नई दिल्ली: नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गांधी को समन जारी किए जाने के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में कांग्रेस के विरोध मार्च के दौरान सोमवार को 26 सांसदों और विभिन्न राज्यों के 5 विधायकों सहित कांग्रेस के 459 कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया। एक पुलिस अधिकारी ने यह जानकारी दी।

दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त (कानून-व्यवस्था), सागर सिंह कलसी ने कहा, कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस के निर्देशों का पालन नहीं करने पर लोकसभा के 15 सदस्य, विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी, राज्यसभा के 11 सदस्य, जिनमें के.सी. वेणुगोपाल और मल्लिकार्जुन खड़गे, विभिन्न राज्य विधानसभाओं के पांच विधायक और कांग्रेस के पदाधिकारी शामिल थे, सहित कुल 459 कार्यकर्ता हिरासत में लिए गए।

कांग्रेस ने सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय के समक्ष अपने नेता राहुल गांधी की मौजूदगी के मद्देनजर मार्च निकालने की योजना बनाई थी। ईडी ने नेशनल हेराल्ड में कथित हेराफेरी के मामले में सोमवार को राहुल गांधी को तलब किया था और पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को 23 जून को तलब किया गया है।

जिला पुलिस ने मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए धरना-प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी।

विशेष सीपी ने कहा कि एआईसीसी के सचिव ने पुलिस को संबोधित एक पत्र में स्पष्ट रूप से आश्वासन दिया था कि सभा वीआईपी के साथ ईडी कार्यालय नहीं जाएगी, लेकिन जैसे ही राहुल गांधी ईडी कार्यालय के लिए रवाना हुए कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के साथ कांग्रेस के कई नेता उनके साथ जुलूस के रूप में आगे बढ़ने लगे।

इस बीच, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने उनके साथ मारपीट की।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिस ने उनके साथ हाथापाई की, धक्का दिया, जिससे उनकी बाईं पसली में क्रैक हो गया।

चिदंबरम ने ट्वीट किया, जब तीन बड़े, मोटे पुलिसकर्मी आप से टकराते हैं, तो आप भाग्यशाली होते हैं कि एक संदिग्ध हेयरलाइन क्रैक होकर रह जाता है! डॉक्टरों ने कहा है कि अगर हेयरलाइन में क्रैक है, तो यह लगभग 10 दिनों में अपने आप ठीक हो जाएगा। मैं ठीक हूं और मैं कल काम पर जाऊंगा।

Share.

Leave A Reply


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (0) in /home/wefornewshindi/public_html/wp-includes/functions.php on line 5275