राष्ट्रीय

जमानत के लिए दस हजार रुपये भी नहीं जुटे इन ग्रामीणों के पास!

Sonshi villagers
Family members of the arrested Sonshi villagers have no clue how to secure their release.(Nida Khan/HT Photo)

गोवा की राजधानी पणजी से 57 किलोमीटर दूर वालपोई जिले में स्थित सोनशी गांव में गरीबी को लेकर अजीबोंगरीब हालात बन गए हैं। गांव के 45 लोगों को अब भी जेल में रहना पड़ रहा है, क्योंकि उनके पास जमानत के लिए दस हजार रुपये मुचलका भरने की भी रकम नहीं हैं।

मजे की बात ये है कि कुछ समय पहले तक ग्रामीणों को कांग्रेस के नेता विश्वजीत राणे से मदद की उम्मीद थी लेकिन गोवा विधानसभा चुनाव के बाद वो उम्मीद भी इसलिए टूट गई, क्योंकि यहां से चुनाव जीतने के बावजूद विश्वजीत ने न सिर्फ विधायक पद से इस्तीफा दे दिया, बल्कि वो कांग्रेस को छोड़ बीजेपी में चले गए।

गोवा की राजधानी पणजी से करीब 57 किलोमीटर दूर सोनशी गांव में कुल 75 परिवार हैं। गांव से सटे इलाके में खनन माफिया लंबे समय से सक्रिय रहा है। इसकी वजह से गांव की आवोहवा बेइंतहां खराब हो गई थी। लौह अयस्क के खनन की वजह से उड़ने वाली लाल रंग की धूल ने ग्रामीणों का जीना मुहाल कर रखा था। उन्होंने इसके खिलाफ प्रशासन से खूब शिकायतें कीं लेकिन खनन माफिया के दबदबे के आगे उनकी एक नहीं चली।

थक-हारकर ग्रामीणों ने अदालतों में गुहार लगाने की ठानी। बॉम्बे हाईकोर्ट की गोवा पीठ से जब ग्रामीणों को मायूसी मिली तो उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। सुप्रीम कोर्ट ने पहले तो फौरीतौर पर खनन पर रोक लगा दी लेकिन पिछले साल अक्टूबर में अपने अंतिम फैसले में खनन को बहाल कर दिया। इससे ग्रामीणों का जीवन एक बार फिर से नरकीय बन गया। लिहाजा वो अब स्थानीय स्तर पर ही खनन का विरोध करने लगे।

अखबार हिंदुस्तान टाइम्स में प्रकाशित सोनशी गांव की दुर्दशा को लेकर 60 साल की सुशीला गावड़े कहती हैं, ‘खनन का काम शुरू होते ही गांव का एकमात्र कुआं भी सूख गया। यहां पीने के पानी की जबरदस्त समस्या है। यहां उड़ने वाली लाल धूल से बच्चों को सांस लेने में बहुत दिक्कत होती है। गांव के स्कूल में 40 बच्चे पढ़ते थे लेकिन खनन के फिर से शुरू होने के बाद, तमाम बच्चों ने पांच किलोमीटर दूर दूसरे स्कूल में दाखिला ले लिया। अब गांव के स्कूल में केवल आठ बच्चे ही बचे हैं।’

WEFORNEWS BUREAU

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top