Connect with us

राजनीति

नोटबंदी-जीएसटी से बस बर्बादी, गुजरातियों को दिया धोखा: मनमोहन सिंह

Published

on

Manmohan_Singh
मनमोहन सिंह (फाइल फोटो)

गुजरात के राजकोट में गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने एक बार फिर नोटबंदी और जीएसटी के जरिए मोदी सरकार पर हमला बोला। मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी का जो बेसिक लक्ष्य था, वही फेल हुआ है। भ्रष्टाचार अभी भी हो रहा है। मनमोहन सिंह ने मांग की, कि नोटबंदी से जुड़े सभी दस्तावेज संसद और जनता के सामने लाने चाहिए।

राजकोट में मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी का जो बेसिक लक्ष्य था, वही फेल हुआ है। भ्रष्टाचार अभी भी हो रहा है। मनमोहन सिंह ने मांग की, कि नोटबंदी से जुड़े सभी दस्तावेज संसद और जनता के सामने लाने चाहिए।

पूर्व प्रधानमंत्री ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि नोटबंदी के बाद जीएसटी से व्यापारियों को नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री गुजरात से हैं, मोदी जी ने गुजरात के व्यापारियों और लोगों को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि आज सरकार की जो सरकार की विदेश नीति है उससे देश की सुरक्षा खतरे में है। मोदी सरकार के कुछ फैसले ऐसे हैं जो देश के हित में नहीं है।

मनमोहन सिंह ने कहा कि हमारे कार्यकाल में जब भ्रष्टाचार पर कोई शिकायत आई, तो हमने उसपर तुरंत एक्शन लिया। लेकिन जब एनडीए के दौरान ऐसा हुआ तो कोई एक्शन नहीं लिया गया।

उन्होंने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष के बेटे के मामले में भी कोई एक्शन नहीं लिया गया। उन्होंने कहा कि मोदी ने नर्मदा के मुद्दे पर कभी भी मुझसे मुलाकात नहीं की थी।

मनमोहन सिंह ने कहा कि अगर मोदी सरकार को यूपीए के 10 साल के कार्यकाल में औसत आर्थिक ग्रोथ की बराबरी करनी है तो अपने कार्यकाल के पांचवें साल में उसे कम से कम 10.6 फीसदी की ग्रोथ रेट चाहिए। मुझे खुश होगी अगर ऐसा होता है, लेकिन मुझे ऐसा होते हुए नहीं दिख रहा है।

WeForNews

राजनीति

राफेल डील पर रक्षामंत्री ने देश को गुमराह किया: कांग्रेस

Published

on

AK Antony on Rafale
राफेल सौदे पर सरकार को संसद में जवाब देना चाहिए।

राफेल डील पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला। एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने राफेल विमान की कीमत बताने में देश को गुमराह किया है। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्री के तौर पर मैंने कई रक्षा सौदों की कीमत संसद में बताई है क्योंकि इन सौदों की कई स्तरों पर निगरानी होती है। उन्‍होंने कहा कि अगर कोई गुप्त समझौता नहीं हुआ तो मोदी सरकार कीमतें बताने में क्‍यों एतराज कर रही है?

कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि सरकार को संसद में जवाब देना चाहिए। प्रधानमंत्री भारत और फ्रांस के बीच हुए 126 जहाजों के समझौते से पूरी तरह वाकिफ थे। प्रधानमंत्री को इस बात को स्वीकार करना चाहिए या इससे इंकार करना चाहिए कि उनकी फ्रांस यात्रा के बाद बिना सुरक्षा संबंधित कैबिनेट कमिटी को बताए समझौते को बदल दिया गया। आनंद शर्मा ने कहा कि फ्रांस की सरकार के वक्तव्य ने यह साफ कर दिया है कि जहाजों की कीमत गुप्त समझौते का हिस्सा नहीं था, तो सरकार को इस बारे में देश को बताना चाहिए। उन्होंने जोड़ा कि रक्षा मंत्री का संसद में वक्तव्य और सरकार के संसद में दिए गए जवाब में विरोधाभास है।

कांग्रेस प्रतक्‍ता सुरजेवाला ने कहा कि प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री 2008 के जिस समझौते का सहारा लेकर बचने की कोशिश कर रहे हैं, उसमें सिर्फ जहाजों और हथियारों के बारे चुनिंदा जानकारी बताने से रोका गया है, कीमत बताने से नहीं। उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्री ने नवंबर 2016 में कीमत बताई थी, लेकिन अब प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री कह रहे हैं कि गुप्त समझौते के कारण कीमत नहीं बताई जा सकती, जबकि फ्रांस के राष्ट्रपति यह कह चुके हैं कि कीमत बताई जा सकती है। सुरजेवाला ने सवाल किया कि आखिर क्यों प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री देश को गुमराह कर रहे हैं?

WeForNews

Continue Reading

राजनीति

शासन व्यवस्था में बिहार के फिसड्डी रहने पर नीतीश जिम्मेदार : तेजस्वी

Published

on

tejashwi yadav-min
फाइल फोटो

बिहार विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने देश के राज्यों की शासन व्यवस्था के मामले में बिहार के सबसे निचले पायदान पर रहने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जिम्मेदार ठहराया है।

थिंक टैंक पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) द्वारा रिपोर्ट सार्वजनिक किए जाने के बाद पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर कहा,”शासन व्यवस्था के मामले में बिहार सबसे निचले पायदान पर है। इसका श्रेय स्वघोषित सुशासन बाबू नीतीश कुमार को जाता है।”

उल्लेखनीय है कि थिंक टैंक पब्लिक अफेयर सेंटर (पीएसी) ने शनिवार को अपनी रिपोर्ट जारी करते हुए कहा था कि वर्ष 2018 के पब्लिक अफेयर्स इंडेक्स (पीएआई) में केरल लगातार तीसरे साल शीर्ष पर है जबकि मध्यप्रदेश, झारखंड और बिहार निचले स्तर पर हैं, जो इन राज्यों में सर्वाधिक सामाजिक व आर्थिक असमानता का सूचक है।

पीएसी ने कहा कि यह सूचकांक वर्ष 2016 से राज्यों की शासन व्यवस्था पर सालाना आधार पर जारी हो रहा है। इस रिपोर्ट में राज्यों के सामाजिक और आर्थिक विकास के आंकड़ों के आधार पर शासन-व्यवस्था के प्रदर्शन की रैंकिंग की जाती है।

–आईएएनएस

Continue Reading

राजनीति

गाय की रक्षा हो रही है महिलाओं की नहीं: शिवसेना

Published

on

uddhav
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (फाइल फोटो)

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मॉब लिंचिंग और गोरक्षा जैसे मुद्दों पर मोदी सरकार पर निशाना साधा। सामना में छपे इंटरव्यू में उद्धव ने कहा कि बालासाहब ठाकरे जिस हिंदुत्व की बात करते थे वो शिवाजी महाराज का हिंदुत्व था लेकिन पिछले तीन साल से देश में जो हिंदुत्व का उन्माद चढ़ा है वो सही नहीं है।

उन्होंने हिंदुत्व और गाय के नाम पर मॉब लिंचिंग को गलत ठहराया। ठाकरे ने कहा कि गाय की रक्षा हो रही है महिलाओं के बारे में देश सबसे असुरक्षित बनता जा रहा है। उसकी शर्म होनी चाहिए। गोमाता की रक्षा तो करो लेकिन माता की रक्षा का क्या?

ठाकरे ने कहा कि महिलाओं की रक्षा छोड़कर कौन क्या मांस खा रहा है इसकी जांच करने में सरकार लगी है। उन्होंने कहा इसे हिंदुत्व नहीं कहा जा सकता, ये भ्रम फैला रहा है।

गौरतलब है कि शिवसेना ने अविश्वास प्रस्ताव पर मोदी सरकार से किनारा कर लिया था। अब शिवसेना की इस तरह की बयानबाजी कहीं दोनों पार्टी के रिश्तों में और खटास न डाल दे।

wefornews 

Continue Reading

Most Popular