होटल, हॉस्पिटैलिटी क्षेत्र में 75 फीसदी कर्मचारियों की नौकरियों पर लटकी तलवार | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

होटल, हॉस्पिटैलिटी क्षेत्र में 75 फीसदी कर्मचारियों की नौकरियों पर लटकी तलवार

Published

on

Job Cut

कोरोना काल में बुरी तरह प्रभावित होटल व हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में करीब 75 फीसदी कर्मचारियों की नौकरियों पर तलवार लटकी हुई है। ये होटलों के स्थाई कर्मचारी हैं, जबकि अस्थाई व ठेके पर काम करने वालों की छुट्टी तो पहले ही हो चुकी है। उद्योग सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, छंटनी की प्रक्रिया लगातार जारी है और जिनकी नौकरियां बची हुई हैं, उनको 20 से 50 फीसदी तक वेतन कटौती का सामना करना पड़ रहा है।

होटल कारोबार के जानकार बताते हैं कि होटल व हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के हालात काफी खराब हैं और इसमें अगले दो महीनों में सुधार नहीं आया तो 60 से 75 फीसदी तक कर्मचारियों को अपनी नौकरियां गंवानी पड़ सकती है।

होटल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के वाइस प्रेसीडेंट के.बी. कचरू से इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि स्थिति वास्तव में बेहद गंभीर है और इस सेक्टर में काम करने वाले करीब पांच करोड़ लोगों के सामने रोजगार का बड़ा संकट खड़ा हो गया है। उन्होंने स्वीकार किया कि अगले महीने-दो महीने में हालात में सुधार नहीं आया तो 60 फीसदी तक लोगों की नौकरियां जा सकती हैं।

कचरू ने बताया कि चाहे फाइव स्टार होटल हों, बजट होटल, सभी की वित्तीय स्थिति खराब है, इसलिए होटल कर्मचारियों के लिए रोजगार का संकट बना हुआ है।

जानकार सूत्र बताते हैं कि 30-40 फीसदी तक छंटनी हो चुकी है। कारोबारी बताते हैं कि छंटनी में कुछ ऐसे भी कर्मचारी हैं, जिनको लीव विदाउट पे पर चले जाने को कहा गया है। वहीं, कारोबार की रिस्ट्रक्च रिंग की की गई है। जहां तक वेतन कटौती का सवाल है तो सीनियर मैनेजमेंट लेवल के अधिकारी 50 फीसदी तक अपना वेतन कटाने लगे हैं।

ट्रैवल, टूरिज्म व हॉस्पिैलिटी सेक्टर के विशेषज्ञ रोहित कौल कहते हैं कि यह एक ऐसा सेक्टर है जिस पर एक दिन का भी असर काफी मायने रखता है, क्योंकि एक दिन किसी वजह से काम नहीं होने या बंद होने से अप्रत्यक्ष रूप से इस सेक्टर में रोजी-रोटी कमाने वालों की आमदनी रुक जाती है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में अप्रत्यक्ष रूप से इस सेक्टर से जुड़े लोग तो बहुत पहले ही बेरोजगार हो चुके हैं और अब जो प्रत्यक्ष रूप से जुड़े हैं, यानी स्थाई कर्मचारी हैं, उनकी भी छंटनी शुरू हो चुकी है।

आईटीसी के पूर्व सीईओ और उद्योग संगठन सीआईआई के टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी नेशनल कमेटी के सलाहकार दीपक हक्सर ने आईएएनएस से कहा कि इस सेक्टर में काम करने वाले 2.5 करोड़ लोगों की नौकरियां जा सकती हैं।

उन्होंने दिल्ली में होटल नहीं खुलने पर हैरानी जताते हुए कहा कि जब कोई सेक्टर बदहाली के दौर से गुजर रहा हो तो उसे पटरी पर लाने की कोशिशें की जानी चाहिए और इस समय होटल व हॉस्पिटैलिटी सेक्टर को बचाने के लिए सबसे पहले उसे खोलने की जरूरत है, क्योंकि होटल खुलेंगे तभी वहां लोग आएंगे और वहां काम करने वालों की नौकरियां बची रहेंगी।

हक्सर ने कहा कि इस संबंध में उन्होंने दिल्ली के उपराज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 31 जुलाई को लिखे पत्र में उन्होंने होटल को हॉस्पिटल से डिलिंक करने के लिए आभार जताते हुए कहा है कि देश की राजधानी होने के कारण पर्यटन के संवर्धन में इसकी विशेष भूमिका है।

यहां बिजनेस के सिलसिले में आने वाले यात्रियों के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल और ग्लोबल लीडर्स आते हैं। उन्होंने पत्र में उद्योग की विभिन्न मांगों के साथ-साथ मुख्यंत्री से होटल को खोलने की भी मांग की।

— आईएएनएस

व्यापार

साइबर फ्रॉड इंश्योरेंस के लिए फ्लिपकार्ट ने किया बजाज आलियांज से करार

Published

on

Flipkart

फेस्टिव सीजन के दौरान कस्टमर्स के साथ ऑनलाइन फ्रॉड ना हो इसके लिए फ्लिपकार्ट ने बजार आलियांज जनरल इंश्योरेंस कम्पनी के साथ करार किया है।

Continue Reading

राष्ट्रीय

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था ने भारत में बंद किया काम, सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

Published

on

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था एमनेस्टी इंटरेशनल इंडिया ने भारत में अपना काम बंद कर दिया है। संस्था का कहना है कि केंद्र की मोदी सरकार उसके पीछे पड़ गई थी।

संस्था ने सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। संस्थान ने एक बयान जारी कर कहा कि भारत सरकार की ओर से एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया के बैंक अकाउंट्स को पूरी तरह से फ्रीज कर दिया है। संस्था को इसकी जानकारी 10 सितंबर को लगी।

संस्थान का कहना है कि सरकार के इस कदम से उसका कामकाज पूरी तरह से ठप हो गया है। एमनेस्टी के मुताबिक, सरकार के इस कदम से उसे अपने कर्मचारियों को निकालने के लिए मजबूर होना पड़ा है। साथ ही भारत में चलाए जा रहे कैंपेन और रिसर्च भी बंद हो गए हैं।

संस्था ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि यह निराधार और प्रेरित आरोपों के बल पर भारतीय सरकार द्वारा मानवाधिकार संस्थाओं के खिलाफ लगातार चलाए जा रहे विच-हंट (पीछे पड़ने) की कड़ी में अगला कदम है। एमनेस्टी ने दावा किया है कि उसने सभी भारतीय और अंतरराष्ट्रीय कानूनों का पालन किया है। वहीं, सरकार का कहना है कि संस्था ने विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम के तहत कभी रजिस्ट्रेशन नहीं कराया, जो विदेशी फंडिंग के लिए जरूरी होता है।

संस्था के कार्यकारी निदेशक अविनाश कुमार ने कहा कि सरकार ने जो कार्रवाई की है वह कोई अचानक नहीं है। उन्होंने कहा कि पिछले दो सालों में एमनेस्टी इंटरनेशनल इंडिया पर सरकार लगातार कार्रवाई कर रही है।

उन्होंने कहा कि प्रवर्तन निदेशालय समेत दूसरी सरकारी एजेंसियों की ओर से शोषण, सरकार में पारदर्शिता की मांग, दिल्ली और जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकारों को उल्लंघन के खिलाफ आवाज उठाने और दिल्ली दंगों में दिल्ली पुलिस और सरकार की भूमिका की जवाबदेही तय करने की मांग की वजह से कार्रवाई की गई।

उन्होंने कहा कि ऐसे अभियान के लिए, जिसने हमेशा अन्याय के लिए आवाज उठाई है, उस पर नया हमला उसकी प्रतिरोध में उठ रही आवाज को उठाकर लिया गया है।

एमनेस्टी इंटरेशनल इंडिया ये आरोप हैं:

ईडी, एमनेस्टी इंटरेशनल इंडिया के खिलाफ विदेशी फंडिंग प्राप्त करने में अनियमितताओं के आरोपों के खिलाफ जांच कर रही है। इस पर गृह मंत्रालय का आरोप है कि संस्था ने भारत में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश के जरिए पैसे मंगाए, जिसकी नॉन-प्रॉफिट संस्थाओं को इजाजत नहीं है।

ईडी ने 2017 में संस्था के अकाउंट फ्रीज कर दिए थे। इसके बाद एमनेस्टी ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, जहां से उसे थोड़ी राहत मिली थी। फिरभी संस्था का अकाउंट सीज ही था। पिछले साल सीबीआई ने भी संस्था खिलाफ केस दर्ज किया था।

शिकायत में कहा गया था कि यूके ने कथित तौर पर मंत्रालय की मंजूरी के बिना एफडीआई के रूप में एमनेस्टी इंडिया की संस्थाओं को 10 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।

इसमें कहा गया था कि इसके अलावा 26 करोड़ की राशि यूके की संस्थाओं की ओर से मंत्रालय की मंजूरी के बिना संस्था को दी थ, जिसे भारत में एनजीओ की गतिविधियों पर खर्च किया गया, जोकि एफसीआरे का उल्लंघन है।

WeForNews


Continue Reading

व्यापार

सेंसेक्स 250 अंक उछला, 11,300 के ऊपर चढ़ा निफ्टी

Published

on

sensex

घरेलू शेयर बाजार में मंगलवार को लगातार तीसरे दिन तेजी के रुझानों के बीच आरंभिक कारोबार के दौरान सेंसेक्स 250 अंकों से ज्यादा उछला और निफ्टी 11,300 के ऊपर तक चढ़ा। विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से भारतीय शेयर बाजार मे कारोबारी रुझान तेज था।

सुबह 9.25 बजे सेंसेक्स बीते सत्र से 213.87 अंकों यानी 0.56 फीसदी की तेजी के साथ 38,195.50 पर कारोबार कर रहा था और निफ्टी भी 65.50 अंकों यानी 0.58 फीसदी की तेजी के साथ 11,293.05 पर बना हुआ था।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 195.23 अंकों की तेजी के साथ 38,176.86 पर खुला और 38,235.94 तक उछला जबकि शुरूआती कारोबार के दौरान सेंसेक्स का निचला स्तर 38,121.47 रहा।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित प्रमुख संवेदी सूचकांक निफ्टी बीते सत्र से 61.05 अंकों की तेजी के साथ 11,288.60 पर खुला और 11,305.40 तक उछला जबकि आरंभिक कारोबार के दौरान निफ्टी का निचला स्तर 11,266.25 रहा।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
लाइफस्टाइल11 mins ago

कोरोना का बच्चों की जिंदगी पर बड़ा असर

Jammu And Kashmir
राष्ट्रीय17 mins ago

अनंतनाग में सुरक्षाबलों पर हमला, हमलावरों की तलाश जारी

Flipkart
व्यापार19 mins ago

साइबर फ्रॉड इंश्योरेंस के लिए फ्लिपकार्ट ने किया बजाज आलियांज से करार

Earthquake-Strong-1
राष्ट्रीय27 mins ago

लेह में भूकंप के झटके

राष्ट्रीय39 mins ago

गिलगिट-बाल्टिस्तान चुनाव का भारत ने किया विरोध, कहा- पाक खाली करे कब्जे वाला क्षेत्र

Amarinder Singh
राष्ट्रीय43 mins ago

कृषि कानून के खिलाफ प्रदर्शन के बीच किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से मिले अमरिंदर सिंह

टेक53 mins ago

ट्विटर की सूचना सुरक्षा की नई प्रमुख बनीं रिंकी सेठी

राष्ट्रीय58 mins ago

अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार संस्था ने भारत में बंद किया काम, सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

chirag paswan
चुनाव1 hour ago

बिहार चुनाव: एलजेपी ने कहा- चिराग हमारी पार्टी के सीएम पद के उम्मीदवार

AKALI DAL
राजनीति1 hour ago

अकाली दल ने दिल्ली की निकाय संस्थाओं में अपने नेताओं से पदों से इस्तीफा देने को कहा

Mayawati
राजनीति3 weeks ago

मायावती शासन की अनियमितताओं पर शुरू होगी कार्रवाई

Sonia Gandhi and Rahul
ब्लॉग3 weeks ago

कांग्रेस की बीमारियां उन्हें क्यों सता रहीं जिन्होंने इसे वोट दिया ही नहीं?

राजनीति1 week ago

किसान बिल पर हंगामे के चलते राज्यसभा के 8 सांसद निलंबित

Rhea-
मनोरंजन3 weeks ago

सुशांत केस : ड्रग्स मामले में रिया चक्रवर्ती को भेजा गया मुंबई जेल

former president pranab-mukjerjee
राष्ट्रीय4 weeks ago

भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति का 84 साल की उम्र में निधन

Rhea Chakraborty
मनोरंजन4 weeks ago

सुशांत मामला : रिया से आज फिर पूछताछ करेगी सीबीआई

Supreme Court
राष्ट्रीय3 weeks ago

लोन मोरेटोरियम केस: SC ने कहा- आखिरी सुनवाई से पहले जवाब दाखिल करे सरकार

Face-Shield
लाइफस्टाइल4 weeks ago

‘फेस शील्ड और एन-95 मास्क मिलकर भी कोरोना को नहीं रोक सकता’

अंतरराष्ट्रीय4 weeks ago

मॉडर्ना जापान को कोविड वैक्सीन की 4 करोड़ खुराक की करेगी आपूर्ति

अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

रूस ने तैयार किया कोविड-19 वैक्सीन का पहला बैच

8 suspended Rajya Sabha MPs
राजनीति1 week ago

रात में भी संसद परिसर में डटे सस्पेंड किए गए विपक्षी सांसद, गाते रहे गाना

Ahmed Patel Rajya Sabha Online Education
राष्ट्रीय1 week ago

ऑनलाइन कक्षाओं के लिए गरीब छात्रों को सरकार दे वित्तीय मदद : अहमद पटेल

Sukhwinder-Singh-
मनोरंजन2 months ago

सुखविंदर की नई गीत, स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश को समर्पित

Modi Independence Speech
राष्ट्रीय2 months ago

Protected: 74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का भाषण, कहा अगले साल मनाएंगे महापर्व

राष्ट्रीय2 months ago

उत्तराखंड में ITBP कैम्‍प के पास भूस्‍खलन, देखें वीडियो

Kapil Sibal
राजनीति4 months ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय5 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर5 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य6 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति6 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

Most Popular