राष्ट्रीय

आज भारत में स्वतंत्र लेखकों और पत्रकारों हत्‍या की जा रही है: रामचंद्र गुहा

रामचंद्र गुहा, इतिहासकार (फाइल फोटो)

‘आज भारत में स्वतंत्र लेखकों और पत्रकारों का उत्पीड़न किया जा रहा है। सताया जा रहा है यहां तक कि उनकी हत्या की जा रही है।’  ये बात भारत के प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने भाजपा द्वारा भेजे गए नोटिस के जबाब में कही है।

सोमवार (11 सितंबर) को कर्नाटक बीजेपी युवा मोर्चा ने गुहा के खिलाफ कानूनी नोटिस भेजकर संघ के खिलाफ दिए गए बयान पर माफी मांगने को कहा।

नोटिस के अनुसार गुहा ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि दाभोलकर, पनसारे और कलबुर्गी की तरह पत्रकार गौरी लंकेश के हत्यारे भी संघ से जुड़े हो सकते हैं। इसमें यह भी कहा गया है कि गुहा ने इसी प्रकार का बयान एक लेख में भी प्रयोग किया।

नोटिस के अनुसार गुहा का यह बयान वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की दुर्भाग्यपूर्ण हत्या के संदर्भ में आया था। नोटिस में यह भी कहा गया कि आपने आरोप लगाया कि इस मामले में हत्यारे हमारे मूल संगठन (RSS) से जुड़े हुए हैं।

बता दें कि पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को लेकर रामचंद्र गुहा ने एक साक्षातकार में कहा था कि गौरी की हत्या वर्तमान (बीजेपी) सरकार द्वारा प्रोत्साहित नफरत और असहिष्णुता का परिणाम है। उन्होंने कहा था ‘इसकी बहुत संभावना है कि गौरी लंकेश के हत्यारे भी उसी संघ परिवार से जुड़े हों, जिससे जुड़े लोगों ने ही दाभोलकर, पानसारे और कलबुर्गी की हत्या की थी।’ गुहा के इस बयान पर आपत्ति जताते हुए कर्नाटक बीजेपी युवा मोर्चा ने सोमवार(11 सितंबर) को कानूनी नोटिस भेजा है।

बीजेपी की मांग है कि गुहा तीन दिन के भीतर बिना शर्त माफी मांगे। साथ बीजेपी ने कहा कि यदि वह ऐसा नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ सिविल और क्रिमिनल कारवाई कि जाएगी।

नोटिस पर गुहा ने ट्वीट के जरिये जवाब दिया। उन्होंने लिखा, ‘आज भारत में स्वतंत्र लेखकों और पत्रकारों का उत्पीड़न किया जा रहा है। सताया जा रहा है, यहां तक कि उनकी हत्या की जा रही है।’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘अटल बिहारी वाजपेयी ने कहा था एक किताब या लेख का जवाब अन्य लेख या किताब से दिया जा सकता है। लेकिन हम अब वाजपेयी के भारत में नहीं रह रहे हैं।’
बता दें कि गौरी लंकेश की हत्या के बाद लगातार बीजेपी और आरएसएस से जुड़े नेता विवादित बयान दे रहे हैं।

Wefornews Bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top