बोर्ड बैठक से पहले यस बैंक के शेयर में 12 फीसदी की गिरावट | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

बोर्ड बैठक से पहले यस बैंक के शेयर में 12 फीसदी की गिरावट

Published

on

Yes_Bank_wefornewshindi
File Photo

मुंबई, बीएसई में यस बैंक के शेयरों की कीमत में मंगलवार को 12 फीसदी की गिरावट हुई। ऐसा यस बैंक की महत्वपूर्ण बोर्ड बैठक के बाद होने वाले प्रतिकूल परिणाम को लेकर निवेशकों के डर की वजह से हुआ।

रवनीत गिल की अगुवाई वाले चौथे सबसे बड़े बैंक के दो अरब डॉलर के निवेश प्रस्ताव पर फैसला लेने की उम्मीद है। यस बैंक के वॉल्यूम (शेयर के कारोबार) में बढ़ोतरी भी देखी गई, क्योंकि निवेशकों ने बोर्ड बैठक से पहले शेयरों की बिक्री की, जो बैंक के लिए एक महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

यस बैंक के शेयरों में बीते कुछ महीनों से सबसे ज्यादा कारोबार हुआ है। निवेशक इस तरह की रिपोर्ट को लेकर डरे हैं कि बैंक कनाडा के इर्विन सिंह ब्रेच के विवादास्पद 1.2 अरब डॉलर के प्रस्ताव को स्वीकार करने से इनकार कर सकता है। ब्रेच का निवेश प्रस्ताव बैंक को पुनर्जीवित करने के लिए दो अरब डॉलर के निवेश प्रस्ताव का सबसे बड़ा हिस्सा है।

–आईएएनएस

व्यापार

प्रवासियों की पहचान हुई मुश्किल, महज 13 फीसदी बंटा अनाज

Published

on

Migrant Worker labour laws
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली, कोरोना काल में प्रवासी मजदूरों की समस्या देश की राजनीति के केंद्र में रही है, मगर उनको मुफ्त अनाज बांटना राज्यों के लिए मुश्किल हो गया। आत्मनिर्भर भारत स्कीम के तहत आवंटित कुल अनाज का सिर्फ 13 फीसदी ही बंट पाया जबकि आंध्रप्रदेश, तेलंगाना और गोवा जैसे कुछ राज्यों में तो कुछ भी वितरण नहीं हुआ।

केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के संकट काल में प्रवासी गरीबों के लिए आत्मनिर्भर भारत स्कीम के तहत मई और जून में वितरण के लिए 8,00,268 टन अनाज का आवंटन किया, लेकिन जून के आखिर तक सिर्फ 10,7032 टन अनाज बंट पाया। इस प्रकार कुल आवंटन का महज 13.37 फीसदी अनाज का ही वितरण हो पाया।

केंद्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक विरतण मंत्री राम विलास पासवान ने देशभर में आठ करोड़ प्रवासियों के अनुमान के आधार पर मई और जून के दौरान प्रवासियों के लिए 800268 टन अनाज का आवंटन किया था, लेकिन मई के कोटे का सिर्फ 15.2 फीसदी जबकि जून के कोटे का महज 11.6 फीसदी अनाज बंट पाया। हालांकि राजस्थान में मई और जून दोनों महीनों में प्रवासियों के आवंटित अनाज का 95.1 फीसदी वितरण हुआ।

केंद्रीय मंत्री का हालांकि कहना है कि यह योजना जिस मकसद से शुरू की गई थी उसकी पूर्ति हुई लेकिन इस बात को वह खुद भी स्वीकार करते हैं कि राज्यों के पास प्रवासी श्रमिकों का सही डाटा उपलब्ध नहीं होने से अनुमान मुताबिक अनाज का वितरण नहीं हो पाया।

पासवान ने हाल ही में कहा था कि प्रवासियों के लिए शुरू की गई मुफ्त अनाज वितरण की इस योजना का मकसद सिर्फ यही था कि कोरोना महामारी के संकट की इस घड़ी में देश में कोई भूखा न रहे और जरूरतमंदों को अनाज मिल पाए।

कोरोना काल में इस योजना के तहत विभिन्न राज्यों में फंसे हुए प्रवासियों की तादाद तकरीबन आठ करोड़ होने अनुमान लगाया गया था लेकिन मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मई में देशभर में 1,21,62028 लोगों ने इस योजना का लाभ उठाया जबकि जून में लाभार्थियों की संख्या सिर्फ 92,44,277 रही। मतलब, आठ करोड़ की जगह एक करोड़ भी प्रवासी श्रमिकों के आंकड़े नहीं जुटाए जा सके।

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक विभिन्न स्रोतों से प्रवासी श्रमिकों के जो आंकड़े उपलब्ध हो पाए उनको इस योजना का लाभ मिला। हालांकि जानकार बताते हैं कि योजना के तहत कम अनाज वितरण की मुख्य वजह इसकी शर्ते थीं जिनके कारण लाभार्थियों की पहचान करना मुश्किल हो गया। शर्तो के अनुसार, इस योजना के पात्र वही व्यक्ति हो सकते हैं जिनको राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत सार्वजनिक वितरण प्रणाली के लाभार्थी या अनाज वितरण की अन्य योजनाओं के लाभार्थी नहीं हैं।

केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर भारत स्कीम के तहत आने वाले प्रत्येक पात्र प्रवासी को हर महीने पांच किलो अनाज और प्रत्येक परिवार को एक किलो चना मुफ्त देने का प्रावधान किया था।

इसी प्रकार एनएफएसए के लाभार्थियों के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना शुरू की गई जिसके तहत अप्रैल से ही प्रत्येक लाभार्थी को पांच किलो अनाज और एक किलो दाल का वितरण किया जा रहा है और इस योजना की उपयोगिता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जून के बाद इसे पांच महीने आगे बढ़ाकर नवंबर तक कर दिया है। लेकिन प्रवासियों के लिए शुरू की गई मुफ्त अनाज वितरण की योजना को जून के बाद आगे नहीं बढ़ाया गया।

— आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

जियो प्लेटफॉर्म्स में इंटेल कैपिटल ने 1894 करोड़ रुपये का निवेश किया

Published

on

मुम्बई, 3 जुलाई (आईएएनएस)। रिलायंस इंडस्ट्रीज के ऋणमुक्त होने के बाद भी मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का सिलसिला जारी है। 12 निवेशों के जरिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 1,17,588.45 लाख करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है। शुक्रवार को अमेरीकी इंटेल कैपिटल ने 0.39 फीसदी इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 1,894.5 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। दुनिया भर में बेहतरीन कम्प्यूटर चिप बनाने के लिए इंटेल को जाना जाता है।

जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश 22 अप्रैल को फेसबुक से शुरू हुआ था, उसके बाद सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी, जनरल अटलांटिक, केकेआर, मुबाडला और सिल्वर लेक ने अतिरिक्त निवेश किया था। बाद में अबू धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी, एल कैटरटन और पीआईएफ ने भी निवेश की घोषणा की थी।

इंटेल कैपिटल इनोवेटिव कंपनियों में विश्व स्तर पर निवेश करने के साथ, क्लाउड कंप्यूटिंग, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और 5जी जैसे प्रौद्योगिकी क्षेत्रों में काम करती है, जहां जियो भी कार्यरत है। इंटेल कैपिटल, इंटेल कॉपोर्रेशन की निवेश शाखा है। इंटेल दो दशकों से अधिक समय से भारत में काम कर रही है और आज बेंगलुरु और हैदराबाद में अत्याधुनिक डिजाइन सुविधाओं के साथ वहां हजारों कर्मचारियों काम कर रहे हैं।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, कि दुनिया के प्रौद्योगिकी लीडर्स के साथ हमारे संबंध और अधिक गहरा होने पर हम बेहद खुश हैं। भारत को दुनिया में एक अग्रणी डिजिटल सोसाइटी में बदलने के हमारे ²ष्टिकोण को मूर्त रूप देने में ये हमारे सहायक हैं। इंटेल एक सच्चा इंडस्ट्री लीडर है, जो दुनिया को बदलने वाली तकनीक और नवाचारों को बनाने की दिशा में काम कर रहा है। वैश्विक स्तर पर इंटेल कैपिटल के पास अग्रणी प्रौद्योगिकी कंपनियों में एक मूल्यवान भागीदार होने का उत्कृष्ट रिकॉर्ड है। इसलिए हम अत्याधुनिक तकनीकों में भारत की क्षमताओं को आगे बढ़ाने के लिए इंटेल के साथ मिलकर काम करने के लिए उत्साहित हैं जो हमारी अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों को सशक्त बनाएगा और 130 करोड़ भारतीयों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करेगा।

इंटेल कैपिटल के अध्यक्ष, वेंडेल ब्रूक्स ने कहा कि भारत में कम लागत वाली डिजिटल सेवाओं को ताकत देने के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स अपनी प्रभावशाली इंजीनियरिंग क्षमताओं का उपयोग कर रहा है। यह जीवन को समृद्ध बनाने के इंटेल के उद्देश्य के समरूप है। हमारा मानना है कि डिजिटल पहुंच और डेटा, व्यापार और समाज को बेहतर बना सकते हैं। इस निवेश के माध्यम से भारत में डिजिटल परिवर्तन को हम ताकत देंगे।

Continue Reading

व्यापार

सेंसेक्स 36000 के ऊपर खुला, 10615 पर निफ्टी

Published

on

sensex-

नई दिल्ली, विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से घरेलू शेयर बाजार में शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन तेजी का रुख बना रहा। सेंसेक्स 36000 के ऊपर खुला, जबकि निफ्टी ने 10615 से कारोबार की शुरुआत की।

सुबह 9.24 बजे सेंसेक्स पिछले सत्र से 188.24 अंकों यानी 0.53 फीसदी की तेजी के साथ 36,031.94 पर बना हुआ था, जबकि निफ्टी पिछले सत्र से 58.60 अंकों यानी 0.56 फीसदी की बढ़त के साथ 10,610.30 पर कारोबार कर रहा था।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज; बीएसई के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सत्र से 181.68 अंकों की बढ़त के साथ 36025.38 पर खुला और 36110.21 तक उछला।

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज; एनएसई के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी बीते सत्र के मुकाबले 63.25 अंकों की बढ़त के साथ 10614.95 पर खुला और 10628.55 तक चढ़ा।

आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
शहर2 mins ago

दिल्ली में झमाझम बारिश

Coronavirus
राष्ट्रीय5 mins ago

बिहार में कोरोना के 131 नए केस

Corona Test-min
अंतरराष्ट्रीय13 mins ago

कोरोना के जीन समूह में विभिन्नता के संक्रमण तेजी से फैला- अध्ययन

coronavirus
राष्ट्रीय34 mins ago

महाराष्ट्र: कोरोना की वजह से 17 जुलाई तक बंद रहेगा सैट

Rahul Gandhi
राजनीति54 mins ago

चीन सीमा विवाद: राहुल गांधी बोले- कोई तो झूठ बोल रहा है…

Coronavirus
राष्ट्रीय58 mins ago

हिमाचल में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1016 हुई

marriage
राष्ट्रीय1 hour ago

बिहार: शादी समारोह में कोरोना फैलाने के आरोप में दुल्हे के पिता सहित कई पर मामला दर्ज

Coronavirus
राजनीति1 hour ago

आंध्र प्रदेश में कोरोना के 857 नए मामले

अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

तनाव कम करने के लिए भारत-चीन के बीच बातचीत जारी: चीन

Zhao Lijian
अंतरराष्ट्रीय1 hour ago

पीएम मोदी लेह पहुंचने पर बोला चीन, कहा- ‘हालात न बिगाड़े कोई पक्ष’

Social media. (File Photo: IANS)
टेक3 weeks ago

सोशल मीडिया पर अश्लील तस्वीर डालने पर नायब तहसीलदार निलंबित

Stock Market Down
ब्लॉग3 weeks ago

शेयर बाजार में पूरे सप्ताह रहा उतार-चढ़ाव, 1.5 फीसदी टूटे सेंसेक्स, निफ्टी

Mark Zuckerberg
टेक4 weeks ago

ब्लैक लाइव्स मैटर, नस्लीय भेदभाव को संबोधित करेंगे : जुकरबर्ग

अंतरराष्ट्रीय3 weeks ago

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा कोरोना पॉजिटिव

टेक3 weeks ago

भारत में गुगल सर्च, असिस्टेंट एंड मैप्स पर कोरोना परीक्षण केंद्र खोजें

-Coronavirus-min
राष्ट्रीय3 weeks ago

उत्तराखंड में कोरोना 77 नए मामले

Coronavirus
राष्ट्रीय3 weeks ago

चंडीगढ़ में कोरोना के 5 नए मामले

लाइफस्टाइल3 weeks ago

जेजीयू क्यूएस रैंकिंग 2021 में भारत का शीर्ष निजी विश्वविद्यालय बना

ayurved
लाइफस्टाइल4 weeks ago

कोरोना : इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए अब सैशे में मिलेगा आयुष क्वाथ

लाइफस्टाइल4 weeks ago

जमीनी हालात देखकर अगस्त के बाद खोले जाएंगे स्कूल

Kapil Sibal
राजनीति3 weeks ago

तेल से मिले लाभ को जनता में बांटे सरकार: कपिल सिब्बल

Vizag chemical unit
राष्ट्रीय2 months ago

आंध्र प्रदेश: पॉलिमर्स इंडस्ट्री में केमिकल गैस लीक, 8 की मौत

Delhi Police ASI
शहर3 months ago

दिल्ली पुलिस के कोरोना पॉजिटिव एएसआई के ठीक होकर लौटने पर भव्य स्वागत

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
स्वास्थ्य3 months ago

WHO को दिए जाने वाले अनुदान पर रोक को लेकर टेडरोस ने अफसोस जताया

Sonia Gandhi Congress Prez
राजनीति3 months ago

PM Modi के संबोधन से पहले कोरोना संकट पर सोनिया गांधी का राष्ट्र को संदेश

मनोरंजन3 months ago

रफ्तार का नया गाना ‘मिस्टर नैर’ लॅान्च

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय3 months ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन3 months ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन4 months ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन4 months ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Most Popular