Connect with us

शहर

बिहार की शाही लीची दुनियाभर में अब जीआई टैग के साथ बिकेगी

Published

on

Lychee-
File Photo

बिहार के मुजफ्फरपुर की प्रसिद्ध शाही लीची को नई पहचान मिल गई है। अब देश-दुनिया में शाही लीची की बिक्री जीआई टैग के साथ होगी। बौद्धिक सम्पदा कानून की तहत शाही लीची को जीआई टैग मिला है।

ढाई सालों की जांच-पड़ताल में संतुष्ट होने के बाद शाही लीची को भौगोलिक उपदर्शन रजिस्ट्री ने टैग दिया है। बिहार लीची उत्पादक संघ ने जून 2016 को जीआई रजिस्ट्री कार्यालय में शाही लीची के जीआई टैग के लिए आवेदन किया था। मुजफ्फरपुर राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केंद्र के निदेशक विशालनाथ ने गुरुवार को बताया कि जीआई टैग मिलने से शाही लीची की बिक्री में नकल या गड़बड़ी की आशंकाएं काफी कम हो जाएंगी।

जीआई टैग मिलने से खुश विशालनाथ ने कहा कि मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, वैशाली व पूर्वी चंपारण के किसान ही अब शाही लीची के उत्पादन का दावा कर सकेंगे। ग्राहक भी ठगे जाने से बच सकेंगे। बिहार लीची उत्पादक संघ के अध्यक्ष बच्चा प्रसाद सिंह ने बताया कि काफी परिश्रम के बाद बिहार की शाही लीची को जीआई टैग मिल गया है।

उन्होंने बताया कि जीआई टैग देने वाले निकाय ने शाही लीची का सौ साल का इतिहास मांगा था। उन्होंने बताया कि कई साक्ष्य प्रस्तुत करने पर पांच अक्टूबर को शाही लीची पर जीआई टैग लग गया। जियोग्राफिकल आइडेंटिफि केशन किसी उत्पाद को दिया जाने वाला एक विशेष टैग है।

जीआई टैग उसी उत्पाद को दिया जाता है, जो किसी विशिष्ट भौगोलिक क्षेत्र में उत्पन्न होता है। लीची की प्रजातियों में ऐसे तो चायना, लौगिया, कसैलिया, कलकतिया सहित कई प्रजातियां है परंतु शाही लीची को श्रेष्ठ माना जाता है। यह काफी रसीली होती है। गोलाकार होने के साथ इसमें बीज छोटा होता है।

स्वाद में काफी मीठी होती है। इसमें खास सुगंध होता है।बिहार के मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, वैशाली व पूर्वी चंपारण शाही लीची के प्रमुख उत्पादक क्षेत्र हैं। देश में कुल लीची उत्पादन का आधा से अधिक लीची का उत्पादन बिहार में होता है। आंकड़ों के मुताबिक बिहार में 32,000 हेक्टेयर में लीची की खेती की जाती है।

WeForNews

शहर

बीएसएफ से बर्खास्त जवान का बेटा हरियाणा में मृत मिला

Published

on

By

Tej Bahadur Yadav

चंडीगढ़, 18 जनवरी | अनुशासनहीनता के आरोप में सीमा सुरक्षा बल(बीएसएफ) से 2017 में बर्खास्त किए गए जवान तेज बहादुर यादव के बेटे को हरियाणा में मृत पाया गया। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि रोहित(22) की मां ने गुरुवार को उसका शव रेवाड़ी शहर के मधु विहार कॉलोनी में उसके कमरे में खून से सना पाया।

हरियाणा पुलिस ने इस बाबत जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने कहा कि ऐसा लगता है कि रोहित ने आत्महत्या की है, क्योंकि उसके हाथ में एक रिवॉल्वर पाया गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “यह आत्महत्या का मामला लगता है। हम मामले की जांच कर रहे हैं।”

लाइसेंसी रिवॉल्वर रोहित के पिता का है, जो कुंभ मेले में शामिल होने के लिए प्रयागराज में हैं।

यादव ने जम्मू एवं कश्मीर की प्रतिकूल परिस्थिति में जवानों को परोसे जाने वाले भोजन की खराब गुणवत्ता को लेकर सवाल उठाए थे, जिसके बाद वह सुर्खियों में आ गए थे।

Continue Reading

राजनीति

राष्ट्र मंच के प्रतिनिधि के तौर पर ममता की रैली में जाऊंगा : शत्रुघ्न सिन्हा

Published

on

shatrughan sinha

कोलकाता, 17 जनवरी : भाजपा नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि उन्हें अपनी पार्टी में ‘‘सम्मान’’ नहीं मिला और तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी की कोलकाता में शनिवार को होने वाली रैली में हिस्सा लेंगे।

सिन्हा ने बृहस्पतिवार को पीटीआई को बताया कि वह ‘‘राष्ट्र मंच’’ के प्रतिनिधि के तौर पर रैली में हिस्सा लेंगे। इस राजनीतिक समूह की शुरुआत भाजपा के पूर्व नेता यशवंत सिन्हा ने की थी जिसका समर्थन शत्रुघ्न सिन्हा भी करते हैं।

अभिनेता और नेता सिन्हा केंद्र की भाजपा सरकार के कई निर्णयों को लेकर उसका विरोध करते रहे हैं जिसमें नोटबंदी भी शामिल है। वह इन निर्णयों को ‘‘वन मैन शो’’ बताते रहे हैं।

शत्रुघ्न सिन्हा ने मुंबई से फोन पर बताया, ‘‘राष्ट्र मंच की तरफ से मैं कार्यक्रम में हिस्सा लूंगा…।’’ उन्होंने रैली में शामिल होने को उचित ठहराते हुए कहा, ‘‘भाजपा के कुछ नेता भी आरएसएस के कार्यक्रम में शिरकत करते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अभी तक पार्टी के प्रति मेरी वफादारी पर सवाल नहीं किए जा सकते हैं। मैं भाजपा में तब शामिल हुआ जब यह दो सांसदों की पार्टी थी और मैंने हमेशा इसे मजबूत करने के लिए काम किया है।’’

पटना साहिब से भाजपा के लोकसभा सांसद रैली में ‘‘स्टार वक्ता’’ होंगे।

Continue Reading

शहर

हिमाचल में भारी बर्फबारी, बारिश के आसार

Published

on

cold-wave-jammu-kashmir-snowfall-min-1
फाइल फोटो

हिमाचल प्रदेश में 20 से 24 जनवरी के बीच भारी बर्फबारी व बारिश होने के आसार हैं। मौसम विभाग ने शुक्रवार को पूर्वानुमान में यह चेतावनी दी।

निवासियों और पर्यटकों को 24 जनवरी तक ऊंचे पहाड़ी इलाकों में नहीं जाने की सलाह दी गई है क्योंकि सड़क संपर्क मार्ग अवरुद्ध होने की आशंका ज्यादा है। 

मौसम विभाग के निदेशक मनमोहन सिंह ने आईएएनएस को बताया कि शिमला, नारकंडा, चैल, कुफरी, कल्पा, डलहौजी और मनाली में सामान्य बर्फबारी होने की संभावना है। इन शहरों में 13 जनवरी को भी सामान्य बर्फबारी हुई थी।

एक सरकारी अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि कुफरी, नारकंडा, मनाली और डलहौजी पहले से ही बर्फ की मोटी चादर में लिपटे हुए हैं। राज्य के दूरदराज के इलाकों में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति और लोगों की आवाजाही बाधित हो सकती है। 

सिंह ने कहा कि शुक्रवार शाम से इस क्षेत्र में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की संभावना है।

उन्होंने कहा, “राज्य में मुख्य तौर पर 22 से 24 जनवरी तक पश्चिमी विक्षोभ का असर दिखाई देगा, जिसके चलते शिमला, किन्नौर, सिरमौर, कुल्लू, चंबा, मंडी और लाहौल-स्पीति जिलों की ऊंची पहाड़ियों में भारी बर्फबारी होने की संभावना है।”

मौसम विभाग ने कहा कि 20 जनवरी से उत्तर-पश्चिम भारत, विशेषकर पश्चिमी हिमालय क्षेत्र में अरब सागर से नमी आने के आसार हैं जिससे बड़े पैमाने पर हिमपात और बारिश होने की आशंका है।

निचले इलाकों में धर्मशाला, पालमपुर, सोलन, नाहन, बिलासपुर, ऊना, हमीरपुर और मंडी व्यापक रूप से बारिश होने के आसार हैं जिससे तापमान में काफी गिरावट आएगी।

शिमला में शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि कल्पा में यह शून्य से 3.6 डिग्री नीचे, मनाली में शून्य से 1.2 डिग्री नीचे, डलहौजी में चार डिग्री, कुफरी में 2 डिग्री और धर्मशाला में 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular