राष्ट्रीय

प्रद्युम्न हत्याकांड: रेयान के मा‌ल‌िकों की ग‌िरफ्तारी पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने गुरुवार तक लगाई रोक

Ryan International School killing
फाइल फोटो

प्रद्युम्न मर्डर केस में रेयान इंटरनेशनल स्कूल मैनेजमेंट पर हरियाणा पुलिस का शिकंजा लगातार कसता जा रहा है। इसी बीच बॉम्बे हाई कोर्ट ने पिंटो फैमिली की अग्रिम जमानत की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें गुरुवार (14 सितंबर) तक की राहत दे दी है। इससे पहले मंगलवार को भी हाई कोर्ट ने एक दिन की राहत दी थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए रेयान के मालिकों ने हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल करके अग्रिम जमानत की मांग की है।

 वहीं, इस मामले में मृतक प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर बॉम्बे हाईकोर्ट में रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों की अग्रिम जमानत याचिका के विरोध में अर्जी दाखिल करेंगे। वह कोर्ट में अर्जी देकर अनुरोध करेंगे कि इस मामले में पिंटू फैमली की जमानत याचिका खारिज की जानी चाहिए। इससे पहले वरुण ने सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दी थी।

इस मर्डर केस की जांच कर रही गुरुग्राम पुलिस की एक टीम मुंबई पहुंची हुई है। रेयान ग्रुप के हेडक्वार्टर पर पुलिस जांच जारी है। ऐसे मालिकों को अपनी गिरफ्तारी का डर सता रहा है। गुरुग्राम के स्कूल में हुई जानलेवा लापरवाही ने रेयान के दूसरे स्कूलों में भी लापरवाहियों का पिटारा सा खोल दिया है। अब जांच की आंच पिंटो फैमली तक पहुंच गई है।

इससे पहले प्रद्युम्न मर्डर केस के आरोपी बस कंडक्टर अशोक को मंगलवार (12 सितंबर) को तीन दिन की पुलिस रिमांड के बाद सोहना कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 18 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

सोहना कोर्ट में पेशी के लिए लाए गए आरोपी अशोक पर लोग भड़क गए और पीटने की कोशिशों के बीच काफी हंगामा हुआ। इसी बीच रेयान इंटरनेशनल स्कूल के बस ड्राइवर सौरभ राघव ने चौंकाने वाला खुलासा किया। उसने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू टूल किट का हिस्सा नहीं था।

रेयान इंटरनेशनल स्कूल के वकील ने बताया कि स्कूल के संस्थापक अध्यक्ष अगेस्टेन पिंटो और स्कूल की प्रबंध निदेशक उनकी पत्नी ग्रेस पिंटो ने अपने बेटे रेयान पिंटो के साथ बंबई हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिये याचिका दायर की थी। जिसपर बॉम्बे हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए गिरफ्तारी पर एक दिन की रोक लगा दी।

इससे पहले प्रद्युम्न ठाकुर के पिता की तरफ से दायर याचिका पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। कोर्ट ने केंद्र, हरियाणा सरकार, CBI और CBSE को नोटिस जारी किया। कोर्ट ने कहा कि यह एक बच्चे का नहीं, पूरे देश के बच्चों का मामला है। सुप्रीम कोर्ट ने दोनो सरकारों को फटकार लगाते हुए तीन  हफ्ते के अंदर जवाब तलब किया है।

गुड़गांव के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई छात्र की हत्या की जांच कर रही हरियाणा पुलिस ने कोर्ट में कई खुलासे किए हैं। पुलिस ने कहा कि स्कूल प्रशासन ने इस मामले में सबूत मिटाने की कोशिश किया है। पुलिस को मृतक प्रद्युम्न की बोतल पर खून के निशान भी मिले हैं। पुलिस का यह भी कहना है कि बाथरूम में लगी खिड़की की ग्रिल कटी हुई है। इससे कोई भी अंदर आ जा सकता है।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर मो. अकील ने बताया कि हम क्राइम सीन की जांच कर रहे हैं। इस बात को समझने की कोशिश की जा रही है कि इस वारदात को अकेले अंजाम दिया गया या फिर कोई और भी साथ था। यदि एक से अधिक लोग इसमें शामिल थे, तो उनकी भूमिका क्या रही होगी। इसके साथ ही केस संबंधित कुछ और गवाहों की तलाश की जा रही है।

एडीजी ने कहा कि इसमें कोई दो राय नहीं कि बस कंडक्टर अशोक कुमार ने ही इस वारदात को अंजाम दिया है, लेकिन अभी जांच पूरी नहीं हुई है। हम सही ट्रैक पर जांच कर रहे हैं। इसमें शामिल किसी भी आरोपी को छोड़ा नहीं जाएगा। हम हर एंगल से इस केस की जांच कर रहे हैं। रेयान स्कूल की तरफ से बहुत लापरवाही की गई है, जिसकी जांच जारी है।

उधर, हरियाणा पुलिस ने रेयान स्कूल के प्रद्युम्न मर्डर केस में स्कूल मैनेजमेंट के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। इसमें रेयान का रिजनल मैनेजर और एचआर हेड शामिल है।

अभिभावकों और मीडिया पर लाठीचार्ज के मामले में सोहना रोड और सदर थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया है। जांच कमेटी की रिपोर्ट में स्कूल की कई खामियां सामने आई हैं। इसमें स्कूल में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे खराब पाए गए हैं।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने प्रद्युम्न की मां से बात कर हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। इसके साथ ही उन्होंने हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से भी फोन पर बात की।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने प्रद्युमन के माता-पिता से बातचीत की है। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर वह सीबीआई जांच के लिए तैयार हैं।

बता दें रेयान इंटरनेशनल स्कूल में शुक्रवार सुबह सात वर्षीय छात्र प्रद्युम्न ठाकुर की चाकू से गला रेत हत्या कर दी गई थी। बच्चे का पिता उसे स्कूल के गेट पर सुबह सात बजकर पचास मिनट में गया। बीस मिनट बाद ही उसके पास फोन आया कि बच्चा बाथरूम में गिर गया है। पिता अस्पताल पहुंचे तो बच्चा मृत मिला था।

wefornews bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top