Connect with us

राजनीति

कांग्रेस की इफ्तार पार्टी में दिखी विपक्ष की एकजुटता

Published

on

congress iftar party
पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा दी गई इफ्तार पार्टी में विपक्ष की एकजुटता की साफ झलक दिखी। दिल्ली के ताज होटल में आयोजित इस पार्टी में माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, जदयू के पूर्व नेता शरद यादव, एनसीपी के दिनेश त्रिवेदी और डीएमके की सांसद कनिमोझी पहुंचीं।

इसके अलावा पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, अहमद पटेल, राजीव शुक्ला, शीला दीक्षित समेत पार्टी के तमाम दिग्‍गज नेता शामिल हुए।

इसमें कांग्रेस की ओर से 18 राजनीतिक दलों के नेताओं को न्योता दिया गया था। कांग्रेस अध्‍यक्ष बनने के बाद राहुल की यह पहली इफ्तार पार्टी है। कयास लगाए जा रहे थे कि इस पार्टी से विपक्षी एकजुटता की जमीन मजबूत होगी, वह साफ नजर आई।

wefornews 

राजनीति

तिरंगे के अपमान पर अमित शाह पर मुकदमा करेगी बहुजन विजय पार्टी

Published

on

Amit Shah

लखनऊ, 16 अगस्त । बहुजन विजय पार्टी (बविपा) ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा गत 15 अगस्त को किए गए तिरंगे के अपमान को बेहद दुखद, राष्ट्रीय भावना के विरुद्ध व तिरंगे के अपमान की पराकाष्ठा बताते हुए कहा कि वह शाह के विरुद्ध न्यायालय जाएगी।

बविपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष केशव चंद्र ने गुरुवार को लखनऊ में कहा कि यह आश्चर्य का विषय है कि आजादी के 72वें वर्ष में सत्तारूढ़ दल के वरिष्ठ नेता व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को झंडा फहराना नहीं आता। उन्होंने कहा कि बेहद शर्मनाक यह प्रकरण पूरी दुनिया ने देखा। इससे देशवासियों की भावनाएं आहत हुईं।

उन्होंने कहा कि झंडारोहण के दौरान अमित शाह झंडे को खींचकर जमीन पर ले आते हैं, जो नेशनल फ्लैग कोड, 2002 के अंतर्गत दंडनीय अपराध है।

केशव ने कहा कि तिरंगे का अपमान किसी भी दशा में नहीं होना चाहिए और जमीन से उसका स्पर्श नहीं होना चाहिए। तिरंगे का जमीन से स्पर्श कराने पर 3 साल की कैद या जुर्माना या दोनों हो सकता है।

बविपा अध्यक्ष ने कहा कि उनके पास इस बात के सबूत हैं कि भाजपा के कार्यक्रमों में राष्ट्रगान गाते समय पार्टी का झंडा फहराया जाता है, लेकिन पार्टी अध्यक्ष होने के नाते अमित शाह ने कभी कोई कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने भी कभी इस बात का संज्ञान नहीं लिया है। सच्चाई यह है कि भाजपा का ‘प्रखर राष्ट्रवाद’ राष्ट्रीय ध्वज पर भी हावी होता जा रहा है।

केशव चंद्र ने कहा कि समय-समय पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी देश ही नहीं, विदेशों में भी राष्ट्रगान का अपमान कर चुके हैं। राष्ट्रगान के समय मोदी चहलकदमी करने लगते हैं, जो पूरी दुनिया देख चुकी है।

–आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

वाजपेयी आधुनिक भारत के शीर्षस्थ नेता : मनमोहन

Published

on

manmohan singh

नई दिल्ली, 16 अगस्त | कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने गुरुवार को कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी आधुनिक भारत के ‘शीर्षस्थ नेताओं’ में से एक थे और उन्होंने अपना पूरा जीवन देश की सेवा करने में लगाया। पूर्व प्रधानमंत्री ने एक बयान में कहा, ” भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी जी के दुखद निधन के बारे में पता चला। वह एक शानदार वक्ता, प्रभावी कवि, अद्वितीय लोकसेवक, उत्कृष्ट सांसद और महान प्रधानमंत्री रहे।”

उन्होंने कहा, “वह आधुनिक भारत के शीर्षस्थ नेताओं में से एक थे, जिन्होंने अपना पूरा जीवन हमारे महान देश की सेवा में लगाया।”

उन्होंने कहा, “राष्ट्र के प्रति उनकी सेवाओं को लंबे समय तक याद किया जाएगा।”

राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने भी वाजपेयी के निधन पर बयान जारी कर कहा, “मैं वाजपेयीजी के दुखद निधन से बहुत दुखी हूं। वह एक महान इंसान और सच्चे राजनेता थे।”

आजाद ने कहा कि वाजपेयी जरूरत पड़ने पर कभी भी विपक्षी पार्टी के नेताओं की प्रशंसा करने से नहीं चूकते थे।

उन्होंने कहा, “मुझे याद है जब उन्होंने 1971 में भारत-पाक युद्ध के बाद दिवंगत प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की प्रशंसा की थी और उन्हें ‘दुर्गा’ कहा था।”

लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने पूर्वानुमान लगाया था कि वाजपेयी भविष्य में प्रधानमंत्री बनेंगे और वह बने।

खड़गे ने वाजपेयी को ‘अजातशत्रु’ करार दिया, जिन्होंने कभी अपना शत्रु नहीं बनाया।

खड़गे ने कहा कि हालांकि हमारी विचारधारा अलग थी, फिर भी हम उनके भाषणों को सुनते थे।

उन्होंने कहा, “उनमें बहुत सहिष्णुता थी और सभी से काफी सहजता से मिलते थे। उन्होंने कभी भी दूसरों को नीचा दिखाने की कोशिश नहीं की।”

कांग्रेस सांसद मोतीलाल वोरा और कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी वाजपेयी के निधन पर शोक प्रकट किया।

Continue Reading

ओपिनियन

अटल बिहारी वाजपेयी : नए भारत के सारथी और सूत्रधार

Published

on

Atal-Bihari-Vajpayee

नई दिल्ली, 16 अगस्त (आईएएनएस)| भारत रत्न, सरस्वती पुत्र एवं देश की राजनीति के युगवाहक पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का संपूर्ण जीवन राष्ट्रसेवा और जनसेवा को समर्पित रहा। वे सच्चे अर्थों में नवीन भारत के सारथी और सूत्रधार थे। वे एक ऐसे युग मनीषी थे, जिनके हाथों में काल के कपाल पर लिखने व मिटाने का अमरत्व था। ओजस्वी वक्ता विराट व्यक्तित्व और बहुआयामी प्रतिभा के धनी वाजपेयी की जीवन यात्रा आजाद भारत के अभ्युदय के साथ शुरू होती है और विश्व पटल पर भारत को विश्वगुरु के पद पर पुन: प्रतिष्ठित करने की आकांक्षा के साथ कई पड़ावों को जीते हुए आगे बढ़ती है। वे भारतीय जनसंघ के संस्थापक सदस्य थे। वे 1968 से 1973 तक भारतीय जन संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रहे।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने अटल बिहारी वाजपेयी में भारत का भविष्य देखा था। वाजपेयी 10 बार लोक सभा सांसद रहे। वहीं वे दो बार 1962 और 1986 में राज्यसभा सांसद भी रहे। वाजपेयी जी देश के एक मात्र सांसद थे, जिन्होंने देश की छह अलग-अलग सीटों से चुनाव जीता था। सन 1957 से 1977 तक वे लगातार बीस वर्षो तक जन संघ के संसदीय दल के नेता रहे। आपातकाल के बाद देश की जनता द्वारा चुने गए मोरार जी देसाई जी की सरकार में वे विदेश मंत्री बने और विश्व में भारत की एक अलग छवि का निर्माण किया।

इस दौरान संयुक्त राष्ट्र संघ में पहली बार हिंदी में ओजस्वी उद्बोधन देकर वाजपेयी ने विश्व में मातृभाषा को पहचान दिलाई और भारत की एक अलग छाप छोड़ी। आपातकाल के दौरान उन्हें भी लोकतंत्र की हत्यारी सरकार की प्रताड़ना झेलनी पड़ी। उन्हें जेल में डाल दिया गया लेकिन उन्होंने जेल से ही कलम के सहारे अनुशासन के नाम पर अनुशासन का खून लिख कर राष्ट्र को एकजुट रखने की कवायद जारी रखी।

सिद्धांतों पर अडिग रहते हुए विचारधारा की राजनीति करने वाले वाजपेयी भारतीय जनता पार्टी की स्थापना के बाद पहले अध्यक्ष बने। उन्होंने तीन बार 1996, 1998-99 और 1999-2004 में प्रधानमंत्री के रूप में देश का प्रतिनिधित्व किया। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय फलक पर देश को नई ऊंचाइयों पर प्रतिष्ठित करने वाले वाजपेयी के कार्यकाल में देश ने प्रगति के अनेक आयाम छुए।

अजातशत्रु अटल बिहारी वाजपेयी ने पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के नारे को आगे बढ़ाते हुए ‘जय जवान-जय किसान- जय विज्ञान’ का नारा दिया। देश की सामरिक सुरक्षा पर उन्हें समझौता बिलकुल भी गंवारा नहीं था। वैश्विक चुनौतियों के बावजूद उन्होंने 1998 में पोखरण में पांच भूमिगत परमाणु परीक्षण किए। इस परीक्षण के बाद कई अंतर्राष्ट्रीय शक्तियों द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों के बावजूद वाजपेयी की दृढ़ राजनीतिक इच्छा शक्ति ने इन परिस्थितियों में भी उन्हें अटल स्तंभ के रूप में अडिग रखा। कारगिल युद्ध की भयावहता का उन्होंने डट कर मुकाबला किया और पाकिस्तान को राजनीतिक, कूटनीतिक, रणनीतिक और सामरिक सभी स्तरों पर धूल चटाई।

वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल में देश में विकास के स्वर्णिम अध्याय की शुरूआत हुई। वे देश के चारों कोनों को जोड़ने वाली स्वर्णिम चतुर्भुज जैसी अविस्मरणीय योजना के शिल्पी थे। नदियों के एकीकरण जैसे कालजयी स्वप्न के द्रष्टा थे। मानव के रूप में वे महामानव थे। सर्व शिक्षा अभियान, संरचनात्मक ढांचे के सुधार की योजना, सॉफ्टवेयर विकास के लिए सूचना एवं प्रौद्योगिकी कार्यदल का निर्माण और विद्युतीकरण में गति लाने के लिए केंद्रीय विद्युत नियामक आयोग आदि योजनाओं की शुरुआत कर देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर करने में उनकी भूमिका काफी अनुकरणीय रही। वाजपेयी सरकार की विदेश नीति ने दुनिया में भारत को एक नेतृत्वकर्ता के रूप में प्रतिष्ठित रहा।

अपनी ओजस्वी भाषण शैली, लेखन व विचारधारा के प्रति निष्ठा तथा ठोस फैसले लेने के लिए विख्यात वाजपेयी को कई पुरस्कारों से नवाजा गया। उन्हें 1992 में पद्म विभूषण 1994 में लोकमान्य तिलक पुरस्कार, 1994 में ही श्रेष्ठ सांसद पुरस्कार, भारत रत्न पंडित गोविंद वल्लभ पंत पुरस्कार और 2015 में उन्हें बांग्लादेश के सर्वोच्च अवार्ड फ्रेंड्स ऑफ बांग्लादेश लिबरेशन वार अवॉर्ड से उन्हें सम्मानित किया गया। देश के विकास में अमूल्य योगदान देने एवं अंतर्राष्ट्रीय फलक पर देश को सम्मान दिलाने के लिए वाजपेयी को 2015 में देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत किया गया।

— आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
sonia gandhi
राष्ट्रीय3 hours ago

जीवन भर लोकतांत्रिक मूल्यों के लिए खड़े रहे वाजपेयी – सोनिया गांधी

manish sisodia
शहर3 hours ago

वाजपेयी के सम्मान में शुक्रवार को दिल्ली में स्कूल, दफ्तर रहेंगे बंद

Amit Shah
राजनीति4 hours ago

तिरंगे के अपमान पर अमित शाह पर मुकदमा करेगी बहुजन विजय पार्टी

manmohan singh
राजनीति4 hours ago

वाजपेयी आधुनिक भारत के शीर्षस्थ नेता : मनमोहन

Ratan Tata Lata
मनोरंजन4 hours ago

लता और रतन टाटा ने वाजपेयी के निधन पर शोक जताया

donald-trump
अंतरराष्ट्रीय4 hours ago

ट्रंप के मीडिया पर हमलों के खिलाफ खड़े हुए अमेरिका के 350 अखबार

Kerala Floods
शहर4 hours ago

केरल : मदद व बचाव की गुहार लगा रहे हैं हजारों लोग

Atal-Bihari-Vajpayee
ओपिनियन9 hours ago

अटल बिहारी वाजपेयी : नए भारत के सारथी और सूत्रधार

Atal Behari Atal
ब्लॉग9 hours ago

अटल थे, अटल हैं, अटल रहेंगे!

Atal Bihari Vajpayee
Uncategorized10 hours ago

स्‍मृति-स्‍थल पर शाम चार बजे अटल को अंतिम विदाई

chili-
स्वास्थ्य3 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

School Compound
ओपिनियन4 weeks ago

स्कूली छात्रों में क्यों पनप रही हिंसक प्रवृत्ति?

pimple
लाइफस्टाइल3 weeks ago

मुँहासों को दूर करने के लिए अपनाएंं ये 6 टिप्स…

Kapil Sibal
ब्लॉग3 weeks ago

लिंचिंग के ख़िलाफ़ राजनीतिक एकजुटता ज़रूरी

Mob Lynching
ब्लॉग4 weeks ago

जो लिंचिंग के पीछे हैं, वही उसे कैसे रोकेंगे!

Gopaldas Neeraj
ज़रा हटके4 weeks ago

अब कौन कहेगा, ‘ऐ भाई! जरा देख के चलो’

Indresh Kumar
ओपिनियन3 weeks ago

संघ का अद्भुत शोध: बीफ़ का सेवन जारी रहने तक होती रहेगी लिंचिंग!

Bundelkhand Farmer
ब्लॉग3 weeks ago

शिवराज से ‘अनशनकारी किसान की मौत’ का जवाब मांगेगा बुंदेलखंड

No-trust motion Parliament
ब्लॉग4 weeks ago

बस, एक-एक बार ही जीते विश्वास और अविश्वास

Kashmir Vally
ब्लॉग1 week ago

कश्मीर में नफरत, हिंसा के बीच सद्भाव-भाईचारे की उम्मीद

sui-dhaga--
मनोरंजन4 days ago

वरुण धवन की फिल्म ‘सुई धागा’ का ट्रेलर रिलीज

pm modi
ब्लॉग6 days ago

70 साल में पहली बार किसी प्रधानमंत्री के शब्द संसद की कार्रवाई से हटाये गये

flower-min
शहर1 week ago

योगी सरकार कांवड़ियों पर मेहरबान, हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा

Loveratri-
मनोरंजन2 weeks ago

आयुष शर्मा की फिल्म ‘लवरात्र‍ि’ का ट्रेलर रिलीज

-fanney khan-
मनोरंजन2 weeks ago

मोहम्मद रफी की पुण्यतिथि पर रिलीज हुआ ‘बदन पे सितारे’ का रीमेक

tej pratap-min
राजनीति2 weeks ago

तेज प्रताप का शिव अवतार…देखें वीडियो

nawal kishor yadav-min
राजनीति3 weeks ago

शर्मनाक: बीजेपी विधायक ने गवर्नर को मारने की दी धमकी

Dr Kafeel Khan
शहर3 weeks ago

आर्थिक तंगी से जूझ रहे गोरखपुर के त्रासदी के हीरो डॉक्टर कफील

sonakshi-
मनोरंजन3 weeks ago

डायना पेंटी की फिल्म ‘हैप्पी फिर भाग जाएगी’ का ट्रेलर रिलीज

Lag Ja Gale-
मनोरंजन3 weeks ago

‘साहेब, बीवी और गैंगस्टर 3’ का गाना रिलीज

Most Popular