लंदन में पाक समर्थकों ने भारतीय उच्चायोग पर किया हमला | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

लंदन में पाक समर्थकों ने भारतीय उच्चायोग पर किया हमला

Published

on

India Ambasy
फोटो-ANI

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान और उसके समर्थकों की बौखलाहट जारी है। लंदन में भारतीय उच्चायोग के बाहर पाकिस्तानी समर्थकों ने प्रदर्शन किया।

इस दौरान उन्होंने नारेबाजी करते हुए पथराव शुरू कर दिए। पथराव में भारतीय उच्चायोग की इमारत के शीशे टूट गए हैं।

पाकिस्तानी समर्थकों के हिंसक प्रदर्शन में उच्चायोग की इमारत को नुकसान पहुंचा है। इस बात की जानकारी ट्वीट कर भारतीय उच्चायोग ने दी है। तस्वीर में भारतीय उच्चायोग की इमार के शीशे टूटे हुए दिखाई दे रहे हैं

WeForNews

अंतरराष्ट्रीय

कोविड-19 : अमेरिका ने ब्राजील पर लगाए यात्रा प्रतिबंध

Published

on

Airline-

वाशिंगटन: अमेरिका के बाद ब्राजील कोरोनावायरस संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। व्हाइट हाउस ने इसी के मद्देनजर रविवार को घोषणा कर कहा कि यूएस ने अब ब्राजील पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने व्हाइट हाउस द्वारा जारी बयान के हवाले से कहा, “राष्ट्रपति (ट्रंप) ने हमारे देश की रक्षा के लिए निर्णायक कार्रवाई करते हुए आज से (रविवार) यूएस (यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका) में ब्राजील से आने वाले लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है।”

व्हाइट हाउस ने बयान में आगे कहा कि इस कार्रवाई के चलते ब्राजील में रहने वाले विदेशी नागरिकों को कारण अमेरिका में अतिरिक्त संक्रमण का खतरा नहीं बढ़ेगा।

हालांकि, व्हाइट हाउस ने यह स्पष्ट किया है कि दोनों देशों के बीच वाणिज्य के प्रवाह पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

कोविड-19 : इजरायल में लगातार 4 दिनों तक संक्रमण के चलते कोई मौत नहीं

Published

on

Corona Test Screening

यरुशलम, 25 मई (आईएएनएस) इजरायल में कोरोनावायरस महामारी के चलते पिछले चार दिनों से कोई नई मौत दर्ज नहीं हुई है। मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने मिनिस्ट्री के हवाले से कहा, “कोविड-19 संक्रमण के चलते 20 मई को दर्ज हुई आखिरी मौत के बाद से इसराइल में महामारी से मरने वालों की संख्या 279 पर बनी हुई है।”

मिनिस्ट्री ने कहा कि संक्रमण के पांच नए मामले भी रिपोर्ट हुए हैं, जिसके बाद से कुल आंकड़ा बढ़कर 16 हजार 717 हो गया है। यह 7 मार्च के बाद से सर्वाधिक कम संख्या है।

वर्तमान में कुल 126 मरीज अस्पताल में भर्ती हैं, जिनमें से 44 की हालत गंभीर बनी हुई है। एक दिन पहले यह आंकड़ा 47 था।

उपचार के बाद पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हुए 63 नए मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है, जिसके बाद से ठीक हुए व्यक्तियों का आंकड़ा बढ़कर 14 हजार 153 हो गया है। वहीं, 24 मार्च के बाद से सबसे कम, वर्तमान में कुल 2 हजार 285 लोग कोविड-19 संक्रमण से ग्रस्त हैं। 

इजरायल के हेल्थ मिनिस्टर यूली एडेलस्टीन और कल्चर मिनिस्टर हिलि ट्रॉपर ने रविवार को अपनी सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि जारी प्रतिबंधों में 14 जून से राहत देते हुए नाटक, फिल्में और शो जनता के लिए फिर से शुरू होंगे। 

इस प्रकार से इन कार्यक्रमों में कुल क्षमता के मुकाबले अधिकतम 75 प्रतिशत लोगों को आने की अनुमति प्रदान की जाएगी और इस दौरान लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए मास्क लगाना अनिवार्य होगा।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

चीन द्वारा भारतीय सैनिकों को हिरासत में लेने की खबर झूठी

Published

on

By

china
प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। भारतीय सेना ने उन खबरों को सिरे से खारिज कर दिया, जिसमें कहा गया था कि लद्दाख में चीनी सेना ने भारतीय सेना व आईटीबीपी के जवानों के एक संयुक्त गश्ती दल को हिरासत में ले लिया है। यह दावा किया गया था कि एक भारतीय गश्ती दल, जिसमें सेना और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस बल (आईटीबीपी) के जवान थे, उन्हें लद्दाख में झड़पों के बाद पिछले हफ्ते चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने हिरासत में ले लिया है।

खबरों में दावा किया गया था कि भारतीय टीम को हिरासत में लिया गया और चीनियों ने उनके हथियारों को भी छीन लिया। दावा किया गया कि स्थानीय स्तर पर दोनों पक्षों के बीच बातचीत के बाद ही उन्हें छोड़ा गया।

भारतीय सेना ने स्पष्ट किया है कि हिरासत में रखने की रिपोर्ट गलत है। भारतीय सेना के प्रवक्ता अमन आनंद ने इसकी पुष्टि की कि यह रिपोर्ट गलत है।

अमन आनंद ने कहा, “हम स्पष्ट रूप से इससे इनकार करते हैं, जब मीडिया में ऐसी खबरें आती हैं तो इससे केवल राष्ट्रीय हितों को चोट पहुंचती है।”

चीनी बलों पर आरोप लगाया गया था कि वे भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ कर रहे थे और पैंगोंग झील में मोटर नौकाओं के साथ आक्रामक गश्त भी कर रहे थे।

वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर तनाव के कारण दोनों सेनाओं ने अग्रिम स्थानों पर अपनी सेनाओं और उपकरणों की तैनाती बढ़ा दी है। दोनों अग्रिम स्थानों पर हाई अलर्ट है, जहां तनाव और झड़पें हुईं हैं।

भारतीय सेना ने स्पष्ट किया है कि वह भारतीय क्षेत्र में किसी भी प्रकार के चीनी घुसपैठ की अनुमति नहीं देगी और उन क्षेत्रों में गश्त करेगी, जहां झड़पें हुई हैं।

भारतीय सेना प्रमुख, जनरल मनोज मुकुंद नरवने ने शुक्रवार को लद्दाख में 14 कोर के मुख्यालय, लेह का दौरा किया और चीन के साथ वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बलों की तैनाती की समीक्षा की।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular