ज़ेनफोन ज़ूम की इनबिल्ट स्टोरेज 64 जीबी है और इसमें माइक्रोएसडी कार्ड (128 जीबी तक) के लिए सपोर्ट मौजूद है। इसमें 5.5 इंच का फुल-एचडी (1080×1920 पिक्सल) डिस्प्ले है और इसपर कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 4 प्रोटेक्शन दिया गया है। हैंडसेट जीपीआरएस/ एज, ब्लूटूथ, 3जी, 4जी, वाई-फाई और माइक्रो-यूएसबी कनेक्टिविटी फ़ीचर के साथ आएगा। आसुस की ताइवान लिस्टिंग से यह भी पता चला है कि इस हैंडसेट में भारत में इस्तेमाल किए जा रहे 4जी एलटीई बैंड के लिए सपोर्ट मौजूद है। स्मार्टफोन में 3000 एमएएच की बैटरी है। इसमें एक्सेलेरोमीटर, प्रॉक्सिमिटी, एंबियंट लाइट, गायरोस्कोप और डिजिटल कंपास दिए गए हैं। हैंडसेट का डाइमेंशन 158.9×78.8×11.95 मिलीमीटर है और वज़न 185 ग्राम। ज़ेनफोन ज़ूम ग्लेसियर व्हाइट और मिट्योराइट ब्लैक कलर वेरिएंट में उपलब्ध होगा।

wefornews bureau

टेक

बीटा एप में ‘एक्सपायरिंग मीडिया’ फीचर पर व्हाट्सअप कर रहा परीक्षण

Published

on

Whatsapp Hacking

व्हाट्सएप पर एक नए एक्सपायरिंग मीडिया फीचर पर काम शुरू होने की खबर है, जिससे मैसेज रिसीवर को भेजी गई फाइलें उसके देखने के बाद अपने आप ही गायब हो जाएंगी।

इस एक्सपायरिंग मीडिया फीचर को एक्सपायरिंग मैसेज फीचर का एक विस्तार कहा जा सकता है। व्हाट्सअप ट्रैकिंग वेबसाइट डब्ल्यूएबीटाइंफो ने इस फीचर के कई स्क्रीनशॉट्स साझा किए हैं, जिनमें देखा जा सकता है कि एक टाइमर बटन की मदद से इस फीचर का लाभ उठाया जा सकेगा।

इस बटन या आइकॉन का इस्तेमाल करते हुए जब भी आप किसी को मैसेज भेजेंगे, उसके द्वारा फाइल को देख लिए जाने के बाद वह खुद-ब-खुद गायब हो जाएगा।

स्नैपचैट व इंस्टाग्राम पर यह फीचर पहले से ही मौजूद है। फीचर को इस्तेमाल में कब से लाया जाएगा, इस पर कंपनी ने अभी कुछ नहीं कहा है।

आईएएनएस

Continue Reading

टेक

वेस्टर्न डिजिटल ने लॉन्च किया 18टीबी एचडीडी और 1 टीबी माइक्रो एसडी

Published

on

स्टोरेज सॉल्यूशंस प्रमुख वेस्टर्न डिजिटल ने गुरुवार को एनालिटिक्स उपकरणों के लिए 18टीबी सर्विलांस एचडीडी और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) वाले कैमरों के लिए 1टीबी माइक्रोएसडी कार्ड पेश किए हैं।

डब्ल्यूडी पर्पल 18टीबी एचडीडी को अक्टूबर में उपलब्ध कराया जाएगा, जबकि डब्ल्यूडी पर्पल एससी क्यूडी101 1टीबी माइक्रोएसडी कार्ड को नवंबर में उपलब्ध कराए जाने की उम्मीद जताई जा रही है।

भारत में वेस्टर्न डिजिटल के सेल्स के निदेशक खालिद वानी ने कहा, 18टीबी एचडीडी के साथ डब्ल्यूडी पर्पल स्मार्ट वीडियो सॉल्यूशंस का पोर्टफोलियो और 1टीबी माइक्रो एसडी कार्ड को स्मार्ट वीडियो इंडस्ट्री में नए जमाने की जरूरतों को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है।

इस नए डब्ल्यूडी पर्पल 18टीबी एचडीडी को एनवीआर व वीडियो एनालिटिक्स उपकरणों के साथ-साथ जीपीयू वाले डिवाइसों के लिए भी किया गया, जिसमें रियल टाइम और पोस्ट एनालिटिक्स एप्लीकेशंस दोनों की ही सुविधा मिलेगी।

पहली पीढ़ी की अपेक्षा इसमें 28 गुना अधिक क्षमता है और साथ ही इसमें अधिक प्रभावी एआई का समर्थन करने के लिए वीडियो, ईमेज, डेटा वगैरह को स्टोर किए जाने के लिए भी जगह है।

8टीबी से लेकर 18टीबी तक का माइक्रो एसडी कार्ड ऑल फ्रेम एआई टेक्नोलॉजी से लैस है, जो 64 तक के हाई-डेफिनेशन कैमरो की रिकॉडिर्ंग करने के साथ ही साथ एनालिटिक्स की गहरी समझ के लिए 32 अतिरिक्त स्ट्रीम्स उपलब्ध हैं।

वहीं 1टीबी माइक्रो एसडी कार्ड को एआई वाले कैमरों, सर्विलांस कैमरों और ऐसे ही अन्य उपकरणों के लिए डिजाइन किया गया है।

आईएएनएस

Continue Reading

टेक

गूगल ने डूडल बनाकर भारतीय तैराक आरती साहा को किया याद

Published

on

गूगल ने भारतीय तैराक आरती साहा की 80वीं जयंती पर डूडल बनाया। साहा 1960 में पद्म श्री से सम्मानित होने वाली पहली महिला थीं। गूगल की तरफ से लोगों को संदेश देने और किसी को याद करने के लिए डूडल बनाए जाते हैं।

गूगल अमूमन हर दिन किसी न किसी महान शख्सियत को याद करते हुए या लोगों को जागरूक करने के लिए डूडल बनाता है। 

साहा का जन्म 24 सितंबर, 1940 को कोलकाता (तब ब्रिटिश भारत) में हुआ था। उन्होंने हुगली नदी के किनारे तैरना सीखा। बाद में उन्होंने भारत के सर्वश्रेष्ठ प्रतिस्पर्धी तैराकों में से एक सचिन नाग की निगरानी में प्रशिक्षण लिया। पांच साल की उम्र में साहा ने अपना पहला स्वर्ण पदक जीता था। 11 साल की उम्र तक उन्होंने कई तैराकी रिकॉर्ड तोड़ दिए थे।

12 साल की उम्र में साहा ने फिनलैंड की राजधानी हेलसिंकी में 1952 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में भाग लिया। वह भाग लेने वाली भारत की पहली टीम में शामिल थीं। साहा टीम में शामिल चार महिलाओं में से एक थीं। 18 साल की उम्र में, उन्होंने इंग्लिश चैनल को पार करने का प्रयास किया। एक असफल प्रयास के बाद, वह यात्रा पूरी करने में सफल रही। ऐसा करने वाली वह पहली एशियाई महिला बन गईं।

गुरुवार को गूगल ने साहा को इंग्लिश चैनल को पार करते हुए दर्शाया, साथ ही इसमें उनके चित्र को कंपास के साथ चित्रित किया गया। इस चित्र को कोलकाता के कलाकार लावण्या नायडू ने बनाया था। 

एक साक्षात्कार में, नायडू ने कहा कि आरती साहा कोलकाता के घरों में एक प्रसिद्ध नाम हैं। उन्होंने कहा, मुझे आशा है कि यह हमारे देश के इतिहास में जब भी किसी क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए महिलाओं को याद किया जाएगा, तो उसमें आरती साहा का नाम भी शामिल होगा। 

Continue Reading

Most Popular