राजनीतिमोदी 2.0 में 21 नए चेहरों की संभावना, बिहार का दबदबा रहने के आसार

IANSJuly 7, 20214351 min
Indian Prime Minister Narendra Modi

मंत्रिपरिषद में 21 नए चेहरों के शामिल किए जाने के बाद बुधवार शाम मोदी सरकार अपने नए रूप में सामने आएगी। यह मोदी 2.0 का पहला बड़ा फेरबदल होगा और उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों के चुनाव के लिए 2022 के चुनावी परिदृश्य को देखते हुए मंत्रियों को शामिल किया गया है।

 

फेरबदल में बिहार का दबदबा रहने की संभावना है।

 

प्रमुख नामों में ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुशील मोदी, सर्बानंद सोनोवाल, नारायण राणे और पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख दिलीप घोष शामिल हैं जो केंद्रीय मंत्रिमंडल के बड़े पैमाने पर फेरबदल का हिस्सा होंगे।

 

मोदी सरकार में जिन नए मंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है, उनमें मध्य प्रदेश के पूर्व कांग्रेस दिग्गज, ज्योतिरादित्य सिंधिया, जो अब भाजपा में हैं, बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी शामिल हैं।

 

समाचार लिखे जाने तक निम्नलिखित लोग प्रधानमंत्री के आवास पर गए थे

 

1. ज्योतिरादित्य सिंधिया,

 

2. सर्बानंद सोनोवाल

 

3. भूपेंद्र यादव

 

4. अनुराग ठाकुर

 

5. मीनाक्षी लेखी

 

6. अनुप्रिया पटेल

 

7. अजय भट्ट

 

8. शोभा करंदजले

 

9. सुनीता दुग्गल

 

10.प्रीतम मुंडे

 

11.शांतनु ठाकुर

 

12.नारायण राणे

 

13.कपिल पाटिल

 

14.पशुपति नाथ पारस

 

15.आर.सी.पी. सिंह

 

16.जी कृष्ण रेड्डी

 

भाजपा प्रवक्ता और अल्पसंख्यक चेहरा सैयद जफर इस्लाम को भी केंद्र सरकार की भूमिका के लिए इत्तला दे दी गई है। इस सूची में असम के पूर्व सीएम सर्बानंद सोनोवाल और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम नारायण राणे भी हैं।

 

गठबंधन सहयोगी और अपना दल प्रमुख, उत्तर प्रदेश से अनुप्रिया पटेल संभावितों में से हैं। अपने संसद भाषण से प्रभावित लद्दाख के सांसद जामयांग त्सेरिंग नामग्याल पर भी विचार किया जा रहा है।

 

रामविलास पासवान के निधन और अकाली दल और शिवसेना के बाहर होने के कारण हुई कुछ रिक्तियों के कारण फेरबदल की आवश्यकता हो रही थी। यूपी में आगामी चुनाव फेरबदल का एक कारक है।

 

दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष मनोज तिवारी भी संभावितो में शामिल हैं। घोष के साथ बंगाल के सांसद लॉकेट चटर्जी और शांतनु ठाकुर की भी संभावना बनी हुई है।।

 

बिहार से जेडीयू को 3-4 बर्थ मिलने की संभावना है क्योंकि बीजेपी ने नीतीश कुमार की मांग मान ली है। जदयू का प्रतिनिधित्व ललन सिंह, आरसीपी सिंह, रामनाथ ठाकुर और दिलेश्वर कामत और संतोष कुशवाहा करेंगे। बिहार में अहम मंथन के बीच चिराग पासवान के खिलाफ बगावत करने वाले पशुपति पारस को सेंट्रल बर्थ मिल रहा है।

 

मणिपुर के सांसद राजकुमार रंजन सिंह, कर्नाटक के पूर्व केंद्रीय मंत्री रमेश जिगाजिनागी भी संभावितों में शामिल हैं।

 

उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व कई चेहरों द्वारा किया जाएगा, जिनमें सकलदीप राजभर, राज्यसभा सद


स्य और खीरी से सांसद अजय मिश्रा शामिल हैं।

 

–आईएएनएस

 

Related Posts