6 सप्ताह में पहली बार बढ़ा पेट्रोल का दाम | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

व्यापार

6 सप्ताह में पहली बार बढ़ा पेट्रोल का दाम

Published

on

petrol

नई दिल्ली: बीते छह सप्ताह में पहली बार पेट्रोल के दाम में इजाफा हुआ है। तेल विपणन कंपनियों ने शनिवार को पेट्रोल के दाम में मामूली वृद्धि की लेकिन डीजल की कीमत स्थिर रखी।

उधर, अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल में लगातार दस दिनों की तेजी के बाद पिछले सत्र में नरमी दर्ज की गई। पेट्रोल शनिवार को दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई में पांच पैसे जबकि मुंबई में चार पैसे प्रति लीटर महंगा हो गया। पेट्रोल के दाम में 11 जनवरी 2020 के बाद पहली बार वृद्धि हुई है। डीजल के दाम में लगातार चौथे दिन स्थिरता बनी रही।

इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार, दिल्ली, कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल का दाम बढ़कर क्रमश: 71.94 रुपये, 74.58 रुपये, 77.60 रुपये और 74.72 रुपये प्रति लीटर हो गया है। इससे पहले लगातार तीन दिनों तक तेल कंपनियों ने पेट्रोल के दाम में कोई बदलाव नहीं किया।

डीजल की कीमत बिना किसी बदलाव के लगातार चौथे दिन क्रमश: 64.65 रुपये, 66.97 रुपये, 67.75 रुपये और 68.27 रुपये प्रति लीटर पर बनी रही।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज पर बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का अप्रैल डिलीवरी अनुबंध शुक्रवार को 1.45 फीसदी की कमजोरी के साथ 58.45 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ। इससे पहले लगातार 10 दिनों में बेंट्र क्रूड के दाम में तकरीब छह डॉलर प्रति बैरल का इजाफा हुआ था। चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण तेल की मांग कमजोर होने से कीमतों पर फिर दबाव देखा जा रहा है।

–आईएएनएस

व्यापार

कोरोना के चलते अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी की संभावनाएं होंगी कमजोर: आरबीआई

Published

on

rbi
फाइल फोटो

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने कहा है कि कोरोनावायरस की महामारी का असर देश के भविष्‍य पर बुरा असर छोड़ेगा और लॉकडाउन का असर सीधे तौर पर देश की आर्थिक गतिविधियों भारी पड़ेगा। केंद्रीय बैंक ने अपनी मौद्रिक नीति रिपोर्ट में कहा है कि अनुमान के अनुसार, कोविड-19 की महामारी के कारण वैश्विक उत्‍पादन, सप्‍लाई, व्‍यापार और पर्यटन पर विपरीत असर पड़ेगा। आरबीआई की यह रिपोर्ट ऐसे समय आई है जब कोरोना वायरस की महामारी के कारण देश में लागू किया गया 21 दिन का लॉकडाउन 16वें दिन में प्रवेश कर चुका है। कोविड-19 के कारण आर्थिक गतिविधियां ठप हैं। पहले से ही मंदी के दौर से गुजर रही अर्थव्‍यवस्‍था पर इसका और असर पड़ेगा।

आरबीआई ने कहा है कि कोरोनोवायरस प्रकोप ने देश की अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी की संभावनाओं को बुरी तरह से प्रभावित किया है। कोविड-19 के फैलने से पहले, 2020-21 को ग्रोथ के दृष्टिकोण को देखा जा रहा था लेकिन महामारी ने इस धारणा को बदल दिया है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि वह कोरोना की तीव्रता, प्रसार और इसकी अवधि को लेकर स्थिति का आकलन कर रहा है। कोरोना वायरस के कारण लागू किए गए लॉकडाउन और वैश्विक गतिविधियों में आई सुस्‍ती निश्चित रूप से देश की आर्थिक विकास दर पर भारी पड़ेगी। आरबीआई ने कहा कि कोरोनोवायरस का प्रकोप मुद्रास्फीति पर प्रभाव डालेगा। आपूर्ति की बाधा के चलते के कारण खाद्य पदार्थों की कीमतों में गिरावट आ सकती है जबकि गैर खाद्य पदार्थों की कीमतें बढ़ने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। कोरोना वायरस की महामारी के चलते कई अर्थशास्त्रियों ने दुनिया भर में आपूर्ति बाधित होने की चेतावनी दी है।

गौरतलब है कि देश में कोरोना वायरस से प्रभावितों की संख्‍या बढ़ती जा रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 166 हो गई और संक्रमितों की कुल संख्या 5,734 हो गई है। मंत्रालय ने बताया कि अब भी 5,095 लोग संक्रमित हैं जबकि 472 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है।

Continue Reading

राष्ट्रीय

कोरोना से भारत की जीडीपी को झटका, 1.6 फीसदी रह सकती है ग्रोथ: गोल्डमैन सैक्श

Published

on

gdp down
प्रतीकात्मक तस्वीर

कोरोना के कहर से भारत की अर्थव्यवस्था को तगड़ा झटका लग सकता है। ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म गोल्डमैन सैक्श ने कहा है कि कोरोना के प्रकोप और लॉकडाउन की वजह से ​इस वित्त वर्ष यानी 2020-21 में देश के सकल घरेलू उत्पाद यानी जीडीपी में बढ़त दर महज 1.6 फीसदी रह सकती है।

गोल्डमैन सैक्श ने अपने पहले के अनुमान में भारी कटौती की है। इसके पहले उसने अनुमान लगाया था कि भारत की अर्थव्यवस्था में इस वित्त वर्ष में 3.3 फीसदी की बढ़त होगी। बता दें कि भारत में गत 25 मार्च से पूरी तरह से लॉकडाउन है और इसकी वजह से समूचा कारोबार और उद्योग ठप पड़ा है.

हालांकि, ब्रोकरेज फर्म ने यह भी कहा है कि इस वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में अर्थव्यवस्था में अच्छा सुधार हो सकता है। गोल्डमैन सैक्श ने अपनी रिपोर्ट में कहा, ‘हमें उम्मीद है कि रिजर्व बैंक अपनी मौद्रिक नीति में नरमी जारी रखेगा और सिस्टम में नकदी डालने के उपाय भी करता रहेगा। हालांकि यदि अगले कुछ महीनों में देश—दुनिया में इस महामारी पर काबू पाने में सफलता नहीं मिली तो अर्थव्यवस्था की गति में सुधार और देरी से होगा।’

Continue Reading

व्यापार

ओपेक, रूस की बैठक से पहले कच्चे तेल में तेजी

Published

on

Crude Oil


मुंबई, 9 अप्रैल (आईएएनएस)
| तेल निर्यातक देशों का समूह ओपेक और ओपेक के बाहर तेल के प्रमुख उत्पादक, उत्पादन कटौती को लेकर होने वाली बैठक से पहले अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में गुरूवार को लगातार दूसरे दिन तेजी रही। 

विदेशी बाजारों से मिले मजबूत संकेतों से घरेलू वायदा बाजार में भी कच्चे तेल में पांच फीसदी का उछाल आया। 

कोरोनावायरस के प्रकोप से दुनियाभर में आर्थिक गतिविधियां प्रभावित होने से कच्चे तेल की खपत में भारी गिरावट आ गई है जिसके कारण इसके दाम पर लगातार दबाव देखा जा रहा है।

इस दबाव को कम करने और उत्पादन में कटौती कर बाजार में संतुलन बनाने के मकसद से ओपेक और रूस के बीच गुरूवार को एक बैठक हो रही है जिसमें उत्पादन कटौती को लेकर करार हो सकता है। 

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले सप्ताह कहा था कि उन्होंने ओपेक का प्रमुख उत्पादक सउदी अरब और रूस को इस बात के लिया मनाया है और संभव है कि दोनों देश रोजाना 100-150 लाख बैरल उत्पादन कम करने को राजी हो।

मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) पर गुरूवार को सुबह 9.45 बजे कच्चे तेल का अप्रैल अनुबंध पिछले सत्र से 96 रुपए यानी 5.07 फीसदी की तेजी के साथ 1990 रुपए प्रति बैरल पर बना हुआ था। इससे पहले सुबह नौ बजे कच्चे तेल का अनुबंध एमसीएक्स पर 1969 रुपए पर खुला और 2007 रुपए प्रति बैरल तक उछला।

अंतर्राष्ट्रीय वायदा बाजार इंटरकांटिनेंटल एक्सचेंज (अईसीई) पर जून डिलीवरी ब्रेंट क्रूड का अनुबंध पिछले सत्र से 0.64 फीसदी की बढ़त के साथ 33.05 डॉलर प्रति बैरल पर बना हुआ था जबकि इससे पहले ब्रेंट का भाव 33.89 डॉलर प्रति बैरल तक उछला। पिछले सत्र में आईसीई पर ब्रेंट क्रूड में तीन फीसदी की तेजी आई। 

न्यूयार्क मर्केंटाइल एक्सचेंज यानी नायमैक्स पर अमेरिकी लाइट क्रूड वेस्ट टेक्सास के मई डिलीवरी अनुबंध में पिछले सत्र से 2.75 फीसदी की तेजी के साथ 25.78 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार चल रहा था।

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Amitabh Bachchan
मनोरंजन4 mins ago

बिग बी रोजाना वितरित कर रहे 2 हजार खाने के पैकेट

Coronavirus
राष्ट्रीय25 mins ago

कोराना के मरीजों को नहीं होगी सांस लेने में दिक्कत, बनी खास डिवाइस

Coronavirus
राष्ट्रीय35 mins ago

कोविड-19: आंध्र प्रदेश में 12 घंटे में कोई नया मामला नहीं

coronavirus
राष्ट्रीय44 mins ago

कोरानावायरस: भोपाल, इंदौर और उज्जैन किए गए सील

rbi
व्यापार53 mins ago

कोरोना के चलते अर्थव्‍यवस्‍था में रिकवरी की संभावनाएं होंगी कमजोर: आरबीआई

delhi high court
राष्ट्रीय1 hour ago

दिल्ली हाई कोर्ट ने गर्मी की छुट्टियां की निलंबित, अब जून महीने में भी काम करेंगी अदालतें

मनोरंजन2 hours ago

नुपूर ने लिखी कविता, सुनकर भावुक हुईं कृति

Coronavirus
राष्ट्रीय2 hours ago

कर्नाटक में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 6 हुई

Corona India Tablighi Jamaat
राष्ट्रीय2 hours ago

उप्र : मऊ में 2 और जमातियों की हुई पहचान

Coronavirus
राष्ट्रीय2 hours ago

क्वारंटाइन में प्रकृति से जोड़ा नाता

WHO Tedros Adhanom Ghebreyesus
अंतरराष्ट्रीय3 days ago

चीन ने महामारी के फैलाव को कारगर रूप से नियंत्रित किया : डब्ल्यूएचओ

मनोरंजन2 weeks ago

शिवानी कश्यप का नया गाना : ‘कोरोना को है हराना’

Honey Singh-
मनोरंजन1 month ago

हनी सिंह का नया सॉन्ग ‘लोका’ हुआ रिलीज

Akshay Kumar
मनोरंजन1 month ago

धमाकेदार एक्शन के साथ रिलीज हुआ ‘सूर्यवंशी’ का ट्रेलर

Kapil Mishra in Jaffrabad
राजनीति2 months ago

3 दिन में सड़कें खाली हों, वरना हम किसी की नहीं सुनेंगे: कपिल मिश्रा का अल्टीमेटम

मनोरंजन2 months ago

शान का नया गाना ‘मैं तुझको याद करता हूं’ लॉन्च

मनोरंजन2 months ago

सलमान का ‘स्वैग से सोलो’ एंथम लॉन्च

Shaheen Bagh Jashn e Ekta
राजनीति2 months ago

Jashn e Ekta: शाहीनबाग में सभी धर्मो के लोगों ने की प्रार्थना

Tiger Shroff-
मनोरंजन2 months ago

टाइगर की फिल्म ‘बागी 3’ का ट्रेलर रिलीज

Human chain Bihar against CAA NRC
शहर2 months ago

बिहार : सीएए, एनआरसी के खिलाफ वामदलों ने बनाई मानव श्रंखला

Most Popular