एफएटीएफ की बैठक में पाकिस्तान मांगेगा और मोहलत | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

एफएटीएफ की बैठक में पाकिस्तान मांगेगा और मोहलत

Published

on

Imran Khan
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के आर्थिक मामलों के राज्यमंत्री हमद अजहर और उनकी टीम से बीजिंग में शुरू हो रही आतंक के वित्तपोषण पर नजर रखने वाली अंतर्राष्ट्रीय संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की संयुक्त बैठक में 22 बिंदुओं पर देश के प्रदर्शन की समीक्षा करेगी और इसके साथ ही थोड़ी और मोहलत की भी मांग करेगी। एक समाचार रिपोर्ट में इस बात की जानकारी दी गई।

द न्यूज इंटरनेशनल ने इस रपट में कहा कि तीन दिवसीय (मंगलवार से गुरुवार) इस बैठक में पाकिस्तान के 17 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी वित्तपोषण से निपटने के लिए देश के प्रदर्शन का आकलन करने के लिए एफएटीएफ द्वारा दी गई 22 प्रमुख कार्ययोजना बिंदुओं पर अपनी बात रखने के उद्देश्य से भाग ले रहे हैं।

दूसरी ओर, एफएटीएफ की आगामी विस्तृत बैठक की सम्भवत: अगले महीने पेरिस में आयोजित होने की उम्मीद है, जहां पाकिस्तान के लिए तीन संभावनाएं हो सकती हैं-या तो ग्रे सूची से बाहर किया जाएगा और सफेद सूची पर लाया जाएगा या सबसे खराब स्थिति में ब्लैकलिस्ट कर दिया जाएगा। ग्रे लिस्ट की स्थिति में पाकिस्तान साल 2018 के जून से मौजूद है।

पाकिस्तान ने अपनी अनुपालन रिपोर्ट में एफएटीएफ के संयुक्त समूह को अवगत कराया कि देश में ज्यादा से ज्यादा 500 आतंक-वित्तपोषण से संबंधित मामले दर्ज किए गए थे, जिनमें से 55 अदालत में दोषी ठहराए गए।

अपनी पिछली बैठक में एफएटीएफ ने कार्ययोजना के कुल 27 बिंदुओं में से केवल पांच पर ही संतोष दिखाया था और फरवरी तक देश को ग्रे सूची में रखने का निर्णय लिया था।

जानकार सूत्रों के मुताबिक, कार्ययोजना के बचे कुल 22 बिंदुओं पर अपनी बात रखने की फरवरी तक की समयसीमा बहुत कम होने के चलते पाकिस्तान को इस बात की उम्मीद है कि एफएटीएफ उन्हें संभवत: जून या सितंबर तक का और वक्त दे दें।

पाकिस्तान अब तक चीन, तुर्की, मलेशिया, सऊदी अरब और मध्य पूर्वी देशों के राजनयिक समर्थन के चलते ब्लैकलिस्ट से बचने में सफल रहा है।

अब ब्लैकलिस्ट में शामिल होने से बचने के लिए एफएटीएफ फोरम के कुल 39 सदस्यों में से सिर्फ तीन वोटों की आवश्यकता है।

–आईएएनएस

अंतरराष्ट्रीय

भारतीयों के साथ होने को लेकर उत्सुक हूं : ट्रंप

Published

on

donald trump
फाइल फोटो

न्यूयॉर्क: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह भारत के लोगों के साथ होने को लेकर उत्सुक हैं। वे जर्मनी के रामस्टीन एयर बेस में थोड़ी देर रुकने के बाद अहमदाबाद पहुंचने वाले हैं। उनके साथ यात्रा कर रहे पूल रिपोर्टर ने यह जानकारी दी।

एयर फोर्स वन रविवार को ईंधन भरने के लिए बेस में 80 मिनट के लिए रुका और स्थानीय समयानुसार रात 11. 30 बजे (भारतीय समयानुसार सुबह चार बजे) यात्रा जारी की। ट्रंप के पूर्वाह्न 11.40 बजे अहमदाबाद पहुंचने का कार्यक्रम है।

व्हाइट हाउस से रवाना होने से पहले उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि उन्हें लग रहा है कि दो दिन की यात्रा पर्याप्त नहीं है, हालांकि यह बहुत रोमांचक होगा।

उन्होंने कहा, “मैं वहां एक रात रहने जा रहा हूं। यह बहुत पर्याप्त नहीं है। लेकिन यह बहुत रोमांचक होने वाला है।”

नवंबर में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के प्रचार के लिए के चलते उन्होंने इतने कम दिनों का कार्यक्रम रखा।

भारत से लौटने के अगले दिन ट्रंप को शनिवार को होने वाले प्राइमरी चुनाव से पहले गुरुवार को दक्षिण कैरोलिना में एक रैली करनी है।

उन्होंने कहा, “मैं भारत के लोगों के साथ होने के लिए उत्सुक हूं।”

ट्रंप ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री, प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी के साथ उनकी अच्छी बनती है। वह उनके अच्छे दोस्त हैं। और इस यात्रा के लिए वह बहुत समय पहले से प्रतिबद्ध है और भारत आने को लेकर उत्सुक हैं।

अहमदाबाद के सरदार पटेल स्टेडियम में होने वाले ‘नमस्ते मोदी’ कार्यक्रम के बारे में ट्रंप ने कहा कि उन्होंने सुना है कि ‘यह एक बहुत बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है। कुछ लोग कहते हैं कि यह उनका सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा। प्रधानमंत्री ने उन्हें यही बताया है।’

इससे पहले उन्होंने ट्वीट किया था, “भारत में अपने शानदार दोस्तों के साथ होने को लेकर उत्सुक हूं।”

2014 में रीयल एस्टेट बिजनेसमैन के तौर पर भारत आए ट्रंप इस बार अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में भारत आ रहे हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ईरान में फिर आया 5.7 तीव्रता का भूकंप

Published

on

Earthquake-min

तेहरान: ईरान के उत्तर-पश्चिमी प्रांत वेस्ट अजरबैजान के कोटूर क्षेत्र में एक बार फिर 5.7 तीव्रता का भूकंप आया। ईरान के भूकंप विज्ञान केंद्र ने यह जानकारी दी।

यह भूकंप स्थानीय समय अनुसार रविवार शाम 7.30 बजे आया और इसका केंद्र 38.505 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 44.388 डिग्री पूर्वी देशांतर में 12 किलोमीटर गहराई में पाया गया।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, इससे पहले रविवार को ही इसी क्षेत्र में 5.7 तीव्रता का एक और भूकंप आया था, जिसमें लगभग 100 लोग घायल हो गए थे और दर्जनों गांव क्षतिग्रस्त हो गए थे।

स्थानीय रिपोर्ट्स के अनुसार, भूकंप आने से प्रभावित क्षेत्र में बिजली व्यवस्था ठप हो गई है।

वेस्ट अजरबैजान प्रांत के गवर्नर ने आईआरआईबी टीवी को बताया कि पहाड़ों के बीच होने के कारण क्षेत्र बहुत दुर्गम स्थान पर है।

उन्होंने कहा कि बचाव दलों को प्रभावित क्षेत्र के लिए भेज दिया गया है।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

ईरान परमाणु समझौता बचाने को ईयू संग वार्ता को तैयार : रूहानी

Published

on

Hassan Rouhani

तेहरान: ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि उनका देश 2015 के ऐतिहासिक परमाणु समझौते को बचाने के संभावित तरीकों पर यूरोपीय संघ (ईयू) के साथ बातचीत करने के लिए खुला है, जो ईरान और प्रमुख विश्व शक्तियों और के बीच हुआ था। मीडिया ने यह जानकारी दी। प्रेस टीवी के मुताबिक, शनिवार को यहां डच विदेश मंत्री स्टेफ ब्लोक के साथ बैठक के दौरान रूहानी ने कहा, “हमारा मानना है कि परमाणु समझौते ने क्षेत्र और दुनिया के हितों को पूरा किया है और अमेरिका का कदम सभी (देशों) यहां तक कि अमेरिकी लोगों को भी नुकसान पहुंचा रहा है।”

उन्होंने कहा, “जेसीपीओए (ज्वाइंट कॉम्प्रिहेंसिव प्लान ऑफ एक्शन) से अमेरिका के बाहर होने के बाद पिछले 21 महीनों में, ईयू दुर्भाग्यवश आपसी संबंधों और जेसीपीओए के तहत अपनी प्रतिबद्धताओं की पूर्ति के अनुरूप प्रभावी कदम उठाने में विफल रहा है।”

वहीं, डच मंत्री ने कहा कि उनका देश जेसीपीओए को बचाने के लिए प्रयास करेगा और समस्याओं को हल करने के साधन के रूप में वार्ता जारी रखने के महत्व पर जोर दिया।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मई 2018 में जेसीपीओए से अमेरिका को अलग कर दिया और ईरान के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगा दिए।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular