लड़कों से ज्यादा सक्रिय होती हैं 'ऑटिस्टक' लड़कियां | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

स्वास्थ्य

लड़कों से ज्यादा सक्रिय होती हैं ‘ऑटिस्टक’ लड़कियां

ऑटिस्टक

Published

on

ऑटिज्म रोग से ग्रसित लड़कियां सामाजिक तौर पर लड़कों से ज्यादा सक्रिय रहती हैं. एक अध्ययन में सामने आई है. कि युनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के फलेसिटी सेडविक कहते हैं, “हमारे अध्ययन में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं ऑटिज्म से ग्रस्त लड़कियां सामान्य लड़कियों की तुलना में ऑटिज्म पीड़ित लड़कों से मित्रता को लेकर अधिक उत्सुक रहती हैं.”

अध्ययन के अनुसार, सामान्य लड़कियों जैसी न होने की वजह से इनकी दोस्ती में अक्सर मतभेद होने लगते हैं.

अध्ययन के दौरान सामाजिक प्रेरणा और मित्रता के मामले में ऑटिस्टक पीड़ित और सामान्य लड़कियां बराबरी के स्कोर पर रहीं.

शोधार्थियों ने इस अध्ययन में 12 से 16 वर्ष की आयु के 46 किशोरों को शामिल किया. इनमें 13 ऑटिस्टक पीड़ित लड़कियां, 13 सामान्य लड़कियां, 10 ऑटिस्टक पीड़ित लड़के और 10 सामान्य लड़के शामिल हुए.

Autistic-Girls-min

साक्षात्कार से प्राप्त निष्कर्ष इस धारणा का समर्थन कर रहे थे, यहां एक अपवाद है ऑटिस्टक पीड़ित लड़कियों में संबंधों को लेकर अधिक आक्रामकता होती है.

सेजविक के अनुसार, “हमारे अध्ययन बताते हैं कि ऑटिज्म पीड़ित लड़कों की तुलना में लड़कियों को सामाजिक रिश्तों में अधिक कठिनाई का सामना करना पड़ता है, इस वजह से आटिज्म पीड़ित लड़कियों में इस रोग के निदान के दौरान काफी मुश्किलें आती हैं.”

इस अध्ययन को लंदन के ब्रिटिश साइकोलॉजिकल सोसायटी डिवीजन ऑफ एजुकेशनल एंड चाइल्ड साइकोलॉजी के वार्षिक सम्मेलन में प्रस्तुत किया गया है.

wefornews bureau

स्वास्थ्य

जब तक कोरोना वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक कैसे हो बचाव?

भारत में 30 वैक्सीन के लिए समर्थन दिया गया है जो विकास के विभिन्न स्तरों पर हैं। इसमें से 3 वैक्सीन ट्रायल के प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण में हैं। चार टीके प्री क्लिनिकल मूल्यांकन के उन्नत चरण में हैं।

Published

on

Coronavirus,

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि देश में कोरोना वैक्सीन के निर्माण का काम प्रगति पर है लेकिन जब तक यह नहीं आ जाती है, तब तक दो गज दूरी सहित सोशल डिस्टेंसिंग ही वैक्सीन है। लोकसभा में नियम-193 के तहत कोविड-19 वैश्विक महामारी पर हुई चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए हर्षवर्धन ने कहा कि दुनिया में कोविड-19 रोधी 145 टीका ‘प्री क्लिनिकल’ के स्तर पर हैं और इसमें से 35 का क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत में 30 वैक्सीन के लिए समर्थन दिया गया है जो विकास के विभिन्न स्तरों पर हैं। इसमें से 3 वैक्सीन ट्रायल के प्रथम, द्वितीय और तृतीय चरण में हैं। चार टीके प्री क्लिनिकल मूल्यांकन के उन्नत चरण में हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, ‘टीके के विकास का काम प्रगति पर है लेकिन जब तक यह नहीं आता है तब तक दो गज दूरी सहित सोशल डिस्टेंसिंग ही टीका है।’

हर्षवर्धन ने कहा कि वायरस के शोध की दिशा में 2000 से ज्यादा वायरसों की जीनोम श्रृंखला तैयार की गई है । इसके अलावा 40 हजार वायरसों के नमूनों का निक्षेपागार बनाया गया है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में 110 प्रौद्योगिकी स्टार्टअप को समर्थन दिया गया है।

हर्षवर्धन ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर लॉकडाउन लगाने के सरकार के साहसिक फैसले को लागू करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर लोगों द्वारा जनता कर्फ्यू का पालन करना इस बात का प्रमाण है कि भारत इस महामारी के खिलाफ मिलकर खड़ा रहा। उन्होंने कहा, ‘एक समय था जब पीपीई किट का स्वदेशी उत्पादन नहीं हो रहा था। आज इस दिशा में आत्मनिर्भर है।’

उन्होंने कहा कि आज प्रतिदिन 10 लाख से ज्याद किट रोज बनाने की क्षमता हो गई है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लॉकडाउन की अवधि का ठीक से उपयोग किया गया है और इस दौरान राज्यों को समर्थन भी दिया गया। उन्होंने कहा कि 17 हजार समर्पित कोविड केंद्र बनाएं गए, 1773 कोविड जांच केंद्र बन गए। हर्षवर्धन ने कहा कि देश में 6.37 करोड़ कोविड-19 जांच हो चुके हैं । आज भी 12 लाख टेस्ट हुए हैं ।

उन्होंने कहा कि सुनियोजित तरीके से इस स्थिति से निपटने का काम किया गया और इसके तहत आवश्यक वस्तुओं को एक स्थान से दूसरे स्थान पर पहुंचाने की व्यवस्था की गई। 64 लाख मजदूरों को श्रमिक एक्सप्रेस, बसों आदि से उनके गंतव्य तक पहुंचाया गया । 12 लाख से अधिक लोगों को वंदे भारत अभियान के तहत विदेशों से लाया गया। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इसके अलावा राज्यों की भी राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन एवं अन्य योजनाओं के तहत मदद की गई।

Continue Reading

स्वास्थ्य

डॉ. रेड्डीज को 10 करोड़ ‘स्पुतनिक 5’ वैक्सीन देगा रूस

Published

on

वैश्विक दवा कंपनी डॉ. रेड्डीज लैब, जिसका मुख्यालय भारत में स्थित है, उसने कोरोनावायरस की वैक्सीन स्पुतनिक 5 के क्लीनिकल ट्रायल और वितरण के लिए रूसी निर्माता रशियन डायरेक्ट इनवेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) से करार किया है। रूस के सॉवरेन वेल्थ फंड ने बुधवार को एक बयान में यह जानकारी दी।

स्पुतनिक 5 को गैमेलिया रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी ने रशियन डायरेक्ट इवनेस्टमेंट फंड (आरडीआईएफ) के साथ मिलकर तैयार किया है। इसे 11 अगस्त को पंजीकृत किया गया था।

फंड से एक बयान में कहा गया है, भारत में विनियामक अनुमोदन के साथ आरडीआईएफ डॉ. रेड्डी को वैक्सीन की 10 करोड़ खुराक की आपूर्ति करेगा। स्पुतनिक 5 वैक्सीन, जो पूर्ण एवं सिद्ध सुरक्षा के साथ अच्छी तरह से अध्ययन किए गए मानव एडेनोवायरल वेक्टर प्लेटफॉर्म पर आधारित है, कोरोनावायरस महामारी के लिए क्लीनिकल (नैदानिक) परीक्षणों से गुजर रही है।

रूसी फंड ने कहा कि डिलीवरी संभवत 2020 के अंत में शुरू हो सकती है, जो भारत में नियामक अधिकारियों द्वारा सफल परीक्षणों एवं वैक्सीन के पंजीकरण के पूरा होने के अधीन है।

आरडीआईएफ ने कहा, आरडीआईएफ और डॉ. रेड्डी के बीच समझौता देशों और संगठनों की बढ़ती जागरूकता को दर्शाता है कि उनकी आबादी की रक्षा के लिए एक विविध एंटी-कोविड वैक्सीन पोर्टफोलियो है।

इस महीने की शुरूआत में नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी. के. पॉल ने कहा था कि रूसी सरकार ने स्पुतनिक 5 वैक्सीन के निर्माण में भारत की मदद मांगी है और देश में तीसरे चरण के परीक्षण की मांग की है।

मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा था, रूस के पास वैक्सीन निर्माण का अच्छा इतिहास है, इसलिए हम मानते हैं कि यह वैक्सीन भी अच्छी है। भारत और रूस सरकार की उच्च-स्तरीय समितियों के बीच बातचीत चल रही है। हम इसके तंत्र पर काम करने की कोशिश कर रहे हैं।

बता दें कि हाल ही में आरडीआईएफ के सीईओ किरिल दिमित्रीव ने कहा था कि रूस विकसित की गई कोविड-19 वैक्सीन के उत्पादन के लिए भारत के साथ साझेदारी करना चाहता है। इस बीच, भारत में भी तीन वैक्सीन परीक्षण के उन्नत चरणों में हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

कोविड-19 मामलों में 20 से कम उम्र के लोगों की भागीदारी 10 फीसदी से कम: डब्ल्यूएचओ

Published

on

WHO

वैश्विक स्तर पर दर्ज किए गए कोविड-19 के कुल मामलों में 20 साल से कम उम्र के मरीजों की संख्या 10 प्रतिशत से भी कम है, वहीं संक्रमण से हुई मौतों में उनकी हिस्सेदारी 0.2 प्रतिशत से कम है।

हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने कहा कि बच्चों और किशोरों के बीच इस गंभीर बीमारी और मृत्यु के जोखिम पर अभी भी अधिक शोध किए जाने की आवश्यकता है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ट्रेडोस अधानोम घेब्रेयेसस ने मंगलवार को एक प्रेस ब्रीफिंग में कहा, हम जानते हैं कि यह वायरस बच्चों को मार सकता है, लेकिन बच्चों में संक्रमण का मामूली असर होता है और बच्चों और किशोरों में कोविड-19 से बहुत कम गंभीर मामले और मौतें सामने आई हैं।

हालांकि संक्रमित बच्चों और किशोरों पर संक्रमण के संभावित दीर्घकालिक स्वास्थ्य प्रभाव के बारे में अभी सटीक जानकारी नहीं मिली हैं।

हालांकि बच्चे बड़े पैमाने पर वायरस के कई गंभीर स्वास्थ्य प्रभावों से बचे रहे हैं, लेकिन ट्रेडोस ने बताया दी कि उन्हें अन्य तरीकों से नुकसान उठाना पड़ा है। उदाहरण के लिए, कई देशों में आवश्यक पोषण और टीकाकरण सेवाएं बाधित हो गई हैं, और लाखों बच्चे स्कूली शिक्षा से महीनों से दूर हैं।

इस बीच, जैसा कि कई देशों में स्कूल फिर से खुल रहे हैं, डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने न सिर्फ सरकारों और परिवारों को, बल्कि समुदायों में भी सभी एहतियातों का पालन करने के साथ स्कूल में बच्चों को सुरक्षित रखने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि जिन देशों में स्कूल बंद हैं, वहां दूरस्थ शिक्षा के माध्यम से शिक्षा की निरंतरता की गारंटी दी जानी चाहिए।

आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
doctors
राष्ट्रीय2 mins ago

पीजी मेडिकल के विद्यार्थियों को तीन माह करनी ही होगी मरीजों की सेवा

व्यापार11 mins ago

12 सरकारी बैंकों में 20 हजार करोड़ की धोखाधड़ी, SBI में सबसे ज्यादा मामले

राजनीति15 mins ago

मानसून सत्र : राज्यसभा की कार्यवाही शुरू, उपसभापति से दुर्व्यवहार करने वाले सांसदों पर हो सकती है कार्रवाई

china--min
राष्ट्रीय35 mins ago

सीमा विवाद: भारत-चीन के बीच कमांडर स्तर की छठी बैठक आज

taj mahal
राष्ट्रीय50 mins ago

अनलॉक- 4 के तहत आज से ताजमहल को जनता के लिए फिर से खोला गया

राष्ट्रीय58 mins ago

भिवंडी में 3 मंजिला इमारत ढही, अब तक आठ लोगों की मौत

Ahmed Patel
राष्ट्रीय5 hours ago

खेती कॉर्पोरेट क्षेत्र को देने के लिए लोकतंत्र की हत्या कर रही है सरकारः कांग्रेस

Sanjay Singh
राजनीति6 hours ago

सांसद संजय सिंह पर देशद्रोह का मामला, यूपी पुलिस ने संसद के सत्र के बाद बुलाया

Coronavirus,
स्वास्थ्य7 hours ago

जब तक कोरोना वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक कैसे हो बचाव?

China India
अंतरराष्ट्रीय7 hours ago

लद्दाख गतिरोध: भारत और चीन के बीच कोर कमांडरों की वार्ता आज

Mayawati
राजनीति2 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय3 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

Rhea-
मनोरंजन2 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

राष्ट्रीय4 weeks ago

सुशांत केस : रिया के भाई से सीबीआई की पूछताछ जारी

राजनीति15 mins ago

मानसून सत्र : राज्यसभा की कार्यवाही शुरू, उपसभापति से दुर्व्यवहार करने वाले सांसदों पर हो सकती है कार्रवाई

Blood Pressure machine
लाइफस्टाइल3 weeks ago

हाई-ब्लड प्रेशर, हाइपरटेंशन में वायु प्रदूषण का योगदान : शोध

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग2 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

Rhea Chakraborty
मनोरंजन3 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति4 weeks ago

कांग्रेस कार्यसमिति: 23 नेताओं का शिकायती पत्र खारिज

Supreme Court
राष्ट्रीय2 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय2 days ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन1 month ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय1 month ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति3 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य5 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति5 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन5 months ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

Most Popular