Connect with us

शहर

ओला-उबर की हड़ताल, दिल्ली-एनसीआर को छोड़कर इन शहरों में दिखा असर

Published

on

Ola_Uber
फाइल फोटो

ऐप द्वारा टैक्सी सेवा देने वाली कंपनियां ओला और उबर के ड्राइवर्स की देर रात से हड़ताल शुरू हो गई है। हालांकि दिल्ली-एनसीआर को छोड़कर देश के बाकी शहरों में इसका असर देखने को मिल रहा है। दिल्ली-एनसीआर में केवल कंपनी की कैब चल रही हैं, जिससे स्थिति कुछ हद तक नियंत्रण में है।

इन शहरों में पड़ा असर

इस हड़ताल का असर इन शहरों पर पड़ा है उनमें कोलकाता, चेन्नई, हैदराबाद सहित अन्य शहर शामिल हैं। इन शहरों में ज्यादातर लोग ऑफिस आने-जाने के लिए इन कंपनियों की कैब का प्रयोग करते हैं।

ओला और उबर चालकों के हड़ताल पर रहने से इन दोनों कंपनियों की सभी सेवाओं पर असर पड़ने की संभावना है। इसके चलते आम लोगों को ऑफिस, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट और अन्य जरूरी कामों के लिए आना-जाना मुश्किल हो रहा है। कैब चालकों ने अपने कैब बुकिंग करने वाले डिवाइस को देर रात से बंद कर दी।

ड्राइवर्स का कहना है कि उनकी आमदनी में लगातार कमी हो रही है। इन कंपनियों की ड्राइवर्स यूनियन की प्रमुख मांग है कि पहले की तरह उनको कम से कम 1.25 लाख रुपये का व्यापार मिले। दूसरा, कंपनी अपने द्वारा चलाई जा रहीं कैब को बंद करें।

तीसरा, उन ड्राइवर्स को दुबारा से रखा जाए जिनको कस्टमर्स ने कम रेटिंग दी है। चौथा, गाड़ी की कॉस्ट के मुताबिक, किराये का निर्धारण किया जाए और पांचवा, कम किराये पर बुकिंग को बंद किया जाए।

बता दें कि ओला जहां देश के 110 शहरों में अपनी सर्विस देती है, वहीं उबर 25 शहरों में मौजूद है। ओला से रोजाना करीब 20 लाख लोग सफर करते हैं। 10 लाख लोग उबर की टैक्सी से अपना रोजाना का सफर पूरा करते हैं।

WeForNews

शहर

उप्र : चिकित्सक पिटता रहा, एसपी-डीएम ने नहीं उठाया फोन!

“मंगलवार रात करीब चार-पांच शराबी युवक एक मरीज को लेकर आपातकालीन वार्ड पहुंचे और वहां तैनात चिकित्सक डॉ. अभिशेष को अकारण पीटने लगे। इस बीच पुलिस अधीक्षक और जिलाधिकारी को लगातार कई फोन किए गए, लेकिन दोनों अधिकारियों ने अपना सरकारी (सीयूजी) फोन नहीं उठाया। घटना के लगभग एक घंटे बाद पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) राघवेन्द्र सिंह अस्पताल पहुंचे, तब तक उपद्रवी भाग चुके थे।”

Published

on

Banda doctor

बांदा, 19 सितंबर | उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के सरकारी अस्पताल में मंगलवार रात कुछ शराबी युवक एक चिकित्सक के साथ मारपीट करते रहे। सीएमएस ने घटना की शिकायत करने के लिए पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी को फोन किया, लेकिन दोनों के फोन बहुत देर तक बजते रहे, मगर कोई जवाब नहीं मिला। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) डॉ. किशोरीलाल ने बुधवार को बताया, “मंगलवार रात करीब चार-पांच शराबी युवक एक मरीज को लेकर आपातकालीन वार्ड पहुंचे और वहां तैनात चिकित्सक डॉ. अभिशेष को अकारण पीटने लगे। इस बीच पुलिस अधीक्षक और जिलाधिकारी को लगातार कई फोन किए गए, लेकिन दोनों अधिकारियों ने अपना सरकारी (सीयूजी) फोन नहीं उठाया। घटना के लगभग एक घंटे बाद पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) राघवेन्द्र सिंह अस्पताल पहुंचे, तब तक उपद्रवी भाग चुके थे।”

पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) राघवेन्द्र सिंह ने बताया, “जब उन्हें सूचना मिली तो वह तत्काल अस्पताल पहुंचे, लेकिन उन्हें वहां कोई नहीं मिला।”

पुलिस अधीक्षक एस.आनंद ने कहा, “मंगलवार रात उनका फोन उनके पास नहीं था, सरकारी जीप में ही छूट गया था। इसलिए सीएमएस का फोन रिसीव नहीं हुआ।”

जिलाधिकारी हीरालाल ने बताया, “उनका सरकारी फोन अक्सर अर्दली के पास रहता है। काम की व्यस्तता के चलते वह फोन अपने पास नहीं रखते, इसलिए फोन नहीं उठा होगा। बुधवार को जब घटना की जानकारी मिली तो पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।”

पूरी घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है और पुलिस फूटेज खंगाल रही है।

— आईएएनएस

Continue Reading

शहर

एकतरफा प्यार में सिरफिरे ने एक्ट्रेस पर किया एसिड अटैक

Published

on

Acid Attack
प्रतीकात्मक तस्वीर

मध्यप्रदेश के इंदौर में एक सिरफिरे आशिक ने फॉक डांसर और रियलिटी शो कंटेस्टेंट पर केमिकल से अटैक कर दिया। इस अटैक से कलाकार की आंखों को बेहद नुकसान हुआ है। इलाज कर रहे डॉक्टर का कहना है कि पीड़िता की आंखों की रोशनी 20% तक कम हो गई है।

जानकारी के मुताबिक, पीड़िता 20 वर्षीय रूपाली निरापुर है। पेशे से फोक डांसर और एक उमदा कलाकार है। रूपाली पर ये अटैक तब हुआ जब वह अमेरिका में अपने कान्सर्ट के लिए कुछ घंटो बाद फ्लाइट पकड़ने वाली थी। रूपाली के साथ हुई इस घटना को लेकर डॉक्टर्स का कहना है कि हादसे में रूपाली के चेहरे पर कोई निशान नहीं पड़ा है लेकिन उनकी आंखों की कॉर्निया को अधिक नुकसान हुआ है जिसकी वजह से उन्हें 25% दिखना कम हो गया है।

रूपाली पर अटैक करने वाले शख्स का नाम महेंद्र उर्फ मोनू बताया जा रहा है, रूपाली और महेंद्र एक – दूसरे को जानते है। वह रूपाली से शादी करना चाहता था और इस बारे में वह रूपाली को कई बार कह भी चुका था लेकिन रूपाली ने उससे शादी करने से हर बार इंकार किया। रूपाली का शादी से मनाही करने की बात महेंद्र को इतनी नागवार गुजरी की उसने रूपाली पर केमिकल अटैक करने की योजना बनाई।
बता दें, रूपाली पर केमिकल अटैक करने की ये वारदात सीसीटीवी में कैद हो गई। इसमें महेंद्र को दोपहर करीब 12:30 बजे रूपाली के चेहरे पर केमिकल फेंकते देखा जा सकता है।

इस घटना पर रूपाली के पिता का कहना है कि एकतरफा प्यार में पागल महेंद्र ने रूपाली को मंगलवार को फोन किया और रूपाली से घर के बाहर मिलने की हठ करने लगा। रूपाली के बार-बार मना करने पर भी वो अपनी बात पर अड़ा रहता है। रूपाली जैसे ही अपने घर से बाहर निकलती है, वैसे ही सिरफिरा आशिक एकतरफा प्यार का जूनून लिए उसके चेहरे पर केमिकल फेंककर फरार हो जाता है। गौरतलब है, रूपाली दुनियाभर में परफॉर्म कर चुकी हैं यही नही वह नेशनल टीवी पर रियलिटी शोज का हिस्सा भी रह चुकी है।

Continue Reading

शहर

ननद-भाभी में समलैंगिक संबंध, पति ने लगाई थाने में गुहार

Published

on

girl-min (1)
प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में समलैंगिक संबंध को लेकर चौकाने वाला मामला सामने आया है। जहां एक शख्स ने अपनी पत्नी को लेस्बियन बताते हुए पुलिस से शिकायत की। पति ने आरोप लगाया है कि पत्नी उसकी अनदेखी कर उसकी चचेरी बहन के साथ संबंध बनाती है।

दरअसल, उस शख्स ने पुलिस को बताया कि जब वह एक दिन काम से लौटकर अपने घर आया तो उसने अपनी पत्नी और चचेरी बहन को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया। उसने इस बात पर उन दोनों को समझाने की भी कोशिश की, लेकिन शिकायतकर्ता के मुताबिक उन दोनों ने उसे खुदकुशी की धमकी देकर चुप कराया।

एनबीटी के मुताबिक, मामला घरवालों तक जा पहुंचा। सभी ने दोनों महिलाओं को समझाने की कोशिश की लेकिन वे दोनों नहीं मानी। परेशान होकर पति थाने जा पहुंचा और पुलिस को आपबीती सुनाई। पुलिस के मुताबिक शिकायतकर्ता की शादी 5 महीने पहले ही फतेहपुर निवासी लड़की के साथ हुई थी।

शादी के कुछ दिन बाद ही उसने पति की अनदेखी शुरू कर दी और शिकायतकर्ता के घर के पास रहने वाली चचेरी बहन के साथ संबंध बनाया। जब सुप्रीम कोर्ट ने समलैंगिक संबंधों को लेकर अहम फैसला सुनाया तो वे दोनों खुलेआम अपने रिश्ते को स्वीकार करने लगी।

पति का कहना है कि जब भी वह काम पर जाता है तो उसकी पत्नी उसकी चचेरी बहन के साथ समलैंगिक संबंध बनाती है। वह उसी के साथ रहती है। उनकी हरकते अब आस-पास में भी चर्चा का विषय बनी हुई हैं। परेशान परिजन उनके सामाजिक बहिष्कार की बात कह रहे हैं।

कानपुर के एसपी (रूरल) प्रद्युम्न सिंह ने इस संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि पति ने पुलिस को शिकायत दी है। कोतवाली पुलिस इस मामले की जांच में लगी है। किसी भी नतीजे पर पहुंचने से पहले समलैंगिकता पर आए सुप्रीम कोर्ट के नए फैसले पर कानूनी राय ली जाएगी।

WeForNews 

Continue Reading

Most Popular