Connect with us

खेल

आईपीएल की तैयारियों में जुटे शमी को मिल सकती है राहत, लेकिन शर्तों पर!

Published

on

फाइल फोटो

पारिवारिक विवादों में उलझे मोहम्मद शमी के लिए आईपीएल कुछ राहत लेकर आया है लेकिन कुछ शर्तों के साथ.. दरअसल टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की मुश्किलें पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ती जा रही हैं.. पत्नी हसीन जहां के साथ रिश्ते को लेकर एक के बाद एक नए खुलासे हो रहे हैं… तो वहीं इन सारे विवादों का असर मोहम्मद शमी के प्रोफेशनल करियर पर असर पड़ता दिख रहा है… इस बीच आईपीएल के चेयरमैन राजीव शुक्ला ने शमी को राहत दी है…

आईपीएल खेलेंगे शमी!

मुसीबतों से घिरे मोहम्मद शमी के लिए राहत की खबर ये है कि उन्हें आईपीएल में खेलने का मौका मिल सकता है.. आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला ने इस बात के संकेत दिए हैं कि शमी आईपीएल के सीज़न 11 में हिस्सा ले सकते हैं लेकिन इसके लिए भी एक शर्त है.. राजीव शुक्ला ने कहा है कि आईपीएल को किसी के व्यक्तिगत आरोपों से कोई मतलब नहीं है.. लेकिन फिर भी हम बीसीसीआई की रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।

गौरलतब है कि शमी ने आईपीएल के लिए अपनी तैयारी शुरू कर दी है और मैदान में गेंदबाजी कर खूब पसीना बहा रहे हैं… उधर खबरें ये भी हैं कि बीसीसीआई ने शमी के मामले में जांच पूरी कर ली है और उन्हें जल्द ही इस मामले से जुड़ी सारी जानकारियां सामने आ सकती हैं… हालांकि इसकी पुष्टि बीसीसीआई एंटी करप्शन के चीफ की रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगी…

शमी की वाइफ ने उनपर शादी के बाद कई महिलाओं से संबंध बनाने और फिक्सिंग के आरोप लगाए थे… वहीं हसीन ने ये भी आरोप लगाया था कि शमी साउथ अफ्रीका दौरे पर गई टीम इंडिया के साथ वापस नहीं आए थे और दुबई में पाकिस्तानी लड़की अलिश्बा के साथ रुके थे… इसके बाद हसीन जहां ने शमी समेत 5 लोगों पर कोलकाता के एक थाने में गैरजमानती धाराओं में मामला दर्ज कराया था… जिस मामले में पुलिस जांच कर रही है… वहीं शमी इन सभी आरोपों का खंडन कर रहे हैं और इन सभी के पीछे किसी तीसरे का हाथ बता रहे हैं… यानी शमी की मैदान पर वापसी तभी हो सकती है जब बीसीसीआई की एंटी करप्शन यूनिट की रिपोर्ट शमी के पक्ष में आए.. और अगर कहीं इस रिपोर्ट में शमी दोषी पाए जाते हैं तो क्रिकेट से उनका नाता तक टूट सकता है..

WEFORNEWS

खेल

जन्‍मदिन विशेष- सचिन तेंदुलकर: आम खिलाड़ी से ‘क्रिकेट के भगवान’ बनने तक का सफरनामा

Published

on

sachin tendulkar
Happy Birthday Sachin...

सचिन तेंदुलकर के दो दशक से ज्यादा लंबे क्रिकेट करियर की महान उपलब्धियों ने उन्‍हें एक आम खिलाड़ी से क्रिकेट का भगवान बना दिया।

सचिन काेे भारत के सर्वोच्‍च पुरस्‍कार ‘भारत रत्‍न’ से भी नवाजा गया। 24 April 1973 को इस महान खिलाड़ी का जन्‍म मुंबई के राजापुर के मराठी ब्राह्मण परिवार में 24 अप्रैल 1973 को हुआ था। सचिन का आज 45 वां जन्‍म है। क्रिकेट का ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है जो सचिन ने नहीं बनाया हो। क्रिकेट के अलावा सचिन की लवस्टोरी भी बड़ी दिलचस्प है, उन्‍होंने खुद से 6 साल बड़ी उम्र की अंजलि के साथ जीवन की डोर बांध ली।

सचिन का आम आदमी से लेकर क्रिकेट के भगवान बनने तक बनने का सफरनामा कुछ ऐसा रहा:-
1989: 16 साल की उम्र में सचिन तेंदुलकर ने पाकिस्तान के खिलाफ अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत करते हुए श्रीकांत की      कप्तानी वाली टीम में छह पारियों में देश के लिये दो अर्धशतक बनाये।
1990: तेंदुलकर ने अपना पहला टेस्ट शतक (नाबाद 119) ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर इंग्लैंड के खिलाफ जमाया।
1993: भारतीय सरजमीं अपना पहला टेस्ट शतक (163) तेंदुलकर ने चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ बनाया।
1994: सचिन ने अपना पहला वनडे शतक अपने 79वें मैच में कोलंबो में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिंगर कप में बनाया।
1996: भारत पाकिस्तान की संयुक्त मेजबानी में हुए विश्व कप में सचिन ने दो शतक सहित 523 रन बनाये। तेंदुलकर की कप्तानी में ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका को हरा कर टाइटन कप जीता।
1997: सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में टोरंटों में पाकिस्तान के खिलाफ सहारा कप में 4-1 से जीत दर्ज की। इसी साल सर्वश्रेष्ठ विजडन क्रिकेटर चुने गये।
1998: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद 155 रन चेन्नई में बनाये जिससे भारत ने 179 रन से जीत दर्ज की।
2001: वन डे में दस हजार रन बनाने वाले विश्व के पहले बल्लेबाज बने।
2002: सचिन ने पोर्ट ऑफ स्पेन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 117 बना कर सर डान ब्रेडमैन के 29 टेस्ट शतक की बराबरी की और फिर इंग्लैंड के खिलाफ 193 बना कर ब्रेडमैन के रिकॉर्ड को पार किया।
2003: आईसीसी विश्व कप के 11 मैचों में 673 बना कर टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बने।
2004: सुनील गावस्कर के 34 शतक के रिकॉर्ड की बराबरी करने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी बने। 50 मैन ऑफ द मैच हासिल करने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने।
2005: टेस्ट क्रिकेट में 122वें मैच में दस हजार रन पूरे किये।
2006: वनडे में 14 हजार रन पूरे कर नया विश्व रिकॉर्ड बनाया। 40 वां शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ कुआलालम्पुर में पूरा किया।
2007: 400वां वन डे खेला.
2008: वनडे में 16हजार रन बनाने वाले दुनिया के पहले खिलाड़ी बने. टेस्ट क्रिकेट में ब्रायन लारा के 11953 रन के रिकॉर्ड को पीछे छोड दिया।
2009: हैदराबाद में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 175 बनाये और 17 हजार वनडे रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने।
2010: वन डे में दोहरा शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बने और स्टीव वॉ के 168 टेस्ट खेलने के रिकॉर्ड को पार किया।
2011: विश्व कप में बांग्लादेश के खिलाफ पहला मैच खेलने के साथ ही वह सबसे ज्यादा वनडे खेलने वाले खिलाडी बने और सनथ जयसूर्या के 444 मैचों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा।
2011: विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाई। भारत के लिये विश्व कप में सबसे ज्यादा 482 रन बनाने वाले बल्लेबाज बने।
2012: एशिया कप में बांग्लादेश के खिलाफ 114 रन बना कर अपना सौवां शतक पूरा किया।
23 दिसंबर 2012: भारतीय क्रिकेट के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की।
2013: टी20 चैंपियंस लीग के दौरान सचिन तेंदुलकर क्रिकेट के सभी प्रारूपों में 50000 रन बनाने वाले दुनिया के 16वें और एशिया के पहले क्रिकेटर बन गये।
10 अक्टूबर 2013: सचिन तेंदुलकर का टेस्ट क्रिकेट से संन्यास का ऐलान। 200वां टेस्ट उनके करियर का आखिरी मैच रहा।

WeForNews

Continue Reading

खेल

माता-पिता बनने जा रहे हैं सानिया-शोएब

Published

on

sania-mirza-shoaib-malik-

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा और पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शोएब मलिक माता-पिता बनने वाले हैं। सानिया ने इस बात जानकारी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर दी।

Image result for sania mirza shoaib malik

सानिया ने अपने ट्विटर और इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक फोटा साझा करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने लिखा, “हम कुछ समय बाद माता-पिता बन जाएंगे। हमने इस बारे में बहुत सोचा और यह निर्णय लिया कि परिवार शुरू करने का यह सही समय है।”

#BabyMirzaMalik 👶🏽❤️ @daaemi

A post shared by Sania Mirza (@mirzasaniar) on

उन्होंने लिखा, “जब हमें इस बारे में जानकारी मिली, तो हम बहुत खुश हुए और अपने प्रशंसकों व शुभचिंतकों के साथ यह खुशी शेयर करने के लिए हम और इंतजार नहीं कर सकते थे। हम अपने जीवन के इस नए पड़ाव में जाने और माता-पिता के रूप में अपना जीवन शुरू करने के लिए बहुत उत्साहित हैं। सानिया ने अपने 15साल के लंबे करियर में छह ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं। सानिया-शोएब ने 12 अप्रैल 2010 को शादी की थी।

Related image

 

Wefornews Bureau

Continue Reading

खेल

आईपीएल-11: सैमसन और गौतम ने दिलाई राजस्थान को तीसरी जीत

Published

on

rajasthan royals
csk vs mi

जयपुर। संजू सैमसन (52) के शानदार अर्धशतक और बेन स्टोक्स (40) के उपयोगी पारियों के बाद कृष्णप्पा गौतम के 11 गेंदों पर नाबाद 33 रन की मैच विजयी पारी के दम पर राजस्थान रॉयल्स ने यहां सवाई मानसिंह स्टेडियम में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में रविवार को एक रोमांचक मैच में मुंबई इंडियंस को तीन विकेट से हरा दिया। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 167 रन का मजबूत स्कोर बनाया जिसे राजस्थान ने 19.4 ओवर में सात विकेट पर 168 रन बनाकर हासिल कर लिया।

सैमसन ने 39 गेंदों पर चार चौके लगाए। सैमसन का यह नौवां आईपीएल अर्धशतक है। स्टोक्स ने 27 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। कृषणप्पा गौतम ने 11 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाए।

मुंबई से मिले 168 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान ने 38 रन पर अपने दो विकेट गंवा दिए। लेकिन इसके बाद सैमसन और स्टोक्स ने तीसरे विकेट के लिए 72 रन की साझेदारी की।

मैच उस समय रोमांचक हो गया जब जसप्रीत बुमराह ने 16वें ओवर की दूसरी और तीसरी गेंद पर लगातार दो विकेट लेकर राजस्थान को फिर से हार की ओर धकेलना शुरू कर दिया। बुमराह ने इस ओवर में मात्र एक रन दिया और दो विकेट झटके।

राजस्थान को आखिरी दो ओवरों में जीत के लिए 28 रन की जरुरत थी और गौतम ने 11 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाकर राजस्थान को दो गेंद शेष रहते तीन विकेट से जीत दिला दी।

राजस्थान की छह मैचों में यह तीसरी जीत है जबकि मुंबई को पांच मैचों में चौथी हार का सामना करना है।

मुंबई के लिए जसप्रीत बुमराह ने 28 रन पर दो विकेट, और हार्दिक पांड्या ने 25 रन पर दो विकेट लिए जबकि मिशेल मैक्लेघन, क्रुणाल पांड्या तथा मुस्ताफिजुर रहमान ने एक-एक विकेट लिया।

इससे पहले सूर्यकुमार यादव (72) और ईशान किशन (58) के बेहतरीन अर्धशतकों की बदौलत मुंबई इंडियंस ने सात विकेट पर 167 रन का स्कोर बनाया लेकिन उसके गेंदबाज इस स्कोर का बचाव नहीं कर सके।

मुंबई ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन इविन लुईस खाता खोले बिना टीम के एक रन के स्कोर पर धवल कुलकर्णी की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद सूर्यकुमार और किशन ने संभलकर खेलते हुए अपने-अपने अर्धशतक पूरे किए।

सूर्यकुमार ने 47 गेंदों पर छह चौके और तीन छक्के लगाए। किशन ने 42 गेंदों पर चार चौके और तीन छक्का उड़ाया। सूर्यकुमार और किशन ने दूसरे विकेट के लिए 129 रन की शतकीय साझेदारी की। लीग के 11वें संस्करण में किसी भी टीम द्वारा बनाई गई यह अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी है।

कीरन पोलार्ड ने 20 गेंदों पर नाबाद 21 रन में एक चौका और एक छक्का लगाया। कप्तान रोहित शर्मा खाता खोले बिना रन आउट हो गए। क्रुणाल पांड्या ने सात और हार्दिक पांड्या ने चार रन बनाए।

मुंबई की टीम आखिरी 35 गेंदों पर मात्र 37 रन ही बना सकी और इस दौरान उसने अपने छह विकेट भी गंवाए। मुंबई के इन छह विकेटों में से तीन विकेट आईपीएल में अपना पदार्पण कर रहे जोफरा आर्चर ने हासिल किए। मुंबई की टीम आखिरी पांच ओवर में मात्र 32 रन ही जोड़ पाई।

राजस्थान के लिए आर्चर ने चार ओवर में 22 रन देकर सर्वाधिक तीन विकेट झटके। हालांकि वह हैट्रिक पूरा करने से चूक गए। धवल कुलकर्णी ने 32 रन पर दो विकेट और जयदेव उनादकट ने 31 रन पर एक विकेट हासिल किया।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular