टेकएप्पल ने कई भारतीय भाषाओं नें एप्पल म्यूजिक को किया पेश

IANSAugust 1, 202116071 min

एप्पल म्यूजिक ने भारत में आठ भाषाओं-पंजाबी, तमिल, तेलुगू, मलयालम, कन्नड़, बंगाली, मराठी और हिंदी में प्रमुख प्लेलिस्ट बनाई है। इसमें वर्तमान में बॉलीवुड, पॉप, हिप हॉप और रैप, इंडियन पॉप और डांस जैसे म्यूजिक शामिल हैं। सिटी चार्ट्स के साथ, ऐप्पल म्यूजि़क वैश्विक और स्थानीय दोनों कलाकारों को संगीत की खोज के लिए एक नए गंतव्य में सबसे आगे लाता है।

 

कंपनी के अनुसार,भारत में, वर्तमान में हमारे पास दिल्ली, मुंबई और बेंगलुरु के चार्ट हैं। इनको हर रोज अपडेट किया जाता है, सिटी चार्ट्स को चार्ट पेज पर, ब्राउज, सर्च और सिरी में चित्रित किया जाता है। उन्हें आपकी लाइब्रेरी में भी जोड़ा जा सकता है, डाउनलोड किया जा सकता है और दोस्तों के साथ साझा किया जा सकता है।

 

भारत में स्थानीय प्रतिभाओं का प्लेटफॉर्म देने के लिए एक पहल में, ऐप्पल द्वारा ‘अप नेक्स्ट लोकल आर्टिस्ट प्रोग्राम’ वर्तमान ‘अप नेक्स्ट ग्लोबल प्रोग्राम’ के पूरक के लिए बनाया जा रहा है, जो एक मासिक पहल है। इसके जरिये उभरते सितारे प्रतिभाओं की पहचान, प्रदर्शन और उन्हें ऊपर उठाने की दिशा में मदद मिलने की संभावना है।

 

भारत में, कृष्णा, माली और प्रभा दीप कलाकारों की बढ़ती सूची में से हैं।

 

दुनिया भर में और भारत में लाखों संगीत प्रेमियों के इस खुशी में, कंपनी ने 20 जुलाई को ऐप्पल म्यूजि़क पर बिना किसी अतिरिक्त लागत के स्थानिक ऑडियो और फ्लोवलेस ऑडियो लॉन्च किया।

 

एप्पल म्यूजिक ने देश में फ्लोवलेस ऑडियो में अपने ग्राहकों के लिए 75 मिलियन से अधिक गानों की अपनी सूची उपलब्ध कराई है।

 

कंपनी ने वैश्विक स्तर पर एंड्रॉइड उपयोगकतार्ओं के लिए डॉल्बी एटमॉस और दोषरहित ऑडियो स्ट्रीमिंग के समर्थन के साथ स्थानिक ऑडियो के साथ अगली पीढ़ी की ध्वनि को भी रोल आउट करना शुरू कर दिया है।

 

ऐप्पल म्यूजि़क संपादकीय रूप से क्यूरेटेड स्पैटियल ऑडियो प्लेलिस्ट का एक विशेष सेट भी पेश कर रहा है ताकि श्रोताओं को उनके पसंदीदा संगीत को खोजने और आगे की खोज को सक्षम करने में मदद मिल सके।

 

कंपनी के अनुसार, व्यक्तियों के लिए 99 रुपये प्रति महीने, छात्रों के लिए 49 रुपये प्रति महीने और परिवार के लिए 149 रुपये प्रति महीने, ग्राहकों को ऐप्पल म्यूजिक पर फ्लोवलेस में 75 मिलियन ट्रैक तक एक्सेस प्राप्त होगा।

 

एप्पल म्यूजिक के 50 फीसदी से ज्यादा सब्सक्राइबर हर महीने लिरिक्स फंक्शनलिटी के साथ जुड़ते हैं।

 

–आईएएनएस

Related Posts