Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

पाकिस्तान: चुनावी रैली में धमाका, 14 की मौत

Published

on

New York explosion
File Photo

पाकिस्तान के पेशावर में चुनावी रैली के दौरान बम धमाका होने की खबर सामने आई है। इस घटना में 14 लोगों की मौत हो गई जबकि 65 घायल हो गए।

मरने वालो में स्थानीय नेता हारून बिलौर भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक यह बम धमाका आत्मघाती बम धमाके से हुआ है। यह धमाका आवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली के दौरान हुआ। पुलिस के मुताबिक घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया है और इस बात की जांच की जा रही है कि हमले के पीछे किसका हाथ है।

वहीं इस हमले इमरान खान ने दुख जाहिर करते हुआ कहा कि मैं हारून बिलौर और 2 अन्य एएनपी कार्यकर्ताओं की मौत से दुखी हूं और इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं। इमरान खान ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों और उनके उम्मीदवारों को चुनावी रैली के दौरान सुरक्षा मुहैया कराई जानी चाहिए।

सभी घायलों को लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनास्थल पर राहत और बचाव का कार्य चल रहा है। जानकारी के मुताबिक रैली में 300 से ज्यादा लोग शामिल थे। यह रैली पेशावर के खैबर पख्तूनवा प्रांत में हो रही थी। यहां आवामी नेशनल पार्टी की सरकार है। जाहिर है कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को चुनाव होने हैं।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक विस्फोट में कई लोग घायल हो गए हैं, जिसमे कई नेता भी शामिल हैं। हमले में गंभीर रूप से घायल हारून बिल्लौर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी मृत्यु हो गई।  बम निरोधक दस्ते ने धमाके की पुष्टि करते हुए बताया कि 12 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री बरामद किया गया था। इस हमले की अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

WeForNews

अंतरराष्ट्रीय

कैलिफोर्निया के जंगल में आग, मृतकों की संख्या हुई 44

Published

on

प्रतीकात्मक फोटो

कैलिफोर्निया के जंगलों में लगी भीषण आग में मरने वालों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है। प्रबंधन अधिकारी शेरिफ कोरी एल. हॉनिया ने सोमवार रात मीडिया को बताया कि 44 में से 42 की मौत उत्तरी कैलिफोर्निया के कैंप फायर में व दो की मौत मालिबू के वूल्सी फायर में हुई है।

न्यूयार्क टाइम्स ने होनिया के हवाले से बताया कि उत्तरी कैलिफोर्निया के नगर पैराडाइज में लगभग 200 से ज्यादा लोग लापता हैं। कैंप फायर राज्य के इतिहास में सबसे विनाशकारी आग है। यह तीनों आग की घटनाओं में सबसे बड़ी व भयावह है।

पैराडाइज शहर में आठ नवंबर की सुबह लगी आग ने पूरे शहर को तबाह कर दिया है और करीब 6,453 घरों इमारतों को नष्ट कर दिया है। आग लगभग 1,17,000 एकड़ में फैली है।

शेरिफ होनिया ने कहा, “मैं उम्मीद करता हूं कि हर रात आकर मुझे और बड़े आंकड़े की रिपोर्ट न करनी पड़े।” शिको शहर के पूर्व की ओर पहाड़ियों और घाटियों की ओर बढ़ रही कैंप फायर भी कैलिफोर्निया के इतिहास की सबसे भयावह है। इसमें 7,100 इमारतें नष्ट हो गईं हैं जिनमें ज्यादातर घर थे।

इसी दौरान लॉस एंजलिस के पश्चिम में लगी वूल्से आग ने लगभग 435 इमारतों को नष्ट कर दिया। इससे पहले रविवार रात तक 177 इमारतों के नष्ट होने की खबर थी।

इसके अलावा अन्य 57,000 इमारतों पर अब भी खतरा मंडरा रहा है। इस आग ने 90,000 एकड़ से ज्यादा क्षेत्र को तबाह कर दिया है। कैलिफोर्निया फायर विभाग के अनुसार, हिल फायर के नाम से प्रसिद्ध तीसरी जगह लगी आग ने वेंचुरा काउंटी में 4,500 एकड़ क्षेत्र को तबाह कर दिया।

न्यूयार्क टाइम्स ने राष्ट्रीय मौसम सेवा के हवाले से बताया कि दक्षिणी कैलिफोर्निया शहर में स्थिति और बदतर होने की संभावना है जहां वूल्सी और हिल फायर सक्रिय है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार शाम कहा कि उन्होंने कैलिफोर्निया में लगी आग को भयावह त्रासदी घोषित करने के आग्रह को स्वीकार कर लिया है जिससे इससे प्रभावित लोगों को सरकारी सहायता मिल सकेगी।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

अमेरिका पर सीरिया संकट के राजनीतिक समाधान में बाधा डालने का आरोप

Published

on

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद व एक ईरानी अधिकारी ने इस बात पर सहमति जताई कि अमेरिका द्वारा सीरिया के राजनीतिक समाधान की प्रक्रिया में बाधा डाली जा रही है।

सरकारी समाचार एजेंसी सना ने यह जानकारी दी। यह टिप्पणी असद ने सीरिया के दौरे पर आए ईरान के विदेश मंत्री के राजनीतिक मामलों के विशेष सहायक हुसैन जबेरी अंसारी के साथ राजधानी दमिश्क में मुलाकात के दौरान की।

उन्होंने कथित तौर पर आतंकवाद रोधी प्रयासों व राजनीतिक प्रक्रिया में प्रगति खास तौर से सीरियाई संविधान के अध्ययन के लिए संवैधानिक समिति के गठन पर चर्चा की।

अंसारी ने संवैधानिक समिति के गठन के साथ ही इसकी कार्य की प्रणाली को लेकर सीरिया के विदेश मंत्री वालिद अल मोल्लेम से भी मुलाकात की।सीरिया में संवैधानिक समिति का गठन एक जटिल मुद्दा बन चुका है।

हाल ही में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अपनी टिप्पणी में कहा था कि वह उम्मीद करते हैं कि समिति 2018 के अंत तक अपना कामकाज शुरू कर देगी।

संवैधानिक समिति में 150 सदस्यों के शामिल होने की उम्मीद है, जिसे समान रूप से तीन भागों में विभाजित किया जाएगा, जिसमें एक समूह को सरकार, दूसरे समूह को विपक्ष व तीसरे समूह को सीरिया के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष राजनयिक स्टाफेन डी मिस्टुरा द्वारा चुना जाना है।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

नाटो सैन्य अभ्यास पर जारी रहे संवाद: पुतिन

Published

on

Vladimir Putin
फाइल फोटो

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) द्वारा हाल ही में किए गए व्यापक सैन्य अभ्यासों पर रूस शांतिपूर्ण तरीके से प्रतिक्रिया कर रहा है। उन्होंने इस मामले पर संवाद जारी रखने की इच्छा जताई।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, पुतिन ने रशिया टुडे टीवी चैनल के साथ एक साक्षात्कार में कहा, “निष्पक्ष तौर पर, हम नाटो सदस्य देशों की सीमाओं के करीब व्यापक सैन्य अभ्यास नहीं करने का प्रयास कर रहे हैं..लेकिन सामान्य तौर पर हम इस पर शांतिपूर्ण तरीके से प्रतिक्रिया कर रहे हैं।”

नाटो ने 25 अक्टूबर से सात नवंबर तक नॉर्वे और उसके पास के समुद्र में ‘ट्राइडेंट जंक्चर 2018’ सैन्य अभ्यास किया था, जो शीतयुद्ध की समाप्ति के बाद से सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास था।

पुतिन ने कहा, “संवाद की मांग हमेशा से रही है और मुझे आशा है कि संवाद हालात पर सकारात्मक प्रभाव डालेगा।” राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि वह उत्तरी अटलांटिक गठबंधन के विकल्प में एक यूरोप की सभी सेनाओं को मिलाकर एक सैन्यबल स्थापित करने के विचार का समर्थन करते हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular