Connect with us

व्यापार

पेटीएम की विदेशी मुद्रा विनिमय सेवाएं शुरू

Published

on

paytm
File Photo

भुगतान वॉलेट सेवा प्रदाता पेटीएम ने कहा है कि उसने 20 अंतर्राष्ट्रीय मुद्राओं के लिए विदेशी मुद्रा सेवाओं को लॉन्च किया है।

पेटीएम ने एक बयान में कहा कि वह बहु मुद्रा विदेशी मुद्रा कार्ड और विदेशी मुद्रा नकदकी पेशकश करेगा। बयान में कहा गया, “इस पेशकश के तहत दो फीसदी का भुगतान करके वर्तमान दरों पर विदेशी मुद्रा का विनिमय किया जा सकता है और बाकी भुगतान सुपुर्दगी के वक्त की जा सकती है।”

कंपनी ने कहा कि इसके अलावा, ग्राहकों को उनकी खरीद या नकदी निकालने पर कोई कमीशन, सेवा शुल्क या अन्य छिपे हुए शुल्क नहीं देने होंगे। बयान में आगे कहा गया, “ग्राहक अपने फोरेक्स कार्ड में किसी एक वित्त वर्ष में 2,50,000 डॉलर लोड कर सकेंगे और करेंसी नोट्स के रूप में 3,000 डॉलर तक की खरीद कर सकेंगे।”

–आईएएनएस

व्यापार

सेंसेक्स, निफ्टी में 2 फीसदी से अधिक की गिरावट

Published

on

File Photo

बीते सप्ताह कच्चे तेल में तेजी, विदेशी पूंजी निवेश में गिरावट और डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी के बीच भारी बिकवाली के कारण घरेलू शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए।

साप्ताहिक आधार पर, सेंसेक्स 737.53 अंकों या 2.02 फीसदी की गिरावट के साथ 35,808.95 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 219.20 अंकों या 2 फीसदी की गिरावट के साथ 10,724.40 पर बंद हुआ।

सोमवार को शेयर बाजार की नकारात्मक शुरुआत हुई और सेंसेक्स 151.45 अंकों या 0.41 फीसदी की गिरावट के साथ 36,395.03 पर बंद हुआ। मंगलवार को भी गिरावट रही और सेंसेक्स 241.41 अंकों या 0.66 फीसदी की गिरावट के साथ 36,153.62 पर बंद हुआ।

बुधवार को सेंसेक्स 119.51 अंकों या 0.33 फीसदी की गिरावट के साथ 36,034.11 पर बंद हुआ। गुरुवार को बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा और सेंसेक्स 157.89 अंकों या 0.44 फीसदी की गिरावट के साथ 35,876.22 पर बंद हुआ।

शुक्रवार को सेंसेक्स 67.27 अंकों या 0.19 फीसदी की गिरावट के साथ 35,808.95 पर बंद हुआ। बीते सप्ताह सेंसेक्स के तेजी वाले शेयरों में – यस बैंक (25.11 फीसदी), टाटा मोटर्स (6.48 फीसदी), एनटीपीसी (3.18 फीसदी) और आईटीसी (1.36 फीसदी) प्रमुख रहे।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -महिंद्रा एंड महिंद्रा (8.08 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (7.85 फीसदी), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (7.75 फीसदी) और ओएनजीसी (5.85 फीसदी)।

आर्थिक मोर्चे पर, देश के फैक्टरी उत्पादन में पिछले साल दिसंबर में गिरावट दर्ज की गई और इसकी वृद्धि दर 2.4 फीसदी रही। जबकि साल 2017 के इसी महीने में इसकी वृद्धि दर 7.3 फीसदी थी। हालांकि माह-दर-माह आधार पर औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में समीक्षाधीन माह में बढ़ोतरी हुई है, जो कि नवंबर 2018 में 0.32 फीसदी थी।

देश के सामान के निर्यात में जनवरी में साल-दर-साल आधार पर 3.74 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी 2019 में देश का निर्यात बढ़कर 26.36 अरब डॉलर रहा, जो कि साल 2018 के इसी महीने में 25.41 अरब डॉलर था।

देश की थोक कीमतों पर आधारित सालाना महंगाई दर जनवरी 2019 में घटकर 2.76 फीसदी हो गई, जोकि जनवरी 2018 में 3.02 फीसदी थी।

वैश्विक मोर्चे पर, चीन के निर्यात में पिछले महीने अप्रत्याशित वृद्धि दर्ज की गई, जोकि पिछले साल जनवरी की तुलना में 9.1 फीसदी अधिक रही, जबकि दिसंबर में इसकी वृद्धि दर में 4.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी।

अमेरिका में खुदरा बिक्री में दिसंबर में 1.2 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई, जो कि 2009 के बाद से किसी एक महीने में सबसे बड़ी गिरावट है।

आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

शेयर बाजारों में गिरावट, सेंसेक्स 67 अंक नीचे

Published

on

sensex-min
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

मुंबई। देश के शेयर बाजारों में गिरावट दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 67.27 अंकों की गिरावट के साथ 35,808.95 पर और निफ्टी 21.65 अंकों की गिरावट के साथ 10,724.40 पर बंद हुआ।

बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 109.46 अंकों की तेजी के साथ 35,985.68 पर खुला और 67.27 अंकों या 0.19 फीसदी गिरावट के साथ 35,808.95 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 36,022.57 के ऊपरी और 35,510.97 के निचले स्तर को छुआ। सेंसेक्स के 30 में से 11 शेयरों में तेजी रही। एनटीपीसी (4.13 फीसदी), पॉवरग्रिड (3.80 फीसदी), ओएनजीसी (2.27 फीसदी), रिलायंस (1.47 फीसदी) और लार्सन एंड टूब्रो (1.31 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही।

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -सन फार्मा (3.94 फीसदी), टाटा स्टील (3.12 फीसदी), वेदांत (2.87 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (2.75 फीसदी) और बजाज फाइनेंस (1.90 फीसदी)। बीएसई के मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी गिरावट रही। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 167.07 अंकों की गिरावट के साथ 13,940.54 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 111.18 अंकों की गिरावट के साथ 13,363.99 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 34.2 अंकों की तेजी के साथ 10,780.25 पर खुला और 21.65 अंकों या 0.20 फीसदी गिरावट के साथ 10,724.40 पर बंद हुआ।

दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,785.75 के ऊपरी और 10,620.40 के निचले स्तर को छुआ। बीएसई के 19 में से छह शेयरों में तेजी रही। उपभोक्ता सेवाएं (2.63 फीसदी), बिजली (2.17 फीसदी), तेल और गैस (1.44 फीसदी), ऊर्जा (1.29 फीसदी) और दूरसंचार (1.06 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही। बीएसई के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -धातु (2.32 फीसदी), स्वास्थ्य सेवाएं (2.27 फीसदी), आधारभूत सामग्री (1.63 फीसदी), वाहन (1.21 फीसदी) और उपभोक्ता गैर-अनिवार्य वस्तु एवं सेवाएं (0.92 फीसदी)।

बीएसई में कारोबार का रुझान नकारात्मक रहा। कुल 883 शेयरों में तेजी और 1,650 में गिरावट रही, जबकि 128 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ।

–आईएएनएस

Continue Reading

व्यापार

पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार दूसरे दिन बढ़े

Published

on

petrol

पट्रोल और डीजल के दाम में लगातार दूसरे दिन वृद्धि दर्ज की गई। पेट्रोल के दाम में सात पैसे जबकि डीजल के दाम में छह से सात पैसे की वृद्धि की गई है।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों तेजी का सिलसिला पिछले चार दिनों से जारी है, जिससे आने वाले दिनों में पेट्रोल और डीजल के दाम में और इजाफा हो सकता है। 

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में शुक्रवार को पेट्रोल के दाम सात पैसे बढ़कर क्रमश: 70.46 रुपये, 72.57 रुपये, 76.10 रुपये और 73.14 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं।

डीजल के दाम में दिल्ली और कोलकाता में छह पैसे की वृद्धि के बाद क्रमश: 65.73 रुपये और 67.51 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं, जबकि मुंबई और चेन्नई में सात पैसे बढ़कर 68.83 रुपये और 69.44 रुपये प्रति लीटर हो गए हैं। 

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular