न्यूयॉर्क: मंकीपॉक्स (Monkeypox) के बढ़ते मामलों के बीच, यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने खुलासा किया है कि यह हवा के माध्यम से फैल सकता है, लेकिन यह केवल एक संक्रमित व्यक्ति के साथ निरंतर आमने-सामने संपर्क के माध्यम से ही फैलता है।

डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, शुक्रवार को एक ब्रीफिंग में, सीडीसी प्रमुख रोशेल वालेंस्की ने कहा कि लक्षण वाले रोगियों के साथ शारीरिक संपर्क और उनके कपड़ों और बिस्तरों को छूने से मंकीपॉक्स फैल रहा है।

लेकिन यह स्पष्ट करने का प्रयास करते हुए कि क्या दाने पैदा करने वाले वायरस से बचने के लिए फेस मास्क की आवश्यकता है, महामारी विशेषज्ञ ने समझाया कि दाने पैदा करने वाला वायरस कोविड की तरह हवा में नहीं टिकेगा।

उन्होंने कहा, बीमारी आकस्मिक बातचीत से नहीं फैलती है। यह किराने की दुकान पर दूसरों के पास जाने से, या दरवाजे की कुंडी जैसी चीजों को छूने से नहीं होती है।

सीडीसी प्रमुख ने कहा, इस प्रकोप में हमने अब तक जितने भी मामले देखे हैं, वे सभी सीधे संपर्क से संबंधित हैं।

सम्मेलन (कॉन्फ्रेंस) के दौरान स्वास्थ्य अधिकारियों ने सिफलिस, गोनोरिया और क्लैमाइडिया सहित किसी भी यौन संचारित संक्रमण वाले अमेरिकियों को मंकीपॉक्स के परीक्षण के लिए बुलाया।

उन्होंने चेताते हुए जानकारी दी कि कई मरीज एसटीआई की तरह दिखने वाले जननांगों और गुदा पर चकत्ते और घावों का अनुभव कर रहे थे।

मंकीपॉक्स और यौन संचारित रोग के साथ सह-संक्रमण के कई मामले भी दर्ज किए गए हैं।

रोशेल वालेंस्की ने जोर देकर कहा कि वायरस केवल हवा के माध्यम से संक्रमित लोगों से निकाली गई बड़ी बूंदों के माध्यम से फैलता है, जो जल्दी से जमीन पर गिर जाती हैं।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275