भाजपा विधायक का वीडियो वायरल, जांच की मांग | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

Viral सच

भाजपा विधायक का वीडियो वायरल, जांच की मांग

नारायण पहली बार वर्ष 2014 में विधायक बने थे। उन्हें उस वक्त विधानसभा चुनाव में राज्य में सबसे अधिक वोट मिले थे।

Published

on

BJP MLA Bokaro Biranchi Narayan

रांची, 10 नवंबर | सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के एक विधायक बिरांची नारायण का एक वीडियो वायरल हुआ है, जिससे पार्टी को शर्मनाक स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। विधायक नारायण ने उनके कथित अंतरंग निजी पलों को दिखाने वाले इस वीडियो को फर्जी करार दिया और मामले में जांच की मांग की।

नारायण के समर्थकों ने रविवार को बोकारो पुलिस के अधिकारियों से मुलाकात की और पूरे मामले की जांच की मांग के लिए सिटी पुलिस स्टेशन में एक प्राथमिकी दर्ज की।

नारायण के प्रतिनिधि संजय त्यागी ने कहा, “झारखंड में विधानसभा चुनाव होने है, इससे पहले जानबूझकर पार्टी और विधायक जी को बदनाम करने के इरादे से वीडियो वायरल किया गया है। पुलिस को मामले की जांच करनी चाहिए।”

नारायण पहली बार वर्ष 2014 में विधायक बने थे। उन्हें उस वक्त विधानसभा चुनाव में राज्य में सबसे अधिक वोट मिले थे।

Viral सच

इंदौर के गौतमपुरा में बरसे आग के गोले, 19 घायल

Published

on

By

Hingot Bomb War

इंदौर, 28 अक्टूबर | मध्य प्रदेश की व्यावसायिक नगरी इंदौर के गौतमपुरा में वषरें से चली आ रही परंपरा के मुताबिक, दीपावली के दूसरे दिन गोवर्धन पूजा के मौके पर हिंगोट युद्घ आयोजित किया गया। आसमान पर उड़ते हुए आग के गोले दो दलों ने एक-दूसरे पर बरसाए। इस युद्घ में कुल 19 लोग घायल हुए, जिन्हें प्राथमिक उपचार के बाद घरों को रवाना कर दिया गया। जिला मुख्यालय से 55 किलोमीटर दूर स्थित गौतमपुरा में दीपावली के अगले दिन और भाईदूज की पूर्व संध्या पर दो दल जमा हुए, जिनमें से एक दल गौतमपुरा का ‘तुर्रा’ दूसरा रुणजी गांव का ‘कलंगी’ दल था। दोनों दलों के सदस्यों ने एक-दूसरे पर हिंगोट से हमला किया।

देपालपुर क्षेत्र के अनुविभागीय अधिकारी, पुलिस (एसडीओ-पी) रामकुमार राय ने आईएएनएस को बताया, “हिंगोट युद्घ में दोनों ओर से चले हिंगोट से किसी भी व्यक्ति को गंभीर चोट नहीं आई है। कुल 19 लोगों को मामूली चोटें लगीं, जिन्हें प्रारंभिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया है।”

उन्होंने प्रशासन की ओर से की गई तैयारियों का ब्यौरा देते हुए बताया, “पुलिस और प्रशासन ने हिंगोट युद्घ में किसी तरह का हादसा न हो, इसके पुख्ता इंतजाम किए थे। मैदान के चारों ओर जाली लगाई गई थी, जिससे हिंगोट बाहर नहीं आ सकता। बीते साल से दोगुना पुलिस बल की तैनाती की गई थी।”

Image result for हिंगोट बम

गौतमपुरा में हिंगोट युद्घ की यह परंपरा कई वर्षो से चली आ रही है। हिंगोट एक फल है। यहां के लेाग लगभग एक माह पहले से कंटीली झाड़ियों में लगने वाले हिंगोट को जमा करते हैं, उसके अंदर के गूदे को अलग कर दिया जाता है, और उसके कठोर बाहरी आवरण को धूप में सुखाने के बाद उसके भीतर बारूद, कंकड़-पत्थर भरे जाते हैं।

बारूद भरे जाने के बाद यह हिंगोट बम का रूप ले लेता है। उसके एक सिरे पर लकड़ी बांधी जाती है, जिससे वह राकेट की तरह आगे जा सके। एक हिस्से में आग लगाने पर हिंगोट राकेट की तरह घूमता हुआ दूसरे दल की ओर बढ़ता है। दोनों ओर से चलने वाले हिंगोट के कारण गौतमपुरा का भगवान देवनारायण के मंदिर का मैदान जलते हुए गोलों की बारिश के मैदान में बदल गया। देानों दलों के योद्घाओं ने एक-दूसरे पर जमकर हिंगोट चलाए, जिसमें 19 लोगों को चोटें आईं।

आखिर हिंगोट युद्घ की शुरुआत कैसे, क्यों और कब हुई, इसका कहीं भी उल्लेख नहीं मिलता है। लेकिन किंवदंती है कि रियासतकाल में गौतमपुरा क्षेत्र की सीमाओं की रक्षा के लिए तैनात जवान दूसरे आक्रमणकारियों पर हिंगोट से हमले करते थे।

स्थानीय लोगों के मुताबिक, हिंगोट युद्घ एक किस्म के अभ्यास के रूप में शुरू हुआ था और उसके बाद इसके साथ धार्मिक मान्यताएं जुड़ती चली गईं।

इंदौर मुख्यालय से लगभग 55 किलोमीटर दूर बसे गौतमपुरा में इस आयोजन को लेकर खासा उत्साह रहा और हिंगोट युद्घ शुरू होने से पहले ही लोगों का हुजूम मौके पर पहुंचने लगा था। एक तरफ जहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे, वहीं दूसरी ओर स्वास्थ्य कर्मियों की तैनाती की गई थी। एंबुलेंस भी थे, ताकि इस युद्घ के दौरान घायल होने वालों को जल्दी उपचार मिल सके।

Continue Reading

Viral सच

चोर बैंगलोर में कर रहे कार चोरी के क्रेश कोर्स

Published

on

Car Chori-
प्रतीकात्मक तस्वीर

राजधानी दिल्ली और आस पास के कार चोर दिन ब दिन हाईटेक होते जा रहे है। कार चोर अब चोरी को अंजाम देने के लिए अपने हाथ में लैपटॉप के साथ आधुनिक डिवाइस लेकर चलते हैं।

कार चोर डोर को मास्टर चाबी से खोलने के बजाए सिक्योरिटी सिस्टम को हैक करते हैं। वक्त-वक्त पर अपडेट होने वाले सिक्योरिटी सिस्टम के चलते खुद को भी अपडेट रखने के लिए क्रेश कोर्स करने बैंग्लोर जाते हैं।

इस बात का खुलासा बीते समय में पकड़े गए चोरों ने किया। चोर दिल्ली-एनसीआर से ही पकड़े गए थे। पुलिस के मुताबिक कार चोरों के पास से अब कोई मास्टर-की बरामद नहीं होती है। अब सिर्फ दो से चार प्रतिशत चोर ही ऐसे पकड़े जाते हैं जिनके पास से मास्टर-की होती है।

ऑटो एक्सपर्ट का कहना है कि आजकल 10 लाख रुपये से अधिक की कीमत वाली कार के दरवाजे और इंजन सॉफ्टवेयर की मदद से लॉक और अनलॉक होते हैं, जिसके लिए चाबी का कोई काम नहीं है। Delhi NCR में बीते कुछ समय में कई कार चोर गिरोह को पुलिस ने पकड़ा है।

पुलिस की पूछताछ पर चोरों ने बताया कि महंगी कारों में कंप्यूटर वाले लॉक होने के कारन अब चाबी की जरूरत नही पड़ती। शहर में कुछ पढ़े-लिखे चोर हैं वो बैंग्लोर जाकर इसका कोर्स करके आते हैं और हम उनके पास लैपटॉप में इन्सटाल्ड सॉफ्टवेयर की मदद से लॉक खोल कर चोरी को अंजाम देते हैं।

बैंगलोर में इस कोर्स की फीस 25 हजार रुपये तक ली जाती है। साथ ही उन्हें 35 से 40 हजार रुपये की कीमत वाली एक डिवाइस दी जाती है। जो खुद नहीं जा सकते वो सीखकर आने वालों की मदद लेते हैं और एक कार चोरी पर उन्हें 5 से 7 हजार रुपये तक देते हैं।

ऑटो एक्सपर्ट के मुताबिक आजकल की कार में दरवाजे साथ कार का इंजन भी लॉक हो जाता है। अगर किसी तरह चोर डोर को अनलॉक कर भी लेते हैं तो इंजन अनलॉक किए बिना किसी भी तरीके से गाड़ियों के इंजन को स्टार्ट नहीं किया जा सकता है।

कार चोरों के पास ऑनस्टार नाम की एक डिवाइस होती है, जिसकी मदद से वह कार के आईपी एड्रेस को हैक कर सिक्योरिटी सिस्टम को सपोर्ट करने वाले सॉफ्टवेयर में पहुंच जाते हैं।

चोरी को अंजाम देते समय चोर आपकी कार से थोड़ी ही दूरी पर इस डिवाइस को लेकर बैठ जाते हैं और जब आप रिमोट-की से कार को लॉक या अनलॉक करते हैं ठीक उसी समय डिवाइस के रिमोट-की से निकली बेव को ट्रैक कर उसके कोडिंग सिस्टम को पढ़ लेता है। जिससे गाड़ी के इंजन में इन्सटाल्ड सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर के कोडिंग को ब्रेक कर गाड़ी में लगे सारे लॉक अनलॉक कर दिया दिया जाता है।

Continue Reading

Viral सच

बकरों को भी होता है दर्द न दें कुर्बानी

पेटा के अनुसार, वीडियो ईद के पहले जारी किया गया है ताकि लोग देख सकें कि बकरे को कितनी तकलीफ होती है और वे लोगों से शाकाहारी बनने की गुहार लगाते हैं।

Published

on

By

Rajanpuri Bakra

नई दिल्ली, 31 जुलाई | पीपल फॉर एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (People for the Ethical Treatment of Animals) (PETA) ने ईद से पहले एक वीडियो जारी किया है, जिसमें बकरों के साथ क्रूरता की तस्वीर है। तस्वीर में भुथरे चाकू से बकरों को हलाल किया जा रहा है, जो इस दौरान चिल्ला रहे हैं। वीडियो राजस्थान के अलवर से लिया गया है, जहां बकरी के दूध और मांस के व्यापार को दिखाया गया है।

पेटा के एसोसिएट डायरेक्टर निकुंज शर्मा ने कहा, “वीडियो में बकरे को बोरियों में डालते और दोपहिया वाहनों पर सामान के थैले की तरह ले जाते दिखाया गया है। बकरे को दर्द राहत के उपाय किए बगैर बधिया किया जाता है और उन्हें अपने हाल पर छोड़ दिया जाता है, मतलब उचित पशुचिकित्सा नहीं किया जाता है।”

पेटा के अनुसार, वीडियो ईद के पहले जारी किया गया है ताकि लोग देख सकें कि बकरे को कितनी तकलीफ होती है और वे लोगों से शाकाहारी बनने की गुहार लगाते हैं।

पेटा ने पशुपालन, डेयरी और मत्स्यपालन मंत्री गिरिराज सिंह को पत्र लिख कर उनसे यह सुनिश्चित करवाने की मांग की है कि बकरे को बधिया करते समय उन्हें एनेस्थेसिया दिया जाए। साथ ही पेटा ने कसाईखानों की जांच की व्यवस्था के साथ-साथ पशु परिवहन एवं वध कानून को लागू करने की मांग की है।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
sensex-min (1)
व्यापार3 hours ago

शेयर बाजार में गिरावट, सेंसेक्स 248 अंक नीचे

राजनीति3 hours ago

नागरिकता बिल पर उद्धव ठाकरे का यू टर्न

Smartphone-Addiction-min-1
राष्ट्रीय3 hours ago

त्रिपुरा में 48 घंटों के लिए SMS और मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद

imran khan
अंतरराष्ट्रीय3 hours ago

नागरिकता बिल पर इमरान बोले- ये भारत-पाक समझौतों का उल्लंघन

facebook
टेक3 hours ago

फेसबुक ने जमाते इस्लामी पाकिस्तान का ‘कश्मीर मार्च’ पेज हटाया

Farooq Abdullah
राष्ट्रीय3 hours ago

‘अनुच्छेद-370 की बहाली तक नेकां राजनीति में हिस्सा नहीं लेगी’

Deepika
मनोरंजन3 hours ago

दीपिका की फिल्म ‘छपाक’ का ट्रेलर रिलीज

राष्ट्रीय3 hours ago

जम्मू-कश्मीर प्रशासन के कहने पर नेताओं की होगी रिहाई : शाह

Yes_Bank_wefornewshindi
व्यापार4 hours ago

यस बैंक ने ब्रेच के प्रस्ताव पर फैसला टाला

Joint Pain-
लाइफस्टाइल4 hours ago

रक्त का तापमान घटने से बढ़ता है जोड़ों का दर्द

लाइफस्टाइल3 days ago

टाइप-2 डायबिटीज से हृदय रोग का खतरा ज्यादा

cancer
लाइफस्टाइल3 weeks ago

दांतों की वजह से भी हो सकता है जीभ का कैंसर

Stomach-
स्वास्थ्य4 weeks ago

पेट दर्द या अपच को कभी न करें अनदेखा…

लाइफस्टाइल2 weeks ago

मलेरिया में भूलकर भी इन चीजों का न करें सेवन…

Sleep-Nap
स्वास्थ्य3 weeks ago

मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती है अशांत नींद

weight-loss-min
स्वास्थ्य3 weeks ago

वेट लूज करने के लिए करें ये काम…

e-cigarette
स्वास्थ्य3 weeks ago

मसालेदार ई-सिगरेट से हृदय रोग का जोखिम ज्यादा

Breast Cancer
स्वास्थ्य1 week ago

स्तन कैंसर से बढ़ जाता है हृदय रोग का खतरा

Breast Cancer
स्वास्थ्य3 weeks ago

‘स्तन कैंसर के इलाज के लिए बेहतर विकल्प है ‘टागेर्टेड रेडिएशन थेरेपी’

लाइफस्टाइल2 weeks ago

अल्जाइमर से बचाएगी नई दवा : शोध

Most Popular