Connect with us

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश : कैबिनेट मंत्री राजभर की नाराजगी दूर करने शाह ने बुलाया दिल्ली

Published

on

अमित शाह
फाइल फोटो

उत्तर प्रदेश में 22 मार्च को होने वाले राज्यसभा चुनाव के गणित को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने सहयोगी दल सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया और उप्र के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर को मनाने का प्रयास शुरू कर दिया है। भाजपा के सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राजभर को बातचीत के लिए दिल्ली बुलाया है। उम्मीद है कि उन्हें मना लिया जाएगा।

भारतीय जनता पार्टी के सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी से नाराज चल रहे उत्तर प्रदेश भाजपा सरकार में सहयोगी दल के कैबिनेट मंत्री ओमप्रकाश राजभर को मुलाकात के लिए दिल्ली बुलाया है।

इससे पहले राजभर ने सोमवार को धमकी देते हुए कहा था कि यदि उनसे अमित शाह ने बात नहीं की तो उनकी पार्टी राज्यसभा चुनाव का बहिष्कार करेगी। इस धमकी का असर उस समय दिखाई दिया जब उप्र के शहरी विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने राजभर के घर जाकर उनसे मुलाकात की। उन्हें मनाने का प्रयास किया गया, लेकिन वह नहीं माने।

गौरतलब है कि ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी भाजपा की सहयोगी दल है और उसके चार विधायक हैं। उनकी नाराजगी का आलम यह है कि सरकार के एक साल पूरा होने पर आयोजित कार्यक्रम में वह शामिल नहीं हुए।

राजभर ने सोमवार को चेतावनी देते हुए कहा था कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से बात करने की कोशिश की, लेकिन बात नहीं हुई।

राज्यसभा में अखिलेश यादव का साथ दिए जाने के सवाल पर कहा कि उनसे कोई बात नहीं हुई है। भाजपा गठबंधन का धर्म नहीं निभा रही है। उत्तर प्रदेश सरकार का सारा ध्यान सिर्फ मंदिर पर है न कि गरीबों के कल्याण पर, जिन्होंने उन्हें वोट देकर सत्ता दी है।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

छत्तीसगढ़: आप संयोजक संकेत ठाकुर ने दिया इस्तीफा

Published

on

Sukha Thakur

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में हार के बाद आम आदमी पार्टी (आप) के प्रदेश संयोजक संकेत ठाकुर ने पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने हार की जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा दिया है। 

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को एक भी सीट नहीं मिली। यहां तक कि चुनाव नतीजों में आप के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार कोमल हुपेंडी अपनी विधानसभा सीट पर तीसरे नंबर पर रहे। इस विधानसभा सीट पर कांग्रेस के मनोज सिंह मंडावी ने भाजपा के देवलाल दुग्गा को हराकर जीत दर्ज की।

आप नेता संकेत ठाकुर ने कहा कि उन्होंने आम आदमी पार्टी छत्तीसगढ़ की विधानसभा चुनाव में पराजय की जिम्मेदारी स्वीकारते हुए प्रदेश संयोजक पद से इस्तीफा दे दिया है। राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक में उन्होंने समस्त साथियों को इस तथ्य से अवगत करा दिया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस लहर के बावजूद आप पर 1 लाख 25 हजार मतदाताओं ने वोट देकर भरोसा दिखाया है। इन 5 वर्षों में हमने भाजपा सरकार विरोधी लहर खड़ी करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

उन्होंने कहा कि सोनी सोरी की अगुवाई में 2014-15 से बस्तर में आदिवासियों पर फर्जी मुठभेड़, यौन प्रताड़ना के खिलाफ हमने सबसे पहले आवाज उठाई। 2016 में चिटफंड कंपनियों के खिलाफ सबसे बड़ा आंदोलन हमने खड़ा किया।

संकेत ठाकुर ने कहा कि चुनाव के दौरान सबसे बड़ी कमी कार्यकर्ताओं की रही। कैडर खड़ा करना सबसे बड़ा लक्ष्य होना चाहिए। इसलिए वह अपना समय अब पार्टी के लिए समर्पित कैडर खड़ा करने व उन्हें प्रशिक्षित करने में लगाना चाहते हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

लोकसभा की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित

Published

on

parliament-min

लोकसभा में सोमवार को विभिन्न मांगों को लेकर विपक्ष के हंगामा के चलते सदन की कार्यवाही दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दी गई।

जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) और तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) के सदस्यों ने लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के आसन के पास पहुंचकर हंगामा करना शुरू कर दिया। अन्नाद्रमुक के सदस्यों ने कावेरी जल मुद्दा उठाया, जबकि तेदेपा ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग की।

कांग्रेस सदस्यों ने राफेल सौदे पर शीर्ष अदालत को गुमराह करने को लेकर सरकार विरोधी नारे लगाए। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने भी कांग्रेस को आड़े हाथों लिया और सर्वोच्च न्यालय द्वारा सरकार को क्लीन चिट दिए जाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से माफी मांगने को कहा।

अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने हंगामा कर रहे सदस्यों से प्रश्न काल चलने देने का अनुरोध किया, लेकिन हंगामा जारी रहा।

WeForNews 

Continue Reading

राष्ट्रीय

हंगामे के चलते राज्यसभा की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

Published

on

parliament-min

राज्यसभा की कार्यवाही सोमवार को शुरू होने के कुछ मिनटों के बाद ही हंगामे के कारण दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई।

जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (अन्नाद्रमुक) और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता प्लाकार्ड थामे हुए सभापति के आसन के पास पहुंच गए। वे कावेरी नदी पर प्रस्तावित बांध बनाए जाने के खिलाफ विरोध कर रहे थे।

विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कुछ कहने की कोशिश की, लेकिन हंगामे व शोरशराबे के बीच सुनाई नहीं दिया।

सभापति एम. वेंकैया नायडू ने इसके बाद सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular