Connect with us

खेल

ओलम्पिक के कांस्य पदक के पास रखूंगी यह स्वर्ण पदक : सायना

Published

on

Saina Nehwal
File Photo

अपनी हमवतन और रियो ओलम्पिक की रजत पदक विजेता पी.वी. सिंधु को मात देकर 21वें राष्ट्रमंडल खेलों में महिला एकल वर्ग का स्वर्ण पदक जीतने वाली सायना नेहवाल का कहना है कि वह इस पदक को अपने लंदन ओलम्पिक के कांस्य पदक के पास रखेंगी।

वेबसाइट ‘ईएसपीएन डॉट कॉम’ की रिपोर्ट के अनुसार, सायना ने कहा कि यह पदक उनके लिए काफी खास है। इसीलिए, वह इसे खास जगह ही रखेंगी। वर्ल्ड नम्बर-12 सायना ने स्वर्ण पदक के लिए खेले गए मुकाबले में उलटफेर करते हुए वर्ल्ड नम्बर-3 सिंधु को सीधे गेमों में 21-18, 23-21 से मात देकर जीत हासिल की।

सायना का यह राष्ट्रमंडल खेलों का दूसरा स्वर्ण पदक है। इससे पहले उन्होंने 2010 में राजधानी दिल्ली में हुए 19वें राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। सायना ने कहा, “भारत में अगर मैं हारती हूं, तो 100 सवाल खड़े हो जाते हैं। सायना हार गई।

उसे संन्यास ले लेना चाहिए। इस पदक की इसलिए, मेरे लिए काफी खास अहमियत है। मैं इसे ओलम्पिक खेलों के कांस्य पदक के पास रखूंगी। रियो डी जनेरियो में चोटिल होने के कारण यह जीत मेरे लिए भावुकता से भरी हुई थी।”

–आईएएनएस

खेल

महेंद्र सिंह धोनी की जगह कोई नहीं ले सकता : रवि शास्त्री

Published

on

By

-ravi-shastri-ms-dhoni

मेलबर्न, 18 जनवरी | भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने कहा है कि टीम में महेंद्र सिंह धोनी की जगह कोई और नहीं ले सकता है इसलिए जब तक धोनी हैं हर हिंदुस्तानी को उनके खेल का लुत्फ उठाना चाहिए। शास्त्री ने यह बात ‘डेली टेलीग्राफ’ को दिए साक्षात्कार में कही। शास्त्री ने साथ ही कहा कि धोनी जैसे खिलाड़ी दशकों में एक बार पैदा होते हैं।

शास्त्री ने कहा,”आप उन्हें बदल नहीं सकते। उन जैसे खिलाड़ी 30-40 साल में एक बार आते हैं। यही मैं भारतीयों से कहता हूं। जब तक वह हैं उनके खेल का आनंद लो। जब वह चले जाएंगे तो एक बड़ा खालीपन होगा जिसे भरना मुश्किल होगा। मैं जानता हूं कि ऋषभ पंत हैं, लेकिन इतने लंबे समय तक खेल का दूत बनकर रहना शानदार है।”

बीते कुछ वर्षों से धोनी के टीम में बने रहने पर लगातार सवाल उठते रहे हैं। धोनी ने हालांकि आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज में लगातार तीन अर्धशतक जड़ अपने आलोचकों को करार जबाव दिया है। उनकी पारियों के दम पर ही भारत ने पहली बार आस्ट्रेलिया को उसके घर में द्विपक्षीय वनडे सीरीज में मात दी है।

धोनी इसी साल इंग्लैंड में होने वाले विश्व कप टीम का अहम हिस्सा माने जा रहे हैं। शास्त्री ने कहा विकेट के पीछे से उनका योगदान शानदार रहता है।

कोच के मुताबिक, “ऐसा इसलिए क्योंकि वह सही कोण से चीजें देखते हैं। वह टीम में पूजे जाते हैं। यह पूरी टीम उनके द्वारा बनाई हुई है क्योंकि वह पूरे 10 साल तक टीम के कप्तान रहे हैं। ड्रैसिंग रूम में इस तरह का अनुभव और सम्मान होना बड़ी बात है।”

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

टीम का संतुलन मेरे लिए प्राथमिकता : धोनी

Published

on

By

dhoni-batting

मेलबर्न, 18 जनवरी | बल्ले से अपनी फॉर्म वापस पा कर भारत को आस्ट्रेलिया में पहली द्विपक्षीय वनडे सीरीज जीताने वाले अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि उनके लिए टीम में संतुलन प्राथमिकता है और इसलिए वह किसी भी स्थान पर खेलने को तैयार हैं। धोनी ने कहा कि वह चाहे नंबर-4 या नंबर-6 पर खेलें उनके लिए टीम का संतुलन प्राथमिकता है। धोनी ने इस सीरीज के तीनों मैचों में अर्धशतक जमाए हैं और इसी कारण उन्हें मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

धोनी ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, “यह धीमी विकेट थी इसलिए आपनी मर्जी से खुलकर शॉट खेलना आसान नहीं था। मैच को आखिरी तक ले जाना जरूरी था। अच्छी गेंदबाजी कर रहे गेंदबाजों को मारना आसान नहीं था, इसलिए रणनीति यह थी जिसमें केदार जाधव ने अच्छा साथ दिया।”

पूर्व कप्तान ने कहा, “मैं चाहे नंबर-4 पर खेलूं या नंबर-6 पर, मेरे लिए जरूरी है कि टीम का संतुलन बना रहे। मेरे लिए अहम है कि मैं वहां बल्लेबाजी करूं जहां टीम मुझे चाहती है। मैं नंबर-6 पर भी बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हूं।”

भारत ने तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम की है।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

मेलबर्न वनडे : भारत 7 विकेट से जीता, सीरीज 2-1 से अपने नाम की

Published

on

भारतीय क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) पर खेले गए तीसरे और निर्णायक वनडे मैच में आस्ट्रेलिया को सात विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है। 

भारतीय गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए आस्ट्रेलिया को 48.4 ओवरों में 230 रनों पर ढेर कर दिया था। इस लक्ष्य को भारत ने 49.2 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर जीत दर्ज की। 

भारत के लिए अनुभवी बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी ने नाबाद 87 और केदार जाधव ने नाबाद 61 रन बनाए। उनके अलावा विराट कोहली ने 46 रन बनाए। 

इससे पहले, आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज युजवेंद्र चहल की फिरकी में फंस कर रह गए। लेग स्पिनर चहल ने छह विकेट अपने नाम किए। आस्ट्रेलिया के लिए पीटर हैंड्सकॉम्ब ने सबसे ज्यादा 58 रन बनाए जिसके लिए उन्होंने 63 गेंदें खेलीं और दो चौके मारे। 

हैंड्सकॉम्ब के अलावा शॉन मार्श ने 39 और उस्मान ख्वाजा ने 34 रन बनाए। 

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular