शेयर बाजार : आर्थिक आंकड़ों, तिमाही नतीजों पर रहेगी नजर | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

शेयर बाजार : आर्थिक आंकड़ों, तिमाही नतीजों पर रहेगी नजर

Published

on

sensex
File Photo

अगले सप्ताह शेयर बाजार की चाल प्रमुख आर्थिक आंकड़ों, कंपनियों के अप्रैल-जून तिमाही नतीजों, वैश्विक बाजारों के रुख, विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) और घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) द्वारा किए गए निवेश, डॉलर के प्रति रुपये की चाल और कच्चे तेल की कीमतों के प्रदर्शन पर निर्भर करेगी।

अगले सप्ताह जिन कंपनियों के तिमाही नतीजे जारी होंगे, उनमें हिन्दुस्तान यूनीलीवर अप्रैल-जून तिमाही के आंकड़े सोमवार (16 जुलाई) को जारी करेगी। जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइज और अशोक लीलैंड अप्रैल-जून तिमाही के आंकड़े मंगलवार (17 जुलाई) को जारी करेंगे।

अल्ट्राटेक सीमेंट अप्रैल-जून की कमाई के आंकड़े बुधवार (18 जुलाई) को जारी करेंगे। बजाज फाइनेंस और कोटक महिंद्रा बैंक अप्रैल-जून तिमाही के आंकड़े गुरुवार (19 जुलाई) को जारी करेंगे। विप्रो, बजाज ऑटो और एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी अप्रैल-जून तिमाही के आंकड़े शुक्रवार (20 जुलाई) को जारी करेंगे।

सरकार की ओर से जून महीने के लिए थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित मुद्रास्फीति के आंकड़े सोमवार (16 जुलाई) को जारी होंगे। वार्षिक आधार पर डब्ल्यूपीआई मई में 4.43 फीसदी पर रही, जबकि इसके एक महीने पहले यह 3.18 फीसदी पर थी।

विदेशी मोर्चे पर, अमेरिका और रूस के बीच सोमवार (16 जुलाई) को शिखर बैठक हो रही है, जिसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन विभिन्न मुद्दों पर चर्चा करेंगे। वे सीरिया और यूक्रेन में चल रही लड़ाई के साथ ही दोनों देशों द्वारा एक-दूसरे पर लगाए गए प्रतिबंध के मुद्दे पर भी चर्चा कर सकते हैं।

अमेरिका अपनी खुदरा बिक्री के जून के आंकड़े सोमवार (16 जुलाई) जारी करेगा। अमेरिका में मासिक खुदरा बिक्री दर मई में 0.8 फीसदी बढ़ी थी, जबकि अप्रैल में खुदरा बिक्री दर में 0.4 फीसदी दर वृद्धि दर्ज की गई थी।

–आईएएनएस

व्यापार

फिच ने 2019-20 में भारत की जीडीपी वृद्धि दर घटाकर 6.8 फीसदी किया

Published

on

City Workers In The Canary Wharf Business, Financial And Shopping District

अमेरिकी रेटिंग एजेंसी फिच ने शुक्रवार को आगामी वित्त वर्ष के लिए भारत की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) वृद्धि दर का अपना अनुमान सात फीसदी से घटाकर 6.8 फीसदी कर दिया।

रेटिंग एजेंसी ने भारत की आर्थिक संवृद्धि दर में यह कटौती अपेक्षा से कमजोर आर्थिक विकास की रफ्तार रहने को लेकर की है। फिच ने कहा कि उसने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की मौद्रिक नीति समीक्षा के आउटलुक में भी बदलाव किया है।

रेटिंग एजेंसी के अनुसार महंगाई दर लक्ष्य से नीचे रहने और वैश्विक मौद्रिक दशाएं आसान रहने से आरबीआई ब्याज दर में 25 आधार अंक की कटौती कर सकता है।

फिच ने अपनी रिपोर्ट में कहा, “अपेक्षा से कमजोर आर्थिक विकास की रफ्तार के कारण हमने हालांकि अगले वित्त वर्ष के लिए अपने संवृद्धि दर अनुमान में कटौती की है, लेकिन हम अब भी भारत की जीडीपी वृद्धि दर 6.8 फीसदी, उसके बाद वित्त वर्ष 2021 में 7.1 फीसदी को समुचित रूप से ठीक पाते हैं।”

रेटिंग एजेंसी के अनुसार, मुख्य रूप से घरेलू कारणों से आर्थिक विकास की रफ्तार सुस्त है। फिच ने कहा कि ऑटोमोबाइल और दोपहिया वाहन जैसे क्षेत्र जो नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) के कर्ज पर निर्भर करता है उसमें साख की उपलब्धता सख्त हो गई है जिससे बिक्री में कमी आई है।

बैंकिंग क्षेत्र के बारे में फिच ने कहा कि हाल के महीनों में निजी क्षेत्र के साख में वृद्धि हुई है। रेटिंग एजेंसी ने कहा कि वित्त वर्ष 2019-20 में किसानों को नकदी हस्तांतरण में वृद्धि की योजना है।

फिच ने कहा, “तेल की कीमत का आउटलुक अनुकूल है और हमें उम्मीद है कि आने वाले महीनों में खाद्य पदार्थो की कीमत बढ़ने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की आय व उपभोग में वृद्धि होनी चाहिए।”

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

हरे निशान में खुले शेयर बाजार

Published

on

Sensex
File Photo

देश के शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में मजबूती का रुख है।

प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स सुबह 10.34 बजे 48.69 अंकों की मजबूती के साथ 38,435.44 पर और निफ्टी भी लगभग इसी समय 12.00 अंकों की बढ़त के साथ 11,533.05 पर कारोबार करते देखे गए।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 65.72 अंकों की तेजी के साथ 38,452.47 पर जबकि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 28.15 अंकों की बढ़त के साथ 11,549.20 पर खुला।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

फिर बढ़े पेट्रोल के दाम

Published

on

Petrol
File Photo

पेट्रोल के दाम में शुक्रवार को मामूली वृद्धि दर्ज की गई, लेकिन डीजल के दाम में लगातार दूसरे दिन राहत रही। देश की राजधानी दिल्ली में दो दिनों में डीजल 15 पैसे लीटर सस्ता हुआ है।

तेल कंपनियों ने शुक्रवार को दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम में पांच पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की, जबकि डीजल भाव में दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में सात पैसे और मुंबई में आठ पैसे प्रति लीटर की कटौती की।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम बढ़कर क्रमश: 72.76 रुपये, 74.84 रुपये, 78.38 रुपये और 75.57 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। चारों महानगरों में डीजल की कीमतें घटकर क्रमश: 66.65 रुपये और 68.44 रुपये प्रति लीटर, 69.81 रुपये और 70.43 रुपये प्रति लीटर पर हो गई हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular