Connect with us

स्वास्थ्य

मरीज को गलती से बताया एचआईवी पॉजिटिव, अस्पताल को बंद करने को कहा

Published

on

hiv-aids-photo-min-wefronewshindi
File Photo

निजी अस्पतालों द्वारा लापरवाही बरतने के एक नए मामले में दिल्ली मेडिकल काउंसिल (डीएमसी) ने स्वास्थ्य सेवा निदेशालय (डीजीएचएस) को शहर के न्यूटेक मेडिकल सेंटर के लाइसेंस को रद्द करने का निर्देश दिया है।

उत्तराखंड के एक युवक को इस संस्थान ने गलती से एचआईवी पॉजिटिव घोषित कर दिया था। डीएमसी के मुताबिक, सलीम अहमद को एक दलाल ने दक्षिण दिल्ली के तैमूर नगर इलाके स्थित न्यूटेक मेडिकल सेंटर में एक मेडिकल फिटनेस परीक्षण के लिए भेजा था।

अस्पताल ने उसे एचआईवी पॉजिटिव बताया। अहमद ने दुबई में नौकरी के लिए आवेदन किया था और यह फिटनेस परीक्षण उसी का एक हिस्सा था। बाद में, गुरुग्राम और उत्तराखंड में अलग-अलग कराए गए परीक्षणों में उसे एचआईवी निगेटिव पाया गया और पूर्ण रूप से फिट घोषित किया गया।

अहमद ने मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया से शिकायत की जिसने मामले को जांच के लिए डीएमसी को अग्रसारित किया। डीएमसी की कार्यकारी समिति ने मेडिकल सेंटर द्वारा एचआईवी परीक्षण रिपोर्ट तैयार करने में लापरवाही की शिकायत की जांच की जिसकी एक कॉपी आईएएनएस के पास मौजूद है।

पत्र में कहा गया है कि न्यूटेक मेडिकल सेंटर के अधीक्षक को बार-बार नोटिस भेजे जाने के बावजूद, वह एक लिखित बयान और अहमद के इलाज, परीक्षण और जांच से संबंधित मेडिकल रिकॉर्ड जमा करने में विफल रहे।

डीजीएचएस को लिखे पत्र में कहा गया है, “मेडिकल सेंटर का यह उद्दंड रवैया बेहद निंदनीय है और प्रबंधन की खराब स्थिति को दर्शाता..यह दिखाता है कि शिकायतकर्ता न्यूटेक मेडिकल सेंटर की अक्षमता का शिकार हुआ है क्योंकि उसे 1 फरवरी, 2017 को प्राप्त रिपोर्ट में गलत तरीके से एचआईवी पॉजिटिव की सूचना मिली जिसके कारण उसे पीड़ा से गुजरना पड़ा।

पत्र में डीजीएचएस से न्यूटेक मेडिकल सेंटर को बंद करने समेत मामले पर कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया है। संस्थान पर आरोप लगाया है कि उसके पास परीक्षण के लिए न तो उचित उपकरण और न ही योग्य चिकित्सक हैं जो लैब को चला सके।

–आईएएनएस

स्वास्थ्य

बुक फेयर की तर्ज पर फिटनेस फेयर

Published

on

Delhi fintness

युवाओं की फिटनेस के प्रति बढ़ती दीवानगी के बीच दिल्ली के प्रगति मैदान में तीन दिवसीय हेल्थ और फिटनेस मेले का समापन हो गया।

बुक फेयर की तर्ज पर दिल्ली के प्रगति मैदान में लगा फिटनेस फेयर

मेले के आखिरी दिन बॉडी-बिल्डिंग से जुड़े लोगों और इसके चाहने वालों का जमावड़ा लगा। इसके साथ ही दिल्ली-एनसीआर से भारी तादाद में युवाओं की भीड़ उमड़ी। मेले में ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार, मिस वर्ल्‍ड फिटनेस श्वेता राठौर, जर्मनी के चर्चित बाॅडी-बिल्डर डेविड हॉफमैन समेत फिटनेस जगत की कई दिग्गज और जानी-मानी हस्तियों ने शिरकत की और युवाओं के साथ फिटनेस और बॉडी-बिल्डिंग के टिप्स साझा किए।

मिस वल्र्ड फिटनेस श्वेता राठौर ने बताया कि बॉॅडी-बिल्डिंग के लिए पैशन के साथ-साथ पेशेंस भी होना चाहिए। अच्छी फिटनेस और बेहतरीन बॉडी के लिए कड़े अनुशासन, सही डाइट, अच्छी क्वालिटी के फिटनेस इक्विपमेंट्स का भी ख्याल रखना चाहिए।

जर्मनी के चर्चित बॉडी-बिल्डर और वीडर इंडिया के ब्रांड एंबेसडर डेविड हॉफमैन ने बताया कि कौन सा प्रोटीन कितनी मात्रा में लेना है, इस बात का ख्याल जरूर रखा जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि फिटनेस के प्रति भारतीय युवाओं का रुझान शानदार है।

कार्यक्रम के अंत में दलेर मेंहदी और गुरु मान के गानों पर युवाओं ने जमकर ठुमके लगाए।

फोटो-ABP

— आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

मानसून के दौरान लेप्टोस्पायरोसिस फैलने का खतरा

Published

on

Leptospirosis-
प्रतीकात्मक तस्वीर

मुंबई में चूहों के जरिये फैलने वाले रोग लेप्टोस्पायरोसिस से चार लोगों की मौत हो जाने के बाद कीट नियंत्रण विभाग ने चूहों के 17 बिलों में कीटनाशक दवा का छिड़काव किया है ताकि रोग को फैलने से बचाया जा सके।

लेप्टोस्पायरोसिस एक जीवाणु रोग है, जो मनुष्यों और जानवरों को प्रभावित करता है। यह लेप्टोस्पिरा जीनस के बैक्टीरिया के कारण होता है। यह संक्रमित जानवरों के मूत्र के जरिये फैलता है, जो पानी या मिट्टी में रहते हुए कई सप्ताह से लेकर महीनों तक जीवित रह सकते हैं।

हार्ट केयर फाउंडेशन (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल ने कहा, “अत्यधिक बारिश और उसके परिणामस्वरूप बाढ़ से चूहों की संख्या में वृद्धि के चलते जीवाणुओं का फैलाव आसान हो जाता है। संक्रमित चूहों के मूत्र में बड़ी मात्रा में लेप्टोस्पायर्स होते हैं, जो बाढ़ के पानी में मिल जाते हैं।

जीवाणु त्वचा या (आंखों, नाक या मुंह की झल्ली) के माध्यम से शरीर में प्रवेश कर सकते हैं, खासकर यदि त्वचा में कट लगा हो तो।” उन्होंने कहा, ” दूषित पानी पीने से भी संक्रमण हो सकता है। उपचार के बिना, लेप्टोस्पायरोसिस गुर्दे की क्षति, मेनिनजाइटिस (मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के चारों ओर सूजन), लीवर की विफलता, सांस लेने में परेशानी और यहां तक कि मौत का कारण भी बन सकता है।”

लेप्टोस्पायरोसिस के कुछ लक्षणों में तेज बुखार, सिरदर्द, ठंड, मांसपेशियों में दर्द, उल्टी, पीलिया, लाल आंखें, पेट दर्द, दस्त आदि शामिल हैं। किसी व्यक्ति के दूषित स्रोत के संपर्क में आने और बीमार होने के बीच का समय दो दिन से चार सप्ताह तक का हो सकता है।

डॉ. अग्रवाल ने कहा, “बीमारी का रोगी के इतिहास और शारीरिक जांच के आधार पर निदान किया जाता है। गंभीर लक्षणों वाले मरीजों को उचित चिकित्सा परीक्षण कराने को कहा जाता है। शुरुआती चरण में लेप्टोस्पायरोसिस का निदान करना मुश्किल होता है, क्योंकि लक्षण फ्लू और अन्य आम संक्रमणों जैसे ही प्रतीत होते हैं।

लेप्टोस्पायरोसिस का इलाज चिकित्सक द्वारा निर्धारित विशिष्ट एंटीबायोटिक्स के साथ किया जा सकता है। डॉ. अग्रवाल ने कुछ सुझाव दिए जैसे कि गंदे पानी में घूमने से बचें। चोट लगी हो तो उसे ठीक से ढंके। बंद जूते और मोजे पहन कर चलें। मधुमेह से पीड़ित लोगों के मामले में यह सावधानी खास तौर पर महत्वपूर्ण है।

अपने पैरों को अच्छी तरह से साफ करें और उन्हें मुलायम सूती तौलिए से सुखाएं। गीले पैरों में फंगल संक्रमण हो सकता है। पालतू जानवरों को जल्दी से जल्दी टीका लगवाएं, क्योंकि वे संक्रमण के संभावित वाहक हो सकते हैं।

उन्होंने कहा, “जो लोग लेप्टोस्पायरोसिस के उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में आते-जाते हैं, उन्हें तालाब में तैरने से बचना चाहिए। केवल सीलबंद पानी पीना चाहिए। खुले घावों को साफ करके ढंक कर रखना चाहिए।”

— आईएएनएस

Continue Reading

स्वास्थ्य

बेहद चिन्ताजनक है एंटीबायोटिक्स का बेअसर होते जाना

Published

on

प्रतीकात्मक फोटो

भारत सहित कई देशों में एंटीबायोटिक दवाओं की आपूर्ति बढ़ने से वैश्विक स्तर पर एंटीबायोटिक का असर बुरी तरह बेअसर होता जा रहा है। ऐसा एक शोध में सामने आया है, जिसमें कानून को बेहतर तरीके से तत्काल लागू करने की जरूरत बताई गई है।

शोध में पाया गया है कि 2000 व 2010 के बीच एंटीबायोटिक्स का उपभोग वैश्विक रूप से बढ़ा है और यह 50 अरब से 70 अरब मानक इकाई हो गया है। इसके इस्तेमाल में वृद्धि में प्रमुख रूप से भारत, चीन, ब्राजील, रूस व दक्षिण अफ्रीका में हुई है।

ऑस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के इमानुएल एडेवुयी ने कहा, “एंटीबायोटिक दवाओं का अत्यधिक इस्तेमाल एंटीबायोटिक के प्रतिरोध के फैलाव व विकास को सुविधाजनक बना सकता है। उदाहरण के लिए करीब 57,000 नवजात सेप्सिस की मौतें एंटीबायोटिक प्रतिरोधी संक्रमण के कारण होती हैं।”

इससे अमेरिका में सा लाना 20 लाख संक्रमण व 23,000 मौतें होती हैं और यूरोप में हर साल करीब 25,000 मौतें होती हैं। एडेयुवी ने कहा, “विकासशील देशों में एंटीबायोटिक प्रतिरोधी संक्रमण के भरोसेमंद अनुमानों की कमी है, लेकिन माना जाता है कि इन देशों में कई और मौतों का कारण बनती हैं।”

इस शोध का प्रकाशन ‘द जर्नल ऑफ इंफेक्शन’ में किया गया है। इसमें 24 देशों के शोध का विश्लेषण किया गया है।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
tejashwi yadav-min
राजनीति1 min ago

शासन व्यवस्था में बिहार के फिसड्डी रहने पर नीतीश जिम्मेदार : तेजस्वी

Gmail-
टेक16 mins ago

जीमेल यूजर को साइबर खतरे की चेतावनी

supreme court
राष्ट्रीय30 mins ago

अलवर मॉब लिंचिंग पर सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर

Congress-reuters
चुनाव48 mins ago

पचमढ़ी छावनी परिषद चुनाव में बीजेपी को पछाड़ कांग्रेस ने लहराया परचम

PURANA PATEL-
मनोरंजन54 mins ago

प्रफुल पटेल की बेटी के वेडिंग रिसेप्शन में सलमान-शाहरुख़ समेत पहुंचे कई सितारें, देखें तस्वीरें

parliament-min
राष्ट्रीय1 hour ago

मानसून सत्र: संसद में कार्यवाही जारी

jantar-mantar
राष्ट्रीय1 hour ago

जंतर-मंतर पर धरना-प्रदर्शन की रोक हटी

uddhav
राजनीति2 hours ago

गाय की रक्षा हो रही है महिलाओं की नहीं: शिवसेना

Delhi fintness
स्वास्थ्य2 hours ago

बुक फेयर की तर्ज पर फिटनेस फेयर

Leptospirosis-
स्वास्थ्य3 hours ago

मानसून के दौरान लेप्टोस्पायरोसिस फैलने का खतरा

TEMPLE-min
ज़रा हटके6 days ago

भारत के इन मंदिरों में मिलता है अनोखा प्रसाद

theater-min
ज़रा हटके3 weeks ago

ये हैं दुनिया के सबसे शानदार थिएटर…

finland-min
ज़रा हटके2 weeks ago

रुकने के लिए ही नहीं एडवेंचर के लिए भी खास हैं ये जगह

Santa Monica Pier Area-Ocean Ave
ब्लॉग4 weeks ago

दुनिया के सबसे रोमांटिक डेस्टीनेशंस में से एक है सैंटा मोनिका

Social Media Political Communication in India
टेक3 weeks ago

अभी तो परमात्मा भी हमें सोशल मीडिया के प्रकोप से नहीं बचा सकता!

Madhubani Painting
ज़रा हटके4 weeks ago

मधुबनी पेंटिंग से बदली पटना के विद्यापति भवन की रंगत

FURINTURE
लाइफस्टाइल4 weeks ago

मानसून में फर्नीचर की सुरक्षा के लिए ऐसे करें तैयारी

oily-skin--
लाइफस्टाइल4 weeks ago

अगर ऑयली स्किन से है परेशान तो अपनाएं ये 5 टिप्स…

Zomato
लाइफस्टाइल4 weeks ago

जोमैटो 25 नए शहरों में कारोबार शुरू करेगा

india_rape_victim
ज़रा हटके2 weeks ago

और कितनी निर्भयाएं..? झकझोरती हकीकत..!

Odisha
शहर2 days ago

ओडिशा में डूबी ट्रेन, देखें वीडियो

Rahul-Hugs-Modi
राजनीति3 days ago

मोदी के गले लगे राहुल, कहा- यह कांग्रेस है

Kapil Sibal
राजनीति4 days ago

मोदी राज में देश की न्यायिक व्यवस्था प्रदूषित हो चुकी है: कपिल सिब्बल

saheb-biwi-aur-gangster-
मनोरंजन1 week ago

संजय की फिल्म ‘साहब बीवी और गैंगस्टर 3’ का पहला गाना रिलीज

Aitbh bacchan-
मनोरंजन1 week ago

बॉलीवुड के इन बड़े सितारों के लाखों ट्विटर फॉलोवर हुए कम

मनोरंजन1 week ago

पर्दे पर मधुबाला और मीना कुमारी का जादू लाना चाहती हूं: जाह्नवी कपूर

fanney-khan-
मनोरंजन2 weeks ago

‘जवां है मोहब्बत…’ पर ख़ूब थिरकीं ऐश्वर्या, देखें वीडियो

mulk--
मनोरंजन2 weeks ago

ऋषि कपूर की फिल्म ‘मुल्क’ का ट्रेलर रिलीज

Dilbar Song Satyameva Jayate
मनोरंजन3 weeks ago

‘Satyameva Jayate’ का नया गाना हुआ रिलीज, नोरा फतेही ने दिखाया बेली डांस

मनोरंजन3 weeks ago

‘सूरमा’ का नया गाना ‘गुड मैन दी लालटेन’ रिलीज

Most Popular