राजनीति

वरुण गांधी ने ऋण में डूबे किसानों की आत्महत्या और उद्योग घरानों की कर्ज माफी पर खड़े किए सवाल

Varun Gandhi
Tweeter image

बीजेपी सांसद वरुण गांधी उद्योग घरानों की कर्ज माफी और ऋण से त्रस्त किसानों के आत्महत्या को लेकर दुख जताया है। यूपी के सुल्तानपुर से बीजेपी सांसद इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिशन की ओर से न्यायालय परिसर में न्याय का वास्तविक अर्थ विषय पर आयोजित एक समारोह में गांधी ने कहा, “वर्ष 2001 से इस देश में अलग-अलग सरकारों ने करीब तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है। इसमें से दो लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का कर्ज देश के शीर्ष 30 उद्योग समूहों पर बकाया था। क्या हम इसे न्याय कह सकते हैं।’

उन्होंने कहा,‘ऐसे हालात में जहां इस देश की एक फीसदी आबादी का देश के आधे से अधिक संसाधनों पर नियंत्रण हो तब न्याय की बात खोखली साबित होती है। वहीं, दूसरी ओर, एक तिहाई से ज्यादा की आबादी अब भी गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने को मजबूर है और करीब 90 लाख बच्चे अपना पेट चलाने के लिए मजदूरी करने को बेबस हैं।’

वरुण ने नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर तमिलनाडु के किसानों द्वारा हाल ही में किए गए विरोध प्रदर्शन का भी जिक्र किया और अपने संसदीय क्षेत्र में किसानों के लिए अपने प्रयासों को रेखांकित किया। उन्होंने कहा, ‘तीन साल पहले मैंने संकल्प लिया था कि मैं अपने निर्वाचन क्षेत्र में किसानों को आत्महत्या नहीं करने दूंगा।

पिछले काफी दिनों से वरुण गांधी अपनी पार्टी में हासिए पर है। माना जाता है कि वरुण गांधी पार्टी की कई नीतियों पर गांधी की राय अलग रहीं है। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भी वरुण पार्टी के लिए प्रचार भी नहीं कर पाए हालांकि उनका नाम स्टार प्रचारकों की पहली सूची में नदारद था लेकिन दूसरी सूची में नाम शामिल होने के बाद भी उन्हें प्रचार करने का पार्टी ने मौका नहीं दिया।

एक वक्त था जब वरुण पार्टी के महासचिव हुआ करते थे। लेकिन अब पार्टी में रहकर वरुण ने एक के बाद एक ऐसे मुद्दों पर बोलना शुरु कर दिया जिससे ये संभावना दिखाई देती है कि उनसे पार्टी का केन्द्रीय नेतृत्व नाराज है। वरुण इससे पहले भी किसानों की आत्महत्या के साथ-साथ उद्योग घरानों की कर्ज माफी का मुद्दा उठाते रहे है। यहां तक कि उन्होंने सिस्टम पर अल्पसंख्यकों के विकास में फेल होने का भी आरोप लगाया था।

wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top