Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

लाहौर में नवाज शरीफ पर छात्र ने फेंका जूता

Published

on

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर एक सभा के दौरान जूता फेंकने का मामला सामने आया है।

पाकिस्तानी अखबार डॉन के मुताबिक शरीफ लाहौर के जामिया नइमिया में मुफ्ती मोहम्मद हुसैन नईमी की पुण्यतिथि पर एक समारोह को संबोधित करने पहुंचे थे। शरीफ जैसे ही स्टेज पर पहुंचे एक युवक ने जूता फेंका। घटना के वीडियो फुटेज को देखने से साफ लग रहा है कि शरीफ इस हमले से शॉक हो गए।

घटना के बाद सभा में अफरा-तफरी मच गई और प्रशासन से जुड़े लोगों ने हमलावर शख्स को पकड़ लिया और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया। हालांकि घटना के बाद नवाज ने सभा को संबोधित किया। पुलिस ने बताया कि जूता फेंकने वाले शख्स की पहचान तल्हा मुन्नवर के रूप में हुई है। जोकि सेमिनरी का पूर्व छात्र था।

घटना के बाद आरोपी की जमकर पिटाई भी हुई। पुलिस ने बताया कि मामले में 2 और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आपको बता दें कि शनिवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ पर भी एक शख्स ने स्याही फेंक दी थी।

WeForNews

अंतरराष्ट्रीय

गुटेरेस का नरसंहार रोकने संबंधी समझौते की सार्वभौमिकता का आह्वान

Published

on

Antonio Guterres
फाइल फोटो

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने नरसंहार की रोकथाम और इसके दोषियों को दंडित किए जाने के समझौते की सार्वभौमिकता का आह्वान किया।

गुटेरेस ने इस सम्मेलन की 70वीं वर्षगांठ के मौके पर कहा कि होलोकास्ट और द्वितीय विश्वयुद्द के बाद दुनिया एकजुट हुई और नरसंहार की रोकथाम और इसके दोषियों को दंडित किए जाने को लेकर एक समझौते को स्वीकार किया था।

उन्होंने कहा, “70 साल बाद नरसंहार को रोकना अभी भी हमारे समय का महत्वपूर्ण काम बना हुआ है। इसलिए मैं हर देश से नरसंहार समझौते को समर्थन देने की अपील करता हूं। मैं बाकी बचे 45 देशों से भी बिना देरी किए ऐसा करने का आग्रह करता हूं।” उन्होंने सभी देशों से मानव पीड़ा को कम करने और जवाबदेही बढ़ाने के लिए इस समझौते के शब्दों पर अमल करने का भी आह्वान किया।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ट्रंप 750 अरब डॉलर के रक्षा बजट पर सहमत

Published

on

donald trump
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रक्षा मंत्री जेम्स मैट्टिस के आगामी वर्ष 750 अरब डॉलर के रक्षा बजट के प्रस्ताव को मंजूरी देने के आग्रह को स्वीकार कर लिया है। एक अधिकारी ने रविवार को सीएनएन को बताया कि पिछले सप्ताह ट्रंप ने ट्वीट कर रक्षा विभाग के 716 अरब डॉलर के बजट को पागलपन बताया था। इसके अगले दिन मैट्टिस और रिपब्लिकन सीनेटर्स ने सैन्य फंडिग को लेकर राष्ट्रपति से लंच पर मुलाकात की।

गौरतलब है कि 750 अरब डॉलर बजट के प्रस्ताव पर सहमति चार दिसंबर को हुई इसी बैठक के बाद बनी, जिसमें ट्रंप, मैट्टिस और हाउस और सीनेट आर्म्ड सर्विसेज कमिटी के चैयरमैन ने हिस्सा लिया था।

अधिकारी ने कहा, “राष्ट्रपति राष्ट्रीय रक्षा रणनीति का पूर्ण समर्थन करते हैं और सेना के सतत पुनर्निर्माण के हिमायती हैं। ट्रंप 750 अरब डॉलर के रक्षा बजट पर रजामंद हो गए हैं।”

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

खशोगी के आखिरी शब्द थे, ‘मैं सांस नहीं ले पा रहा’

Published

on

फाइल फोटो

सीएनएन की एक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्यिक दूतावास में वाशिंगटन पोस्ट के पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या से पहले उनके आखिरी शब्द थे, “मैं सांस नहीं ले पा रहा।”

दूतावास में खशोगी की हत्या से पहले रिकॉर्ड ऑडियो रिकॉर्डिग को सुनने वाले एक सूत्र ने रविवार को सीएनएन को बताया कि दो अक्टूबर को हुई हत्या कोई दुर्घटना नहीं बल्कि एक सोची समझी साजिश थी। यह ऑडियो रिकॉर्डिग दो अक्टूबर को खशोगी के सऊदी वाणिज्यिक दूतावास में घुसने के साथ ही शुरू होती है।

खशोगी को लगा कि वह अपनी मंगेतर से शादी करने के लिए कुछ जरूरी दस्तावेज लेने दूतावास गए हैं लेकिन उन्हें जल्द ही पता चला कि कुछ तो गलत है क्योंकि उन्होंने वहां मिलने वाले एक शख्स को पहचान लिया था।

सीएनएन के सूत्र के मुताबिक, इस ऑडियो में मेहर अब्दुल्लाजीज मुतरेब की आवाज को पहचान लिया गया है, जो सऊदी अरब के पूर्व राजनयिक और क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान के खुफिया अधिकारी हैं।

मुतरेब ने खशोगी से बातचीत की।

उस शख्स (मुतरेब) ने कहा, “आप वापस आ रहे हैं।”

इस पर खशोगी ने जवाब दिया, “आप ऐसा नहीं कर सकते। लोग बाहर इंतजार कर रहे हैं।”

सूत्र के मुताबिक, ऑडियो सुनकर ऐसा लगा कि आगे बिना किसी बातचीत के कई लोग उन पर टूट पड़े।

इसके बाद कुछ आवाजें सुनाई दी और जल्द ही खशोगी सांस लेने के लिए तड़पने लगे।

खशोगी कहते हैं, “मैं सांस नहीं ले पा रहा। मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं।”

इसके बाद ऑडियो में खशोगी के शव को किसी तेजधार हथियार से काटाने की आवाजें सुनाई पड़ीं। इस बीच कथित साजिशकर्ताओं को इन आवाजों को दबाने के लिए संगीत सुनने की सलाह दी गई।

हालांकि, खशोगी की मौत के सटीक समय का पता नहीं चल पाया है।

सूत्र के मुताबिक, ऑडियो में सुनाई दे रहा है कि मुतरेब तीन बार किसी को फोन करते हैं।

तुर्की अधिकारियों के मुताबिक, ये कॉल सऊदी अरब में किसी उच्च अधिकारी को किए गए।

इस घटनाक्रम पर प्रतिक्रिया देते हुए सऊदी अरब के एक अधिकारी ने सीएनएन को बताया, “सऊदी अरब के संबद्ध सुरक्षा अधिकारियों ने इस ऑडियो की समीक्षा की है और इसमें कहीं भी यह उल्लेख नहीं है कि कॉल की गई।”

अगर तुर्की प्रशासन के पास अतिरिक्त सूचना है, जिससे हम वाकिफ नहीं हैं तो हम चाहेंगे कि आप हमें आधिकारिक रूप से उसे सौंपे, हम इसकी समीक्षा करेंगे।”

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular