Connect with us

शहर

पुणे की शीतल महाजन ने साड़ी पहनकर 13 हजार फीट की ऊंचाई से लगाई छलांग, बनाया रिकॉर्ड

Published

on

13 हजार फीट की ऊंचाई से शीतल महाजन लगाई छलांग

पुणे की शीतल राणे-महाजन ने थाइलैंड में सोमवार को रंगीन नौवारी साड़ी पहनकर स्काइडाइविंग करने वाली पहली भारतीय महिला बनने का रिकार्ड अपने नाम कर लिया। स्काइडाइविंग करने के बाद शीतल ने कहा कि अनुकूल मौसम होने की कारण वह 13 हजार फीट की उंचाई से छलांग लगाने में कामयाब रहीं।

शीतल ने कहा कि मैं अगले महीने आने वाले अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कुछ अलग करना चाहती थी। इसलिए मैंने अपने स्काइडाइव के लिए साड़ी पहनने का फैसला लिया। उन्होंने बताया कि उनकी साड़ी करीब 8.25 मीटर लंबी है, जो आम भारतीय साड़ियों से ज्यादा लंबी है।

13 हजार फीट की ऊंचाई से साड़ी में लगाई छलांग, रच दिया इतिहास

शीतल ने बताया कि साड़ी हवा में खुल न जाए इसके लिए उन्होंने साड़ी में कई जगह पिन लगाई, कई जगह इसे कसकर बांधा हुआ था। उन्होंने कहा कि मैं यह साबित करना चाहती थी कि भारतीय महिला न केवल अपने सामान्य दिनचर्या में यह साड़ी पहन सकती है बल्कि स्काइडाइविंग जैसे जोखिम भरे एडवेंचर को भी अंजाम दे सकती है।

बता दें कि शीतल ने साड़ी के ऊपर पैराशूट पहनना, फिर सेफ्टी गियर, संचार सामग्री, हेलमेट, गोगल्स और जूते पहनकर स्काइडाइविंग की। उन्होंने इस काम को अंजाम देने के लिए काफी तैयारी की थी।

WeForNews

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

शहर

वाजपेयी के सम्मान में शुक्रवार को दिल्ली में स्कूल, दफ्तर रहेंगे बंद

Published

on

manish sisodia

नई दिल्ली, 16 अगस्त | दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने गुरुवार को घोषणा की कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के सम्मान में शुक्रवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सभी स्कूल और कार्यालय बंद रहेंगे। वाजपेयी का गुरुवार शाम यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। वह 93 साल के थे।

सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा, “हमारे प्रिय अटलजी के सम्मान में शुक्रवार को दिल्ली में सभी सरकारी कार्यालय, स्कूल और अन्य संस्थान बंद रहेंगे।”

उन्होंने एक अन्य ट्वीट में कहा, “सभी स्कूल जिनमें निजी स्कूल भी शामिल हैं, बंद रहेंगे।”

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

केरल : मदद व बचाव की गुहार लगा रहे हैं हजारों लोग

Published

on

Kerala Floods

तिरुवनंतपुरम, 16 अगस्त | केरल में हजारों लोग, विशेषकर पथानमथिट्टा में और एर्नाकुलम व त्रिशूर के हिस्सों में बाढ़ में फंसे हुए हैं और उनके लिए राहत व बचाव में लगे बचावकर्ता भारी बारिश से जूझ रहे हैं। राज्य में गुरुवार को बाढ़ से मरने वालों की संख्या बढ़कर 88 हो गई।

रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे बुरी तरह प्रभावित पथानमथिट्टा के दक्षिण जिलों में सैकड़ों लोग अपने घरों की छतों पर शरण लिए हुए हैं। पानी में डूबे इन स्थानों से लोगों को हवाईजहाज या हेलीकाप्टर के जरिए निकालने के प्रयास अभी तक विफल रहे हैं।

एक व्यक्ति ने आईएएनएस से कहा, “मेरी 90 साल की सास, कैंसर की मरीज भाभी व दूसरे संबंधी खतरनाक स्थिति में रह रहे हैं क्योंकि तिरुवल्ला के पास उनके घर के बाहर ही नहीं, अंदर भी पानी बढ़ रहा है।”

उन्होंने कहा, “जब हमने अधिकारियों से बात की तो उन्होंने कहा कि वे असहाय हैं क्योंकि नावें उपलब्ध नहीं हैं।”

चेंगन्नूर से माकपा के विधायक साजी चेरियन ने कहा, “सैकड़ों लोग व्यग्रता से निकाले जाने का इंतजार कर रहे हैं और उन्हें सिर्फ हवाई परिवहन के जरिए निकाला जा सकता है। अगर जल्द कुछ नहीं किया गया तो स्थिति बहुत गंभीर हो सकती है।”

Rescue operations underway

राज्य में टीवी चैनल मदद मांग कर रहे लोगों की सजीव तस्वीरें प्रसारित कर रहे हैं।

एक परिवार ने गुरुवार को एक टीवी चैनल से कहा, “हम चेंगन्नूर के पास अपने दो मंजिला इमारत की छत पर खड़े हैं और बीती शाम से हमसे कहा जा रहा है कि हमें जल्द ही बचाया जाएगा। यदि हमारे पास एक घंटे में मदद नहीं पहुंची तो हम जीवित नहीं बचेंगे क्योंकि जलस्तर डरावने ढंग से तेजी से बढ़ रहा है।”

इडुक्की जिले के बांध से छोड़े गए जल के पेरियार नदी व दूसरी सहायक नदियों में पहुंचने के बाद इसी तरह के हालात मध्य केरल के अलुवा व चलकुडी में भी हैं।

एर्नाकुलम के पुलिस अधीक्षक ग्रामीण राहुल आर.नायर ने कहा कि सैकड़ों लोगों को मदद की जरूरत है।

नायर ने कहा कि नावों की कमी सबसे बड़ी समस्या है।

एर्नाकुलम से त्रिशूर को जाने वाला राष्ट्रीय राजमार्ग भी बंद हो गया है क्योंकि कई इलाकों में अब मुख्य मार्गो पर पानी भर गया है।

इस बीच, विपक्ष के नेता रमेश चेन्निथला ने कहा कि समय निकलता जा रहा है। बड़ी संख्या में सेना के बचावकर्ताओं की तैनाती की जरूरत है।

–आईएएनएस

Continue Reading

शहर

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍तपाल में लगी आग

Published

on

Fire In Ludhiana Civil Hospital
लुधियाना सिविल अस्‍पताल के ओपीडी में आग लग गई।

पंजाब के लुधियाना सिविल अस्‍पताल के ओपीडी में आग लग गई। मरीजों को तुरंत वार्डों से बाहर निकाला गया। आग को बुझाने के लिए मौके पर फायर टेंडर पहुंच चुकी है।

WeForNews

Continue Reading

Most Popular