काबुल: अफगानिस्तान भर में गुरुवार को चार जगह हुए विस्फोटों में दर्जनों लोग मारे गए या घायल हो गए। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि कम से कम 31 लोग मारे गए और 87 घायल हो गए।

पहला धमाका मजार-ए-शरीफ शहर में एक शिया मस्जिद में हुआ।

इस्लामिक स्टेट (IS) ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि जब इमारत में पूजा करने वालों की भरमार थी तो उसने दूर से एक फंदे में फंसे बैग को उड़ा दिया था।

बीबीसी ने बताया कि संगठन ने हमले को अपने एक पूर्व नेता और प्रवक्ता की मौत का बदला लेने के लिए चल रहे वैश्विक अभियान का हिस्सा बताया।

आईएस ने यह नहीं कहा है कि यह तीन अन्य विस्फोटों के पीछे था, और यह स्पष्ट नहीं है कि वे जुड़े हुए हैं या नहीं।

एक पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि दूसरा विस्फोट कुंदुज में हुआ। एक पुलिस थाने के पास एक वाहन को उड़ा दिया गया, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई और 18 घायल हो गए।

बीबीसी को पूर्वी नंगरहार प्रांत में सड़क किनारे एक खदान से तालिबान के एक वाहन के टकराने, चार तालिबान सदस्यों की मौत और पांचवें के घायल होने की भी खबरें मिली हैं।

चौथा धमाका काबुल के नियाज बेक इलाके में एक बारूदी सुरंग से हुआ, जिसमें दो बच्चे घायल हो गए।

बीबीसी के मुताबिक, स्थानीय रिपोर्टों और प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि मजार-ए-शरीफ में विस्फोट सह डोकान में हुआ, जो शिया अल्पसंख्यक समूह द्वारा स्थानीय रूप से इस्तेमाल की जाने वाली सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है।

अफगानिस्तान के शिया समुदाय को अक्सर इस्लामिक स्टेट सहित सुन्नी आतंकवादी समूहों द्वारा निशाना बनाया जाता है।

बताया जा रहा है कि यह धमाका उस समय हुआ, जब श्रद्धालु नमाज अदा करने की तैयारी कर रहे थे। सोशल मीडिया पर साझा की गइ तस्वीरों में साइट टूटे हुए शीशे से अटी पड़ी है और घायलों को अस्पताल ले जाया जा रहा है।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5212