Connect with us

शहर

आरा में सब्जी तोड़ने गई 3 बच्चियों की सोन नदी में डूबकर मौत

Published

on

drowning
प्रतीकात्मक फोटो

बिहार के आरा के कोइलवर थाना क्षेत्र के ज्ञानपुर गांव में 3 बच्चियों की सोन नदी में डूब जाने से मौत हो गई। तीनों ही बच्चियां सब्जी तोड़ने गईं थी इस दौरान तीनों फिसल गईं और संतुलन खो जाने की वजह से उनकी डूबकर मौत हो गई। नहर से सभी शवों को बरामद कर लिया गया है।

पुलिस के अनुसार, ज्ञानपुर गांव के पास ही नहर के बांध पर गांव की तीन लड़कियां गुरुवार शाम सब्जी तोड़ने गई थीं, इस बीच तीनों फिसल गईं और नहर में जा गिरीं। घटना की सूचना मिलने के बाद गांव के लोगों ने लड़कियों की खोजबीन की लेकिन कहीं कोई पता नहीं चल सका।

कोइलवर के थाना प्रभारी पंकज कुमार ने बताया, “स्थानीय गोताखोरों की मदद से सुबह तीनों शवों को नहर से बरामद कर लिया गया है। मृतकों में ज्ञानपुर गांव निवासी रामप्रीत प्रसाद की बेटी आशा कुमारी और नेहा कुमारी और ललन विंद की बेटी छठी कुमारी शामिल हैं। सभी की उम्र 10 से 12 वर्ष के बीच बताई जा रही है।”

उन्होंने बताया कि सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया है और पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना के बाद से गांव में मातम पसरा है।

WeFerNews

शहर

यूपी के बलिया में किशोरी से गैंगरेप

Published

on

GangRape
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से एक किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है।

यह जानकारी बलिया पुलिस अधीक्षक ने दी। पुलिस अधीक्षक पर्णा गांगुली ने बताया, “किशोरी से सामूहिक दुष्कर्म की घटना मंगलवार की शाम को हुई, उस समय 17 साल की पीड़िता घर से बाहर शौच के लिए गई थी। पीड़िता के पड़ोसी दो युवकों बेचन सिंह और आकाश सिंह ने कथित रूप से किशोरी के साथ दुष्कर्म किया और फिर फरार हो गए।”

उन्होंने बताया कि कोतवाली पुलिस ने लड़की की मां की शिकायत पर दोनों युवकों के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो अधिनियिम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पीड़िता को चिकित्सीय जांच के लिए सरकारी अस्पताल भेजा गया है। आरोपी युवकों की तलाश शुरू कर दी गई है।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

ओडिशा : टाइगर रिजर्व में मृत मिला बाघ

Published

on

wefornews
File Photo

ओडिशा में मध्य प्रदेश से लाए गए तीन साल के रॉयल बंगाल टाइगर की अंगुल जिले के सतकोसिया टाइगर रिजर्व में मौत हो गई है।

इससे ओडिशा के बाघ संवर्धन कार्यक्रम को झटका लगा है। वन विभाग ने गुरुवार को महावीर नाम के बाघ के सतकोसिया रिजर्व में मौत की पुष्टि की है। महावीर को 2018 की शुरुआत में कान्हा टाइगर रिजर्व से सतकोसिया में स्थानांतरित किया गया था।

रिजर्व वन विभाग की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि बाघ महावीर के गले के ऊपरी भाग में गहरा जख्म था जिसमें कीड़े पड़ गए थे, जो उसकी मौत की वजह हो सकती है।प्रोटोकॉल के मुताबिक घटना स्थल से छेड़छाड़ नहीं की गई है।

इसमें कहा गया, “इसलिए विस्तृत पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत की सटीक वजह और घटना के सही समय के बारे में पता चलेगा।” सतकोसिया वन्यजीव विभाग के वन अधिकारी रामस्वामी पी. जांच की अगुवाई करेंगे।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

उत्तराखंड में बर्फबारी, बद्रीनाथ के दर्शन में बढ़ा रोमांच

Published

on

Snowfall

उत्तराखंड की पहाड़ियों में पिछले 24 घंटों में बर्फबारी और राज्य के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हुई है। मौसम विभाग के अधिकारियों ने  यह जानकारी दी।

बुधवार से बद्रीनाथ की पहाड़ियों, गंगोत्री और यमुनोत्री में लगातार बर्फबारी हो रही है और तापमान शून्य से नीचे गिर गया है। पौड़ी, रुद्रप्रयाग, चमोली और उत्तरकाशी में भी हल्की बारिश हुई है। क्षेत्रीय मौसम कार्यालय ने भविष्यवाणी की है कि यह सर्दियों की शुरुआत है।

देहरादून में गुरुवार को न्यूनतम तापमान 11 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। राज्य के कुछ स्थानों में बादल छाए रह सकते हैं। मसूरी में न्यूनतम तापमान 7.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 16.7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है।

जाहिर है ऐसी बर्फबारी में बाबा के दर्शन हो जाएं तो खुद को कौन भाग्यशाली नहीं मानेगा। 20 नवंबर को भगवान बद्रीनाथ के कपाट बंद होने हैं। ऐसे में बचे हुए पांच दिनों भी ज्यादा से ज्यादा दर्शन दर्शनों का लाभ ले लेना चाहते हैं। बदले मौसम ने श्रद्धालुओं के इस अनुभव को और दिव्य बना दिया है।

क्या मंदिर, क्या मकान, क्या गाड़ी , क्या रास्ते सब कुछ बर्फ की मोटी चादर में छिप गए हैं। समूची घाटी में बर्फीली हवाओं के सितम ने लोगों को अलाव की शरण लेने को मजबूर कर दिया है। पूरी बद्रीपुरी बर्फीली ठंड को झेल रही है. तापमान की बात करें तो यहां पर पारा सवेरे के वक्त माइनस 2 डिग्री से लेकर 5 डिग्री सेल्सियस तक लुढ़का रहता है। बर्फबारी भले ही यहां आने वालों के लिए नजारे को खूबसूरत बनाती हो पर स्थानीय निवासियों के लिए परेशानियां लेकर आई है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular