टेटे विश्व कप : साथियान अंतिम-16 दौर में हारे | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

खेल

टेटे विश्व कप : साथियान अंतिम-16 दौर में हारे

Published

on

Sathiyan

चेंग्दू (चीन): भारत के स्टार टेबल टेनिस खिलाड़ी गनासेकरन साथियान आईटीटीएफ मेन्स वल्र्ड कप से बाहर हो गए हैं। साथियान को अंतिम-16 दौर के मुकाबले में जर्मनी के टीमो बुल से हार मिली।

फ्रांस के साइमन गौझी और डेनमार्क के जोनाथन ग्रोथ को हराकर मुख्य दौर में जगह बनाने वाले साथियान को टीमो के हाथों 1-4 (11-7, 8-11, 5-11, 9-11, 8-11) से हार मिली।

अपना पहला विश्व कप खेल रहे वर्ल्ड नम्बर- 30 साथियान जर्मन प्रतिद्वंद्वी की चुनौती का सामना नहीं कर सके और एकतरफा हार को मजबूर हुए।

साथियान ने शानदार प्रदर्शन कर पहला गेम 11-7 से अपने नाम कर लिया था लेकिन बाद में वह लय से भटक गए और लगातार चार गेम गंवाकर मुकाबले से बाहर हो गए।

साथियान के लिए हालांकि इस इवेंट में गौझी और जोनाथन के हराना बड़ी सफलता कही जा सकती है। वर्ल्ड नम्बर-12 गौझी और वर्ल्ड नम्बर-14 जोनाथन के खिलाफ साथियान इससे पहले कभी जीत नहीं हासिल कर सके थे।

–आईएएनएस

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − 14 =

खेल

राहुल ने की चहल की टांग खींची

Published

on

Virat Kohli

भारतीय टीम ने पहले टी-20 मैच में विंडीज को छह विकेट से हराया। भारत की इस जीत के हीरो रहे कप्तान विराट कोहली और सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल।

दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 100 रनों की साझेदारी की। मैच के बाद राहुल ने लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल के ‘चहल टीवी’ पर मौजूदगी दर्ज कराई और अपनी पारी के बारे में बात की।

राहुल ने इस मैच में 62 रनों की पारी खेली और इसी के साथ टी-20 में अपने 1000 रन भी पूरे किए।

बातचीत के दौैरान चहल ने राहुल से पूछा, “अब आप 1000 रन बना चुके हैं। क्या आप जानते हैं कि आप टी-20 में मुझसे कितने रन आगे हैं।”

राहुल ने इसके मजाकिया जवाब देते हुए कहा, “मैं आपसे 999 रन आगे हूं।” मैच के बारे में राहुल ने कहा, “हमने पहली पारी में देखा कि जब बल्लेबाज विकेट पर सेट हो रहे थे तो रन आसानी से बन रहे थे।

विकेट थोड़ी अजीब थी, यह फ्लैट नहीं थी लेकिन दोनों टीमें 200 से ज्यादा रन बनाने में सफल रहीं इसलिए विकेट के बारे में शिकायत नहीं कर सकते।”

उन्होंने कहा, “शुरुआत में, दूसरे ओवर में मुझे दो-तीन बाउंड्रीज मिलीं, लेकिन दुर्भाग्यवश रोहित जल्दी आउट हो गए। इसके बाद विराट आए और मेरे लिए साझेदारी करना अहम हो गया। यह अच्छा रहा था कि विराट अंत तक टिके रहे।”

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

कबड्डी की तरह ही खो खो को भी पहचान मिलनी चाहिए : कप्तान बोकार्डे

Published

on

नई दिल्ली: दक्षिण एशियाई खेलों में लगातार दो बार स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय राष्ट्रीय पुरुष खो खो टीम के कप्तान बालासाहेब बोकार्डे का मानना है कि कबड्डी की तरह खो खो भी जनमानस और जमीन से जुड़ा हुआ खेल है, ऐसे में देश में बीते कुछ सालो में कबड्डी को जितना प्यार और सम्मान मिला है, उसी तरह का सम्मान खो खो को भी मिलना चाहिए।

कबड्डी की तरह ही देश के प्राचीन खेलों में से एक खो खो को 2016 में दक्षिण एशियाई खेलों में शामिल किया गया था। भारत की पुरुष टीम ने उस साल भी स्वर्ण पदक जीता था और टीम ने इस बार भी नेपाल में हुए दक्षिण एशियाई खेलों के फाइनल में बांग्लादेश को हराकर लगातार दूसरी बार यह खिताब जीता है।

टीम की इस जीत से उत्साहित कप्तान बोकार्डे का मानना है कि खो खो को कबड्डी की तरह ही पहचान मिलनी चाहिए।

बोकार्डे ने आईएएनएस से साक्षात्कार में कहा, “कबड्डी की तरह ही खो खो भी भारत का प्राचीन खेल है और हममें से किसी न किसी ने बचपन में जरूर खो खो खेला होगा। यह खेल बहुत प्रसिद्ध है लेकिन इसके बढ़ावा कम मिला है। अब जबकि इस खेल में भी लीग शुरू होने जा रही है, तो आशा है कि खो खो भी कबड्डी की तरह ही प्रसिद्ध होगा और इसके खिलाड़ियों को भी उसी तरह का मान-सम्मान मिलेगा, जोकि अन्य खेलों के खिलाड़ियों को मिलता है।”

कप्तान ने कहा कि उनकी टीम दक्षिण एशियाई खेलों में अपने खिताब का बचाव करने को लेकर आश्चस्त थी। उन्होंने कहा, “मुझे पूरा विश्वास था कि मेरी टीम, जिसने पिछली बार स्वर्ण पदक जीता था, इस बार भी अपना खिताब बचाने में सफल होगी। हम लोग खिताब बचाने की पूरी उम्मीद के साथ मैट पर उतरे थे।”

यह पूछे जाने पर कि टूर्नामेंट में किस तरह की चुनौती का सामना करना पड़ा, उन्होंने कहा, “मुझे नहीं लगता है कि किसी भी टीम के खिलाफ हमें कड़ी चुनौती मिली। लेकिन बांग्लादेश के खिलाफ हमें चुनौती का सामना करना पड़ा। उन्होंने भी अच्छा प्रदर्शन किया। उनकी स्पीड बहुत अच्छी थी, हमने जो तकनीक और रणनीति बनाई थी, उनमें वे फंस गए और हमने उन्हें आसान से हरा दिया।”

कप्तान ने कहा कि दक्षिण एशियाई खेलों के अलावा अब उनका लक्ष्य अन्य इंटरनेशनल टूर्नामेंट में भारत को स्वर्ण पदक दिलाना है। उन्होंने कहा, “दक्षिण एशियाई खेलों के बाद हमें एशियन चैंपियनशिप और विश्व चैंपियनशिप में भी भाग लेना है। इसे देखते हुए अब हमारा अगला लक्ष्य इन टूर्नामेंटों में भी देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना है।”

देश में इस खेल को और ज्यादा बढ़ावा देने के लिए भारतीय खो खो महासंघ इन दिनों कई आयु वर्ग में राष्ट्रीय टूर्नामेंटों का आयोजन कर रहा है और कप्तान बोकार्डे संघ के इस प्रयास से काफी खुश हैं।

बोकार्डे ने कहा, “वास्तव में संघ अभी बहुत अच्छा काम कर रही है। समय-समय पर राष्ट्रीय टूर्नामेंटों का आयोजन कर रही है और विजेताओं को नकद पुरस्कार दे रही है। हमारे अधिकारियों के प्रयास के कारण ही हम शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। संघ खो खो को आगे लेकर जा रही है और इसमें हम उनके साथ हैं।”

बोकार्र्डे ने खो खो टीम में आए बदलावों को लेकर कहा, “मैं 2016 की टीम में भी था और इस बार की टीम में भी मुझे कप्तानी करने का मौका मिला है। अंतर केवल इतना ही है कि उस टीम में कई अनुभवी खिलाड़ी शामिल थे जबकि इस टीम में युवाओं और अनुभवी खिलाड़ियों का अच्छा मिश्रण है।”

यह पूछे जाने पर कि भारतीय खो खो को आगे ले जाने के लिए और क्या किया जाना चाहिए, कप्तान ने कहा, “टीम को एकजुट होकर काम करना चाहिए और टीम ऐसा ही कर रही है। सुधांशु मित्तल, राजीव मेहता सर की एक ऐसी टीम है, जो खो खो को काफी आगे लेकर जा रही है। पहले खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में खेलने का मौका नहीं मिलता था और केवल राष्ट्रीय टूर्नामेंट ही खेलते थे। पहलै पैसे भी पूरे नहीं मिलते थे, लेकिन अब इस खेल को काफी बढ़ाया दिया जा रहा है और खिलाड़ी इससे उत्साहित हो रहे हैं।”

खो खो महासंघ ने देश में इस खेल को बढ़ावा देने के लिए लीग शुरू करने की घोषणा की है।

बोकार्डे ने कहा, “देश में खो खो को सही से बढ़ावा देने के लिए उसको एक पहचान देना जरूरी है। संघ ने अल्टीमेट खो खो लीग की घोषणा करके इसकी शुरूआत कर दी है। हम लोग इस लीग को लेकर काफी उत्साहित हैं। उम्मीद है कि यह एक पेशेवर लीग होगी। भारत में खो खो एक पुराना खेल है और जब लोग इसे टीवी पर देखेंगे तो इसे और ज्यादा बढ़ावा मिलेगा।”

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

आक्रामक क्रिकेट खेलो लेकिन प्रतिद्वंद्वी का भी सम्मान करो : कोहली

Published

on

Virat-Kohli-

हैदराबाद: भारतीय कप्तान विराट कोहली का मानना है कि खिलाड़ियों के लिए यह जरूरी है कि वे आक्रामक क्रिकेट खेलें, लेकिन उससे भी जरूरी यह है कि वे अपने प्रतिद्वंद्वी का सम्मान करें।

कोहली (नाबाद 94) की बेहतरीन तूफानी पारी के दम पर भारत ने यहां राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए पहले टी-20 मैच में विंडीज द्वारा रखे गए 208 रनों के विशाल लक्ष्य को आसान साबित कर छह विकेट से जीत दर्ज की। यह भारत द्वारा टी-20 में हासिल किया गया अभी तक का सबसे बड़ा लक्ष्य है।

मैच के दौरान वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाज केसरिक विलियम्स और कोहली के बीच कई बार नोंकझोक देखने को मिली।

कोहली ने मैच के बाद कहा, “नहीं, ऐसा सीपीएल में नहीं है। केसरिक ने मुझे जमैका में आउट करने के बाद नोटबुक दी थी। मुझे वह बात याद थी, इसलिए मैंने ऐसा किया। हालांकि मैच के बाद हमने एक-दूसरे से हाथ मिलाया। मेरा यही मानना है कि प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलो और विपक्ष का सम्मान करो।”

विलियम्स ने 2017 में विराट को आउट करने के बाद नोटबुक स्टाइल में गुड बाय कहा था और भारतीय कप्तान उसे अब तक नहीं भूले थे।

कोहली ने इंस्टाग्राम पर मैच के कुछ फोटो भी पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, “सीरीज की अच्छी शुरुआत। आज की जीत से काफी कुछ सकारात्मक चीजें मिली।”

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Pensioners protest
राष्ट्रीय2 hours ago

दिल्ली : ईपीएस 95 के पेंशनधारको ने रामलीला मैदान पर की विशाल रैली

Onion Price
शहर3 hours ago

बेंगलुरू में 200 रुपये किलो पहुंचा प्याज

Justice Sharad Arvind Bobde
राष्ट्रीय3 hours ago

बदले की भावना से किया न्याय मूल चरित्र खो देता है : सीजेआई

Rahul Gandhi PM modi
राष्ट्रीय4 hours ago

भारत दुनिया की दुष्कर्म राजधानी : राहुल गांधी

Onion
शहर4 hours ago

प्याज कीमतों में उछाल के कारण गोवा में पर्यटन में गिरावट : मंत्री

Amarinder Singh
शहर4 hours ago

नागरिक संशोधन विधेयक को मंजूरी नहीं देगा पंजाब : कैप्टन अमरिंदर सिंह

unnao rape case
राष्ट्रीय4 hours ago

उन्नाव घटना पर गम, गुस्सा और अनसुलझे सवाल

garlic
ज़रा हटके4 hours ago

बिहार में लुटेरों ने वैन से 1920 किलो लहसुन लूटे

Whatsapp Group
टेक6 hours ago

वॉटस्ऐप में आया कॉल वेटिंग फीचर

राष्ट्रीय6 hours ago

उन्नाव की बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए दिल्ली में कैंडल मार्च

exercise-
लाइफस्टाइल4 weeks ago

शाम का व्यायाम सुबह की कसरत जितना लाभकारी

लाइफस्टाइल15 hours ago

टाइप-2 डायबिटीज से हृदय रोग का खतरा ज्यादा

cancer
लाइफस्टाइल3 weeks ago

दांतों की वजह से भी हो सकता है जीभ का कैंसर

Stomach-
स्वास्थ्य4 weeks ago

पेट दर्द या अपच को कभी न करें अनदेखा…

लाइफस्टाइल2 weeks ago

मलेरिया में भूलकर भी इन चीजों का न करें सेवन…

Sleep-Nap
स्वास्थ्य3 weeks ago

मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करती है अशांत नींद

weight-loss-min
स्वास्थ्य3 weeks ago

वेट लूज करने के लिए करें ये काम…

e-cigarette
स्वास्थ्य3 weeks ago

मसालेदार ई-सिगरेट से हृदय रोग का जोखिम ज्यादा

Heart Attack
स्वास्थ्य4 weeks ago

इस बैक्टीरिया के सेवन से दिल की बीमारी का खतरा होगा कम

Breast Cancer
स्वास्थ्य5 days ago

स्तन कैंसर से बढ़ जाता है हृदय रोग का खतरा

मनोरंजन12 hours ago

Disha Patani ने अपने बेडरूम सीक्रेट का खुलासा किया

Hrithik Roshan
मनोरंजन12 hours ago

एशिया के सबसे सेक्सी पुरुष बने Hrithik Roshan: रिपोर्ट

Shilpa Shetty
मनोरंजन4 days ago

Lucknow में मक्खन मलाई का आनंद लेती नजर आई Shilpa Shetty

Shweta Tripathi-
मनोरंजन4 days ago

खाना बनाना और अभिनय में काफी समानताएं : Shweta Tripathi

Prakash Jha,
मनोरंजन1 week ago

Prakash Jha के वेब शो में शामिल बॉबी, चंदन रॉय सान्याल

Rakhi sawant-
मनोरंजन2 weeks ago

मैं डोनाल्ड ट्रंप की बहू हूं : Rakhi Sawant

Salman Khan-
मनोरंजन2 weeks ago

सलमान-सोनाक्षी ने दिव्यांग बच्चों के साथ किया डांस, देखें वीडियो

Hrithik Roshan-m
मनोरंजन2 weeks ago

जब Airport पर अपने कूल अंदाज में दिखे Hrithik

Sona Mohapatra-
मनोरंजन2 weeks ago

अनु मलिक का हटना, सांकेतिक जीत : Sona Mohapatra

hindu arabic teacher gopalika antarjanam
ब्लॉग2 weeks ago

केरल की ब्राह्मण महिला गोपाल‍िका अंतरजन्‍म ने 27 साल तक पढ़ाई अरबी ज़बान

Most Popular