राजनीति

कहीं ये योगी के कामकाज पर सीधे पीएमाओ की दखल तो नहीं है!

yogi-modi-min
file photo

उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार बनी तो सभी भौचक्‍के रह गए कि सीएम की रेस में पीछे चल रहे योगी आखिर नंबर वन कैसे बन गए। मीडिया के हवाले से खबरें आईं कि आरएसएस के हुक्‍म को मोदी नहीं टाल सके और योगी की ताजपोशी हो गई। अब न्‍यूज चैनल ‘आज तक’ के हवाले से खबर आई है कि नई सरकार के गठन के पहले से ही पीएमओ एक्टिव हो गया था।

‘आज तक’ में छपी खबर अनुसार मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्र को यूपी में नई सरकार के गठन और पांव जमाने तक राज्य की प्रशासनिक व्यवस्था पर नजर रखने के लिए लगाया गया है। पीएम मोदी ने ये काम अपने सबसे खास अधिकारी पीएमओ में प्रिंसिपल सेक्रेटरी नृपेंद्र मिश्र को सौंपा है। नृपेंद्र मिश्र पिछले तीन दिनों से लखनऊ में हैं। वे योगी सरकार और पीएम के बीच कड़ी का काम करेंगे।

अब माना जा रहा है कि योगी सरकार को सीधे पीएमओ से निर्देश मिलेगा। नृपेंद्र मिश्र जैसे वरिष्ठ अधिकारी को इस काम में लगाने का मतलब ये है कि योगी सरकार को पीएम के यूपी प्लान को आगे बढ़ाना होगा। उसका रोडमैप दिल्ली में तय होगा और योगी सरकार उसे लागू करेगी।

जानकारों का मानना है कि किसी राज्‍य की चुनी सरकार के कामकाज में सीधे पीएमओ का दखल न्‍याय संगत भले ही सही न हो लेकिन मिशन 2019 के लिए प्रधानमंत्री मोदी किसी भी तरह का रिस्‍क नहीं लेना चाहते। इसीलिए नृपेंद्र मिश्र यूपी के मुख्यमंत्री कार्यालय और प्रधानमंत्री कार्यालय के बीच समन्वय का काम देखेंगे। पीएम चाहते हैं कि उन्‍होंने जो भी उत्‍तर प्रदेश की जनता से वादे किए हैं, उन्‍हें अपनी निगरानी में पूरा कराना सर्वप्रथम कार्य हैं।

wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top