Connect with us

राष्ट्रीय

ताज के लिए मोदी-योगी सरकार को लगी कड़ी फटकार

Published

on

taj-mahal
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

नई दिल्ली। ताजमहल के आसपास बढ़ रहे प्रदूषण पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने उत्‍तर प्रदेश और केंद्र सरकार को जमकर फटकार लगाई। कोर्ट ने कहा कि सरकार ताज को लेकर गंभीर नहीं है और ना ही इसकी परवाह है।

कोर्ट ने मोदी-योगी सरकार को लताड़ लगाते हुए कहा कि ताजमहल को सरंक्षण दो या बंद कर दो या ध्वस्त कर दो। एफ़िल टॉवर को देखने 80 मिलियन लोग आते हैं, जबकि ताज को देखने मिलियन। कोर्ट ने कहा कि सरकार ने ताज को लेकर लापरवाह रवैया दिखाया है।

सुप्रीम कोर्ट ने योगी सरकार को फटकार लगाते हुए कहा कि सरकार ने स्टैंडिंग कमेटी की रिपोर्ट को नजरअंदाज किया। सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा है कि ताजमहल के आसपास उद्योगों को बढ़ाने के लिए अनुमति क्‍यों दी गई? कोर्ट ने कहा कि पेरिस के ऐफेल टॉवर से सरकार सीखे कि ऐतिहासिक इमारतों को कैसे सहेज कर रखा जाता है।

बता दें कि इंडस्ट्रीयल एरिया होने के कारण आगरा में पिछले 30 सालों में वायु प्रदूषण का स्तर तेजी से बढ़ा है। मई 2018 में विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी वायु प्रदूषण डेटाबेस से पता चला कि आगरा सबसे खराब हवा के मामले में आठवें स्थान पर है।

इस ऐतिहासिक इमारत को प्रदूषण से बचाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट 31 जुलाई से रोजाना सुनवाई करेगा। कोर्ट ने आगरा में ताजमहल के आसपास प्रदूषण के स्रोत पता करने के लिए एक विशेष समिति के गठन का आदेश दिया और इसे रोकने के उपायों का सुझाव दिया।

WeForNews

चुनाव

इवीएम मामले में चुनाव आयोग, सरकार को नोटिस

अदालत में यह जनहित याचिका एक आरटीआई (सूचना का अधिकार) कार्यकर्ता द्वारा दाखिल की गई है।

Published

on

Election Commissioner

मुंबई, 19 सितम्बर | इलेक्ट्रॉकनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर दाखिल एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए बंबई उच्च न्यायालय ने बुधवार को भारतीय निर्वाचन आयोग, महाराष्ट्र राज्य निर्वाचन आयोग और ईवीएम बनाने वाले सार्वजनिक क्षेत्र के दो उपक्रमों व अन्य को नोटिस जारी किया है।

अदालत में यह जनहित याचिका एक आरटीआई (सूचना का अधिकार) कार्यकर्ता द्वारा दाखिल की गई है।

आरटीआई कार्यकर्ता मनोरंजन एस. रॉय द्वारा दाखिल जनहित याचिका पर न्यायमूर्ति एस. एस. केमकर और न्यायमूर्ति एस. वी. कोटवल ने निर्वाचन आयोग के अलावा, केंद्रीय गृह मंत्रालय, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग और महाराष्ट्र सरकार को भी नोटिस भेजा है। अदालत ने ईवीएम विनिर्माता कंपनी इलेक्ट्रॉनिक्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड और भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड (बीईएल) को भी नोटिस भेजपा गया है।

रॉय के वकील पी. पवार के अनुसार, मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद हो सकती है।

याचिकाकर्ता ने निर्वाचन आयोग और विभिन्न राज्यों के निर्वाचन आयोगों द्वारा दिए गए ईवीएम और वोटर वेरीफायड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) के ऑर्डर और दोनों कंपनियों द्वारा की गई आपूर्ति के आंकड़ों में भारी गड़बड़ी को उजागर किया है।

रॉय द्वारा हाल ही में सूचना का अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी में यह प्रकाश में आया है कि बेंगलुरु स्थित बीईएल ने भारी तादाद में ईवीएम हाथोंहाथ डिलीवरी और डाक के माध्यम से अज्ञात लोगों को भेजा है।

आरटीआई के जरिए मांगी गई जानकारी के बदले राय को जो जवाब मिला है उसके अनुसार बीईएल ने मशीनों की 820 मतदान इकाइयां (बीयू) भेजी थीं। इसके अलावा अप्रैल 2017 में दो बार इसने 245 वीवीपैट कुछ प्राप्तकर्ताओं को सौंपा।

रॉय ने आईएएनएस से बातचीत में कहा कि बीईएल ने यह नहीं बताया कि दोनों अवसरों पर इसने बीयू किसको भेजा या कहां से वीवीपैट भेजा गया और क्या प्राप्तकर्ता ने उसे सुरक्षित प्राप्त किया।

रॉय ने कहा कि 820 बीयू की पूरी खेप डाक के माध्यम से भेजा गया और कुल प्रेषित माल के लिए सिर्फ नौ नाम पत्र की संख्या दर्ज की गई। प्रेषित माल 50 बीयू के दो बक्से और 60, 70, 80, 90, 100, 110 और 210 बीयू के एक-एक बक्से में भेजे गए।

रॉय ने कहा, “यह भ्रामक सूचना है क्योंकि हरेक बक्से का एक विशेष आकार होता है जो बीयू की माप पर निर्भर करता है। बीईएल के जवाब से जाहिर होता है कि पूरा प्रेषित माल नौ बक्से में भेजा गया, जबकि भारतीय डाक न तो इतना बड़ा पार्सल स्वीकार करता है और न ही इसके संचालन के लिए सक्षम है।”

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

हिंदी अकादमी के उपाध्यक्ष विष्णु खरे का निधन

Published

on

vishnu khare
हिंदी अकादमी के उपाध्यक्ष विष्णु खरे (फाइल फोटो)

हिंदी अकादमी के उपाध्यक्ष विष्णु खरे का बुधवार को निधन हो गया। बुधवार को ब्रेन हेमरेज के बाद उनको दिल्ली के जीबी पंत सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया था जहां आज उन्होंने अंतिम सास ली। डॉक्टरों की मानें तो उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी।

अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक, विष्णु खरे के उपचार में कई वरिष्ठ डॉक्टरों की टीमें तैनात की गई थी। वे आईसीयू में थे। न्यूरो सर्जरी विभाग के दो वरिष्ठ अधिकारी उनकी मॉनिटरिंग कर रही थी।

हिंदी अकादमी का उपाध्यक्ष बनने के बाद कुछ दिन से दिल्ली में रह रहे सुप्रसिद्ध कवि एवं पत्रकार विष्णु खरे को नाइट ऑफ द व्हाइट रोज सम्मान, हिंदी अकादमी साहित्य सम्मान, शिखर सम्मान, रघुवीर सहाय सम्मान, मैथिलीशरण गुप्त सम्मान से नवाजा जा चुका है।

WeForNews 

 

Continue Reading

राष्ट्रीय

तीन तलाक पर अध्यादेश को मंजूरी, कांग्रेस बोली- ‘बीजेपी का मकसद सिर्फ चुनावी फायदा’

Published

on

triple talaq-min (1)
प्रतीकात्मक तस्वीर

केंद्रीय कैबिनेट ने तीन तलाक अध्यादेश को मंजूरी दे दी। तीन तलाक अब देना अपराध है। बता दें कि नए बिल में तीन तलाक (तलाक-ए-बिद्दत) के मामले को गैर जमानती अपराध माना गया है लेकिन संशोधन के हिसाब से अब मजिस्ट्रेट को जमानत देने का अधिकार होगा। कांग्रेस ने इसे मोदी सरकार का चुनावी हथकंडा बताया।

कांग्रेस ने अध्यादेश लाने पर मोदी सरकार की निंदा की। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार इस अध्यादेश के जरिए मुस्लिम महिलाओं की सुरक्षा और उनका कल्याण नहीं कर रही, बल्कि वो इसे अपना चुनावी मुद्दा बनाकर कल्याण करना चाह रही है।

गौरतलब है कि लोकसभा से पारित होने के बाद यह बिल राज्यसभा में अटका था। कांग्रेस समेत अन्य दलों ने संसद में विधेयक में संशोधन की मांग की थी। हालांकि संशोधन के बावजूद यह विधेयक राज्यसभा से पारित नहीं हो पाया था। बता दें कि यह अध्यादेश छह महीने तक लागू रहेगा। इस दौरान सरकार को इसे संसद से पारित कराना होगा। तीन तलाक बिल इससे पहले संसद के बजट सत्र और मानसून सत्र में पेश किया गया था।

वहीं इस अध्यादेश को मंजूरी मिलने के बाद उत्तर प्रदेश में शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि महिलाओं की जीत हुई है। महिलाओं ने कट्टरपंथी तबके से टकराते हुए मामले को समाज में लाने काम किया और सुप्रीम कोर्ट तक गईं। कट्टरपंथी समाज के खिलाफ हिंदू और मुस्लिम समाज समेत सभी लोग पीड़ित महिलाओं के साथ हैं।

कांग्रेस ने अध्यादेश लाने पर मोदी सरकार की निंदा की। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार इस अध्यादेश के जरिए मुस्लिम महिलाओं की सुरक्षा और उनका कल्याण नहीं कर रहे हैं बल्कि वो इसे अपना चुनावी मुद्दा बनाकर कल्याण करना चाह रही है।

WeForNews 

Continue Reading
Advertisement
Bihar professor assaulted
ज़रा हटके4 weeks ago

कहीं आपको भी अटल जी की महानता पर शक़ तो नहीं!

Kalidas
ज़रा हटके3 weeks ago

जहां दुनिया का महामूर्ख पैदा हुआ

MODI-SHAH
ब्लॉग4 weeks ago

‘एक देश एक चुनाव’ यानी जनता को उल्लू बनाने के लिए नयी बोतल में पुरानी शराब

rakhsa
लाइफस्टाइल4 weeks ago

इस राखी बहनें दें भाई को उपहार!

pm modi
ब्लॉग3 weeks ago

सत्ता के लालची न होते तो नोटबन्दी के फ़ेल होने पर मोदी पिछले साल ही इस्तीफ़ा दे देते!

Homosexuality
ब्लॉग2 weeks ago

समलैंगिकों को अब चाहिए शादी का हक

rahul gandhi
चुनाव2 weeks ago

कर्नाटक निकाय चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बनी कांग्रेस

Maharashtra Police
ब्लॉग2 weeks ago

जब सिंहासन डोलने लगता है तब विपक्ष, ‘ख़ून का प्यासा’ ही दिखता है!

Jaiphal-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

जायफल के ये फायदे जो कर देंगे आपको हैरान…

kerala flood
राष्ट्रीय4 weeks ago

केरल में थमी बारिश, राहत कार्यों में तेजी

Banda doctor
शहर59 mins ago

उप्र : चिकित्सक पिटता रहा, एसपी-डीएम ने नहीं उठाया फोन!

rahul gandhi
राजनीति9 hours ago

कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज को राहुल ने बताया बीजेपी की तानाशाही

babul
राष्ट्रीय10 hours ago

दिव्यांगों के कार्यक्रम में बाबुल सुप्रियो ने दी ‘टांग तोड़ डालने’ की धमकी

nheru-min
राजनीति5 days ago

दीनदयाल की मूर्ति के लिए हटाई गई नेहरू की प्रतिमा

arjun kapoor
मनोरंजन1 week ago

अर्जुन कपूर की फिल्म ‘नमस्ते इंग्लैंड’ का गाना ‘तेरे लिए’ रिलीज

mehul-choksi
राष्ट्रीय1 week ago

मेहुल चोकसी का सरेंडर से इनकार, कहा- ईडी ने गलत फंसाया

Mahesh bhatt
मनोरंजन1 week ago

महेश भट्ट की फिल्म ‘द डार्क साइड’ का ट्रेलर लॉन्च

Jalebi -
मनोरंजन1 week ago

रोमांस से भरपूर है महेश भट्ट की ‘जलेबी’, देखें ट्रेलर

Air-India-Flight
राष्ट्रीय2 weeks ago

मालदीव: एयर इंडिया के पायलट ने निर्माणाधीन रनवे पर लैंड कराया प्लेन

शहर2 weeks ago

कानपुर: पार्क में बैठे प्रेमी जोड़े को बनाया मुर्गा, वीडियो वायरल

Most Popular