अमेरिका के शिकागो में गोलीबारी में 2 की मौत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका के शिकागो में गोलीबारी में 2 की मौत

Published

on

अमेरिका के शिकागो में शुक्रवार सुबह से लेकर शनिवार शाम तक गोलीबारी की घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गई।

इस हादसे में दो लोगों की मौत के अलावा 17 अन्य लोग घायल भी हो गए। ‘शिकागो ट्रिब्यून’ की शनिवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक, यह घटनाएं किसी हमलावार द्वारा प्रत्येक 53 मिनट पर गोली चलाने के समान है।

इस दौरान दक्षिणी शिकागो में एक 27 वर्षीय युवक को कई गोलियां लगी। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। वेस्ट गारफील्ड बुलवार्ड में एक 26 वर्षीय युवक की भी मौत हो गई।

घायलों में एक पांच साल की बच्ची भी है। इसके साथ ही 73 वर्षीय शख्स के चेहरे पर गोली लगी। शिकागो पुलिस विभाग ने हिंसा के बढ़ते स्तर को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है।

wefornews bureau 

key words: america,Chicago,fire,2 people injured,अमेरिका, शिकागो,गोलीबारी,

अंतरराष्ट्रीय

यूएनजीए 2020 में इमरान खान ने दोहराया 2019 का भाषण

Published

on

Imran Khan Pakistan

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में दिया गया पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का भाषण उनके पिछले साल के भाषण का ही कॉपी था।

खान के भाषण में इस बार भी भ्रष्ट कुलीन, पेड़ लगाने, इस्लामोफोबिया, आरएसएस, मोदी, कश्मीर की ही बातें शामिल थीं।
इतना ही नहीं, खान का भाषण और उसे पढ़ने का प्रवाह और तरीका तक पिछले साल की तरह था। अगर इसमें कुछ नया था तो वह कोरोनावायरस की बातें थीं। इसके अलावा पिछले साल के भाषण का कुछ हिस्सा इस साल के भाषण में नहीं था।

इस बार खान ने पिछली बार की तरह महिलाओं और हिजाब का कोई उल्लेख नहीं किया। 2019 के भाषण में उन्होंने कहा था, एक महिला कुछ देशों में अपने कपड़े उतार सकती है, लेकिन वह उसमें कुछ बढ़ा नहीं सकती? और ऐसा क्यों हुआ है? क्योंकि कुछ पश्चिमी नेताओं ने इस्लाम को आतंकवाद के साथ जोड़ लिया है।

उनके भाषण की कुछ लाइनें आंशिक रूप से संपादित थीं। उदाहरण के तौर पर 2019 में उन्होंने कहा था- हमने पांच साल में एक अरब पेड़ लगाए। अब हमने 10 अरब पेड़ों का लक्ष्य रखा है। वहीं 2020 में कहा -हमने जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को कम करने के लिए अगले तीन वर्षों में 10 अरब पेड़ लगाने का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम शुरू किया है।

2019 में उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अवधारणा को समझाया था और कहा था मुझे यह समझाना होगा कि आरएसएस क्या है। श्री मोदी आरएसएस के जीवनर्पयत सदस्य हैं। यह हिटलर और मुसोलिनी से प्रेरित एक संगठन। वे उसी तरह नस्लीय श्रेष्ठता में विश्वास करते हैं जैसे नाजी आर्य नस्ल के वर्चस्व में विश्वास करते थे।

इस बार इस्लामोफोबिया का संदर्भ लेकर कहा, इसके पीछे का कारण आरएसएस की विचारधारा है जो दुर्भाग्य से आज भारत पर शासन कर रही है। इस चरमपंथी विचारधारा की स्थापना 1920 के दशक में की गई थी, आरएसएस के संस्थापक पिताओं ने नाजियों से प्रेरणा ली और नस्लीय शुद्धता-वर्चस्व की उनकी अवधारणाओं को अपनाया।

ऐसी ही स्थिति कश्मीर के मामले में भी रही। पिछले साल कहा था, जब हम सत्ता में आए तो मेरी पहली प्राथमिकता थी कि पाकिस्तान वह देश होगा जो शांति लाने की पूरी कोशिश करेगा। यही वह समय है जब संयुक्त राष्ट्र को भारत को कर्फ्यू हटाने के लिए कहना चाहिए। संयुक्त राष्ट्र को कश्मीर के आत्मनिर्णय के अधिकार पर जोर देना चाहिए। पिछले 72 सालों से भारत ने कश्मीरी लोगों की इच्छा के विरुद्ध और सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन करते हुए जम्मू-कश्मीर पर अवैध रूप से कब्जा किया हुआ है। अगर दो परमाणु देशों के बीच एक पारंपरिक युद्ध शुरू होता है .. तो कुछ भी हो सकता है।

वहीं भारत ने शुक्रवार को पाकिस्तान को अपने जबाव में कहा, पिछले 70 वर्षों में दुनिया को जो एकमात्र चीज दी है वह है आतंकवाद, कट्टरपंथ और कट्टरपंथी परमाणु व्यापार।

बता दें कि कश्मीर को लेकर प्रमुख प्रस्ताव के 47 वें नंबर के मुताबिक पाकिस्तान को कश्मीर से अपने सैनिकों और नागरिकों को वापस लेना है।

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

यूक्रेन विमान दुर्घटना में 22 लोगों की मौत, 6 लापता

Published

on

plane crash
प्रतीकात्मक तस्वीर

यूक्रेन में बड़ा विमान हादसा हुआ है। रायटर्स के मुताबिक, 28 लोगों को लेकर जा रहा यूक्रेन वायुसेना का एक विमान शुक्रवार शाम में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस हादसे में 22 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। बाकी लापता हैं।

हादसे की जानकारी यूक्रेन के मंत्री ने दी। उन्होंने बताया कि विमान में ज्यादातर छात्र सवार थे साथ ही इसमें 7 क्रू मेंबर भी थे। हादसे की वजह पता लगाने की कोशिश की जा रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह जल्द ही वह घटनास्थल पर जाएंगे।

WeForNews

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

दुनियाभर में कोरोना मामलों की संख्या 3.24 करोड़ के पार हुई

Published

on

Coronavirus

दुनियाभर में कोरोनोवायरस मामलों की 3.24 करोड़ के पार पहुंच गई हैं जबकि 987,000 से अधिक लोग इस बीमारी से जान गंवा चुके हैं।

जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी ने यह जानकारी दी। यूनिवर्सिटी के सेंटर फॉर सिस्टम्स साइंस एंड इंजीनियरिंग (सीएसएसई) ने अपने नवीनतम अपडेट में खुलासा किया कि शनिवार सुबह तक कोरोना के कुल मामलों की संख्या 32,471,119 रही जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 987,593 हो गई।

सीएसएसई के अनुसार, 7,032,524 मामलों और 203,657 मौतों के साथ अमेरिका दुनिया में सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में शीर्ष पर है।

वहीं, 5,818,570 मामलों के साथ भारत दूसरे स्थान पर है, जबकि देश में 92,290 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है।

सीएसएसई के आंकड़ों ने दर्शाया कि अधिकतम कोरोना मामले वाले अन्य शीर्ष 15 देशों में ब्राजील (4,689,613), रूस (1,131,088), कोलंबिया (798,317), पेरू (794,584), मेक्सिको (720,858), स्पेन (716,481), अर्जेटीना (691,235), दक्षिण अफ्रीका (668,529), फ्रांस (552,421), चिली (453,868), ईरान (439,882), ब्रिटेन (425,766), बांग्लादेश (356,767), इराक (341,699) और सऊदी अरब (332,329) हैं।

वर्तमान में कोरोना से मौतों के मामले में ब्राजील दूसरे स्थान पर है। देश में 140,537 लोगों की इस बीमारी से मौत हो चुकी है।

10,000 से ज्यादा मौतों वाले अन्य देश मेक्सिको (75,844), ब्रिटेन (42,025), इटली (35,801), पेरू (32,037), फ्रांस (31,675), स्पेन (31,232), ईरान (25,222), कोलंबिया (25,103), रूस (19,973), दक्षिण अफ्रीका (16,312), अर्जेटीना (15,208), चिली (12,527), इक्वाडोर (11,236) और इंडोनेशिया (10,218) हैं।

आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular