Connect with us

मनोरंजन

दिलीप कुमार से मिलने पहुंचे शाहरुख

Published

on

Srk-dilip-

बॅालीवुड एक्टर शाहरुख खान बॉलीवुड दिग्गज दिलीप कुमार से मिलने उनके घर पहुंचे। दिलीप कुमार के एक पारिवारिक मित्र फैसल फारुखी ने दिग्गज एक्टर के ट्विटर पर शाहरुख और दिलीप की एक तस्वीर शेयर की है।

तस्वीर में शाहरुख ने काले रंग की पोशाक पहनी हुई है, जबकि दिलीप कुमार ने एक शॉल ओढ़ी हुई है। फारुखी ने इसके साथ लिखा, शाहरुख आज साहब से मिलने उनके घर आए। उन्होंने उनका हाल चाल जाना, ‘वह ठीक हैं। दिग्गज अभिनेता का दिसंबर 2017 में हल्के निमोनिया का इलाज किया गया था।

इससे पहले शाहरुख मुंबई के लीलावती अस्पताल से अभिनेता को छुट्टी मिलने के बाद उनसे मिलने पहुंचे थे। अगस्त 2017 में उनके शरीर में पानी की कमी और गुर्दे में समस्या के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया था। छह दशक से ज्यादा समय के अपने करियर में उन्होंने 65 से ज्यादा फिल्मों में काम किया।

वह ‘अंदाज’,’बाबुल’, ‘दीदार’, ‘देवदास’, ‘मधुमति’, ‘मुगल-ए-आजम’, ‘नया दौर’, ‘राम और श्याम’ और ‘गंगा जमुना’ जैसी कई शानदार फिल्मों में नजर आए। बतौर अभिनेता रुपहले पर्दे पर आखिरी बार वह 1998 की फिल्म ‘किला’ में नजर आए थे।

Wefornews Bureau

मनोरंजन

लगा ‘उरी..’ से बेहतर शुरुआत होगी : मानसी

Published

on

अभिनेत्री व गायिका मानसी पारेख का मानना है कि बॉलीवुड में उनके सफर की शुरुआत ‘उरी : द सर्जिकल स्ट्राइक’ से होना अच्छी बात रही। अभिनेत्री कई विज्ञापनों और टीवी शो ‘सुमित संभाल लेगा’ में नजर आ चुकी हैं। 

मानसी ने एक बयान में कहा, “मैंने ‘उरी..’ करने का निश्चय किया क्योंकि मुझे किरदार बहुत प्रभावी लगा। चूंकि, इसके पहले मैंने कोई बॉलीवुड फिल्म नहीं की थी तो मुझे लगा कि इससे बेहतर शुरुआत होगी।”

फिल्म इस महीने की शुरुआत में रिलीज हुई। इसमें विक्की कौशल, यामी गौतम और मोहित रैना भी हैं। 

–आईएएनएस

Continue Reading

मनोरंजन

ईमानदार विचार रखने से मुझे कोई रोक न पाएगा : सोनू निगम

Published

on

By

Sonu Nigam

मुंबई, 18 जनवरी | मशहूर बॉलीवुड गायक सोनू निगम न केवल अपनी गायन प्रतिभा के लिए जाने जाते हैं, बल्कि बेबाकी से जवाब देने और सामाजिक या राजनीतिक मामलों में विवादास्पद राय देने के लिए भी हमेशा चर्चा में रहते हैं। उनका तो यह भी कहना है कि अपने विचारों को खुलकर रखना उन्हें पसंद है और इस मामले में बेईमानी से उन्हें सख्त नफरत है।

सोनू का कहना है कि सभी के अपने विचार होते हैं। कुछ उन्हें मानने से कतराते हैं और यह बात बिल्कुल सच है कि इंसान जब भी बिना डरे खुलकर कुछ कहता है तो उसकी निंदा जरूर होती है, लेकिन इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता और ऐसा करने से वह कभी भी पीछे नहीं हटेंगे।

सोनू इससे पहले मस्जिदों में नमाज के वक्त लाउडस्पीकर पर रोक को लेकर कुछ टिप्पणी कर विवादों में घिर गए थे और उसके बाद मी टू मूवमेंट में भी अपने साथी को सपोर्ट करने के दौरान यह कहकर फंस गए थे कि उनके मित्र को बिना किसी सबूत के फंसाया जा रहा है।

सोनू का कहना है कि सामाजिक परिवर्तन के लिए संगीत का उपयोग सदियों से होता आ रहा है। ऐसे में एक गायक होने के नाते अपने विचार या भावनाओं को गाने के माध्यम से व्यक्त करने के बजाय पब्लिक प्लेटफॉर्म पर अपनी भावनाओं को खुलकर रखने से खुद को क्यों रोका जाए।

सोनू ने कहा, “मैं संगीत को हमेशा राजनीति से दूर रखता हूं, लेकिन एक संगीतकार होने के चलते विश्व की जानकारी रखना मुझे अच्छा लगता है। मैं किताबें पढ़ता हूं, मैं विवेकशील लोगों से बातें करता हूं, ऐसे में लोग भी मुझसे संगीत और फिल्म जगत से जुड़े सवाल पूछते हैं और मैं उनका जवाब देता हूं।”

सोनू ने हाल ही में एमटीवी अनप्लग्ड सीजन 8 में ‘रॉयल स्टैग बैरल’ के लिए पांच गजलों को अपनी आवाज दी है। जब उनसे इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “आजकल के बच्चे गजल सुनना पसंद नहीं करते हैं जैसा कि हम अपने बचपन में किया करते थे। हालांकि नई पीढ़ी को मेरी गाने बेहद पसंद हैं तो वे मुझसे कनेक्ट कर पाएंगे। इस तरह से गजल को उन तक पहुंचाने का विचार मुझे आया।”

‘कल हो ना हो’ गाने के चर्चित गायक ने कहा, “मैं गाना चुनता हूं और उसके पीछे मेरी कोई सोच होती है।”

Continue Reading

मनोरंजन

मनीष पॉल ने सैनिकों की बहादुरों को सलाम किया

Published

on

अभिनेता मनीष पॉल भारतीय सैनिकों की वीरता से बहुत प्रभावित हैं और वह उन्हें ‘सच्चे नायक’ बताते हैं।

मनीष ने एक बयान में कहा, “जम्मू में बीएसएफ शिविर में प्रशिक्षण के दौरान जवानों द्वारा प्रदर्शित की गई बहादुरी सराहनीय है। मैं इतने प्रतिभाशाली लोगों को एक छत के नीचे देखकर आश्चर्यचकित था और मुझे दृढ़ विश्वास है कि ये हमारे असली नायक हैं जो बेशक दिन-रात हमारी सीमाओं की रक्षा करते हैं।”

मनीष पिछले सप्ताह जम्मू में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक शिविर में ‘कॉमेडी सेंट्रल’ के अभियान ‘स्प्रैड द चियर’ के तहत जवानों का मनोरंजन करने गए थे।

उन्होंने कहा, “मैं ‘कॉमेडी सेंट्रल’ से जुड़कर हमारे देश के बहादुर लोगों के बीच ‘स्प्रैड द चियर’ (खुशियां बांटकर) खुश हूं।”

मनीष को शिविर का विशेष दौरा दिया गया था, जिसकी शुरुआत ड्यूटी करते समय शहीद हुए बीएसएफ के जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए शहीद स्मारक के दौरे से हुई थी। इसके बाद उन्हें बीएसएफ कमांडो के कठिन प्रशिक्षण की झलकियां देखीं और अंत में जवानों के साथ कबड्डी खेली।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular