Connect with us

अंतरराष्ट्रीय

पाकिस्तान: चुनावी रैली में धमाका, 14 की मौत

Published

on

New York explosion
File Photo

पाकिस्तान के पेशावर में चुनावी रैली के दौरान बम धमाका होने की खबर सामने आई है। इस घटना में 14 लोगों की मौत हो गई जबकि 65 घायल हो गए।

मरने वालो में स्थानीय नेता हारून बिलौर भी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक यह बम धमाका आत्मघाती बम धमाके से हुआ है। यह धमाका आवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली के दौरान हुआ। पुलिस के मुताबिक घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेज दिया गया है और इस बात की जांच की जा रही है कि हमले के पीछे किसका हाथ है।

वहीं इस हमले इमरान खान ने दुख जाहिर करते हुआ कहा कि मैं हारून बिलौर और 2 अन्य एएनपी कार्यकर्ताओं की मौत से दुखी हूं और इस हमले की कड़ी निंदा करता हूं। इमरान खान ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों और उनके उम्मीदवारों को चुनावी रैली के दौरान सुरक्षा मुहैया कराई जानी चाहिए।

सभी घायलों को लेडी रीडिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटनास्थल पर राहत और बचाव का कार्य चल रहा है। जानकारी के मुताबिक रैली में 300 से ज्यादा लोग शामिल थे। यह रैली पेशावर के खैबर पख्तूनवा प्रांत में हो रही थी। यहां आवामी नेशनल पार्टी की सरकार है। जाहिर है कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को चुनाव होने हैं।

स्थानीय मीडिया के मुताबिक विस्फोट में कई लोग घायल हो गए हैं, जिसमे कई नेता भी शामिल हैं। हमले में गंभीर रूप से घायल हारून बिल्लौर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी मृत्यु हो गई।  बम निरोधक दस्ते ने धमाके की पुष्टि करते हुए बताया कि 12 किलोग्राम विस्फोटक सामग्री बरामद किया गया था। इस हमले की अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है।

WeForNews

अंतरराष्ट्रीय

अफगान बलों ने 17 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया

Published

on

afghanistan
File Photo

अफगान सुरक्षा बलों द्वारा कुंदुज प्रांत में गुरुवार को सुरक्षा जांच चौकियों पर तालिबान के हमलों पर जवाबी कार्रवाई के दौरान लगभग 17 विद्रोहियों को मार गिराया और एक दर्जन से ज्यादा विद्रोही घायल हो गए।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने पुलिस के बयान के हवाले से कहा, “तालिबान आतंकवादियों ने बड़ी संख्या में बुधवार को स्थानीय समयानुसार रात 1.30 बजे इमाम साहिब जिले में सुरक्षा चौकियों पर हमला किया, लेकिन वे इसमें असफल रहे और आतंकवादी मारे गए।”

हालांकि, अभी जानकारी नहीं मिल पाई है कि क्या इस हमले में कोई सुरक्षाकर्मी हताहत हुआ है या नहीं। इस बीच इमाम साहिब जिले के गवर्नर महबुदुल्ला सईदी ने कहा कि इस हमले में तीन सुरक्षाकर्मी घायल हो गए। तालिबान की ओर से कोई बयान जारी नहीं हुआ है।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

तुर्की में 2 साल बाद आपातकाल हटा

चुनाव अभियान के दौरान, विपक्षी उम्मीदवारों ने कहा था कि अगर वे जीते तो वे आपातकाल की स्थिति समाप्त कर देंगे।

Published

on

Erdogan

अंकारा, 19 जुलाई | तुर्की सरकार ने दो साल पहले तख्तापलट की असफल कोशिश के बाद देशभर में लगाए गए आपातकाल को हटा लिया है। बीबीसी ने बुधवार को बताया कि राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन के दोबारा चुनाव जीतने के कुछ सप्ताह बाद यह फैसला लिया गया।

देश में आपातकाल के दौरान हजारों लोगों को गिरफ्तार किया गया या नौकरियों से निकाल दिया गया।

चुनाव अभियान के दौरान, विपक्षी उम्मीदवारों ने कहा था कि अगर वे जीते तो वे आपातकाल की स्थिति समाप्त कर देंगे।

आधिकारिक आंकड़ों और गैर सरकारी संगठनों के मुताबिक, आपातकाल की स्थिति में सरकारी आदेश से 107,000 से अधिक लोगों को सार्वजनिक क्षेत्र की नौकरियों से निकाल दिया गया और 50,000 से ज्यादा लोगों को हिरासत में ले लिया गया, जिन पर मुकदमा लंबित है।

नौकरी से निकाले गए व हिरासत में लिए गए कई लोगों को निर्वासित इस्लामी धार्मिक नेता फतुल्लाह गुलेन के समर्थक माना जाता है, जो अमेरिका में रहते हैं और एर्दोगन के पूर्व सहयोगी हैं।

तुर्की ने गुलेन और उनके अनुयायियों पर 2016 में तख्ता पलट की साजिश रचने का आरोप लगाया गया था लेकिन गुलेन ने इससे साफ इनकार कर दिया था।

–आईएएनएस

Continue Reading

अंतरराष्ट्रीय

मलेशिया में आईएस से जुड़े 7 संदिग्ध गिरफ्तार

Published

on

फाइल फोटो

मलेशिया पुलिस ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से कथित तौर पर संबद्ध सात लाोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों में वह शख्स भी शामिल हैं, जिसने मलेशियाई सुल्तान और प्रधानमंत्री की हत्या की धमकी दी थी।

समाचार एजेंसी एफे ने रॉयल मलेशिया पुलिस के महानिरीक्षक मोहम्मद फूजी हारून के हवाले से बताया कि12 मार्च और 17 मार्च के बीच ऑपरेशन के दौरान एक महिला सहित तीन मलेशियाई नागरिक और तीन इंडोनेशियाई नागारिकों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार लोगों में से एक मलेशियाई नागरिक ने अपने फेसबुक अकाउंट का इस्तेमाल जोहर के सुल्तान, प्रधान मंत्री महातिर मोहम्मद और धार्मिक मामलों के मंत्री मुजाहिद यूसुफ रावा की हत्या करने की धमकी देते हुए कहा कि वे शरिया कानून के अनुसार देश पर शासन नहीं कर सकते।

अन्य तीन मलेशियाई लोगों ने कथित तौर पर सीरिया और इराक में मौजूद मलेशियाई आईएस आतंकवादियों से संपर्क किया या पैसा भेजा, या मध्य पूर्व में चरमपंथी समूहों में शामिल होने का इरादा जताया।

गिरफ्तार तीन इंडोनेशियाई लोगों में से दो ने इंडोनेशिया में चरमपंथी संगठनों के साथ संबंध रखने की बात स्वीकार की है जबकि एक ने स्वयं को आईएस का अनुसरण करने वाला घोषित कर दिया। उसने आईएस में शामिल होने के लिए सीरिया जाने की योजना बनाने की बात को स्वीकार किया।

हाल के वर्षों में मलेशिया में करीब 300 लोगों को आईएस के साथ संबंध रखने के आरोप में गिरफ्तार किया है जबकि करीब 100 मलेशियाई इराक और सीरिया में आतंकवादी समूहों के साथ इराक और सीरिया में लड़ रहे हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular