Connect with us

खेल

निदास ट्रॉफी : मुश्किल फाइनल में भारत ने बांग्लादेश को हराया

Published

on

Dinesh kartik, Photo credit PTI

कोलम्बो, 18 मार्च| दिनेश कार्तिक (29 रन, 8 गेंद, 2 चौके, 3 छक्के) की आतिशी पारी के दम पर भारत ने रविवार को आर.प्रेमदासा स्टेडियम में खेले गए निदास ट्रॉफी टी-20 त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल मैच में बांग्लादेश को चार विकेट से हरा दिया। भारत को अंतिम गेंद पर जीत के लिए पांच रन चाहिए थे और कार्तिक ने मिडविकेट के ऊपर से छक्का लगाते हुए भारत को यादगार जीत दिलाई। भारत को यह मैच जिताने का श्रेय सिर्फ और सिर्फ कार्तिक को मिलना चाहिए क्योंकि उन्होंने असम्भव को सम्भव करते हुए भारत को अपने पड़ोसी के हाथों शर्मनाक हार से बचा लिया।

कार्तिक जिस समय बल्लेबाजी के लिए आए थे, उस समय भारत बेहद मुश्किल स्थिति में था लेकिन इस अनुभवी खिलाड़ी ने संयम बनाए रखते हुए बेहतरीन शॉट्स खेले और भारत को 167 रनों के स्कोर तक छह विकेट के नुकसान पर ही पहुंचा दिया।

बहरहाल, भारत के लिए कप्तान रोहित शर्मा और शिखर धवन (10) ने तेज शुरुआत की। दोनों ने 16 गेंदों पर 32 रन जोड़ दिए लेकिन इसी योग पर शाकिब अल हसन ने धवन को आउट कर भारत को पहला झटका दिया। इसी योग पर रुबेल हुसैन ने सुरेश रैना (0) को आउट कर भारत को दूसरा झटका दिया।

इसके बाद हालांकि कप्तान शर्मा और लोकेश राहुल (24) के साथ तीसरे विकेट के लिए 51 रनों की साझेदारी की। राहुल 83 के कुल योग पर रुबेल की गेंद पर शब्बीर के हाथों लपके गए। राहुल ने 14 गेंदों का सामना कर दो चौके और एक छक्का लगाया।

अब कप्तान का साथ देने विकेट पर मनीष पांडे (28) आए। इसी बीच, रोहित ने अपना अपना अर्धशतक पूरा किया। इसके लिए भारतीय कप्तान ने 35 गेंदों का सामना किया और चार चौके तथा तीन छक्के लगाए।

रोहित हालांकि 56 रनों की आकर्षक पारी खेलने के बाद 98 के कुल योग पर नजमुल इस्लाम की गेंद पर महमुदुल्लाह के हाथों लपके गए। रोहित ने 42 गेंदों का सामना कर चार चौके और तीन छक्के लगाए।

रोहित के आउट होने के बाद विजय शंकर (17) आए लेकिन वह हालात के अनुकूल गेंदबाजी नहीं कर सके और 18वें ओवर में लगातार चार डॉट्स खा बै। इससे मनीष दबाव में आ गए और छक्का लगाने के प्रयास में लपके गए।

मनीष का स्थान लेने आए कार्तिक ने दो छक्कों और दो चौकों की मदद से भारत को 12 गेंदों पर 34 रनो से छह गेंदों पर 12 रनों तक पहुंचा दिया। अंतिम ओवर में भी विजय ने गेंदें खराब कीं और फिर पांचवीं गेंद पर आउट हो गए। हालांकि जाने से पहले उन्होंने एक चौका लगाया था। अंतिम गेंद पर भारत को जीत के लिए छक्के की जरूरत थी और कार्तिक ने यह कमाल करते हुए भारत को यादगार जीत दिला दी।

इससे पहले, शब्बीर रहमान (77) की तेज अर्धशतकीय पारी के दम पर बांग्लादेश ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में आठ विकेट पर 166 रन बनाए।

शब्बीर ने 50 गेंदों का सामना कर सात चौके और चार छक्के लगाए। बांग्लादेश की ओर से सलामी बल्लेबाज तमीम इकबाल ने 15, लिटन दास ने 11 और महमुदुल्लाह ने 21 रन बनाए।

महमुदुल्लाह और कप्तान शाकिब अल हसन (7) रन आउट हुए। अंतिम ओवर में मेहेदी मिराज ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए सात गेंदों पर दो चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 19 रन बनाकर अपनी टीम सम्मानजनक योग तक पहुंचाया।

भारत की ओर से युजवेंद्र चहल ने तीन विकेट लिए जबकि जयदेव उनादकट ने भी दो विकेट लिए। वॉशिंगटन सुंदर को भी एक सफलता मिली।

बांग्लादेश की शुरुआत अच्छी नहीं रही। उसने 33 रन पर ही तीन विकेट गंवा दिए थे लेकिन रहमान ने एक छोर पर टिके रहकर रन रेट को मेंटेन रखा। 68 के कुल योग पर मुशफिकुर रहीम (9) का विकेट गिरने के बाद रहमान ने महमुदुल्लाह के साथ मिलकर स्कोर को 100 के पार पहुंचाया।

महमुदुल्लाह 104 रन के कुल योग पर आउट हुए। महमुदुल्लाह ने 16 गेंदों पर दो चौके लगाए। इसके बाद रहमान ने कप्तान के साथ पारी को आगे बढ़ाया लेकिन शाकिब 133 के कुल योग पर रन आउट कर दिए गए।

टी-20 करियर का चौथा अर्धशतक लगाने वाले रहमान का विकेट 147 के कुल योग पर गिरा। उनादकट ने 19वें ओवर की लगातार दो गेंदों पर रहमान के अलावा रुबेल हुसैन (0) को भी चलता किया।
ऐसा लगा कि भारतीय गेंदबाज बांग्लादेश को 150-155 तक सीमित कर देंगे लेकिन मेहेदी ने शार्दूल ठाकुर द्वारा फेंके गए अंतिम ओवर में 18 रन लेकर समीकरण ही बदल दिया। शार्दूल ने चार ओवरों मे 45 रन दिए।

निदाहास ट्रॉफी टी-20 त्रिकोणीय सीरीज का फाइनल रविवार को आर. प्रेमदासा स्टेडियम में भारत और बांग्लादेश के बीच खेला जा रहा है। टीम इंडिया कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर गेंदबाजी का फैसला किया और बांग्लादेश को पहले बल्लेबाजी का न्योता दिया। भारतीय टीम में एक बदलाव हुआ है, मोहम्मद सिराज की जगह जयदेव उनादकट प्लेइंग इलेवन में शामिल हैं। इसके अलावा बांग्लादेश की टीम में कोई बदलाव नहीं है।

भारत को इस त्रिकोणीय टी-20 सीरीज के पहले मैच में श्रीलंका से हार मिली थी, लेकिन इसके बाद उसने शानदार वापसी करते हुए फाइनल में प्रवेश किया है। वहीं, बांग्लादेश ने इस सीरीज में दो जीत हासिल की हैं और दोनों बार उसने श्रीलंका को मात दी है।

दो बार भारत से परास्त हो चुकी बांग्लादेश की नजरें एक और उलटफेर कर खिताब अपने नाम करने पर होंगी, लेकिन उसकी राह किसी भी कीमत पर आसान नहीं है।

भारतीय टीम भी बांग्लादेश के अप्रत्याशित व्यवहार से वाकिफ है और इसी कारण वह उसे हल्के में नहीं ले सकती।

टीमें :

भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन (उप-कप्तान), लोकेश राहुल, सुरेश रैना, मनीष पांडे, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), दीपक हुड्डा, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, विजय शंकर, शार्दूल ठाकुर, जयदेव उनादकट, ऋषभ पंत।

बांग्लादेश : शाकिब अल हसन (कप्तान), महमुदुल्लाह, तमीम इकबाल, सौम्य सरकार, इमरुल कायेस, मुश्फीकुर रहीम (विकेटकीपर), सब्बीर रहमान, मुस्ताफीजुर रहमान, रुबेल हुसैन, तस्किन अहमद, अबु हैदर, अबु जायेद, अरिफुल हक, नजमुल इस्लाम, नुरुल हसन, मेहदी हसन और लिटन दास।

Input from IANS

खेल

भारत ने जीता एडिलेड टेस्‍ट

Published

on

india v australia
India vs Australia, Adelaide Test

एडिलेड। भारतीय क्रिकेट टीम ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले टेस्ट मैच में 31 रनों से जीत हासिल की है। आस्ट्रेलिया को भारत की ओर से जीत के लिए 323 रनों का लक्ष्य मिला था लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने उसकी दूसरी पारी 291 रनों पर समाप्त कर मेजबान टीम को 31 रनों से हरा दिया।

भारत की इस जीत में चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे की बल्लेबाजी के साथ-साथ रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह की गेंदबाजी ने अहम भूमिका निभाई है।

इस टेस्ट मैच में मिली जीत के साथ भारत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है।

–आईएएनएस

Continue Reading

खेल

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के लिए भारतीय खिलाडि़यों के नाम घोषित

Published

on

bcci-min
प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले एडिलेड टेस्ट के लिए भारतीय खिलाडि़यों के नाम की घोषणा कर दी है। 6 दिसंबर से एडिलेड टेस्‍ट के साथ टेस्‍ट मैच की सीरीज की शुरुआत होगी।

बीसीसीआई ने जिन 12 खिलाडि़यों के नामों की घोषणा की है वे निम्‍न हैं:-

विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), केएल राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, रोहित शर्मा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), आर. अश्विन, मो. शमी, ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह।

WeForNews

Continue Reading

खेल

गौतम गम्भीर ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लिया

आंध्र प्रदेश के साथ होने वाला रणजी ट्रॉफी मुकाबला मेरे करियर का अंतिम मैच होगा।

Published

on

By

gautam gambhir

नई दिल्ली, 4 दिसम्बर | साल 2011 में विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गम्भीर ने मंगलवार को क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास ले लिया। दिल्ली और आंध्र प्रदेश के बीच गुरुवार से फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेला जाने वाला रणजी मुकाबला गम्भीर के शानदार क्रिकेट करियर का अंतिम मैच होगा।

भारत के लिए 58 टेस्ट और 147 वनडे मैच खेलने वाले गम्भीर ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी। गम्भीर ने लिखा, “जिंदगी में कड़े फैसले हमेशा भारी मन से लिए जाते हैं। भारी मन से मैं वह फैसला ले रहा हूं, जिसको लेने के ख्याल मात्र से ही मैं जिंदगी भर डरता रहा।”

गम्भीर ने आगे लिखा, “आंध्र प्रदेश के साथ होने वाला रणजी ट्रॉफी मुकाबला मेरे करियर का अंतिम मैच होगा। मेरे करियर का अंत वहीं होने जा रहा है, जहां (कोटला स्टेडियम) से मैंने शुरुआत की थी। एक बल्लेबाज के तौर पर मैंने टाइमिंग का सम्मान किया है। मेरे लिए यह संन्यास लेने का सही समय है और मुझे लगता है कि यह मेरे शॉट्स की तरह ही स्वीट है।”

गम्भीर ने 2016 में भारत के लिए अंतिम टेस्ट मैच खेला था। उनका करियर 1999 में शुरू हुआ था। गम्भीर ने टेस्ट मैचों में 41.95 के औसत से कुल 4154 रन बनाए और वनडे मैचों में उनके नाम 5238 रन रहे। गम्भी ने भारत के लिए 37 टी-20 मैच भी खेले।

टेस्ट मैचों में गम्भीर ने नौ शतक लगाए जबकि वनडे मैचोंे में उनके नाम 11 शतक रहे। इसके अलावा गम्भीर ने टी-20 मैचों में सात अर्धशतक लगाए।

अपने दो दशक के क्रिकेट करियर के दौरान गम्भीर भारत के अलावा दिल्ली, दिल्ली डेयरडेविल्स, एसेक्स, कोलकाता नाइट राइर्ड्स के लिए खेले। कोलकाता नाइट राइर्ड्स के कप्तान के तौर पर गम्भीर ने दो बार आईपीएल खिताब जीते हैं। वह दिल्ली की रणजी टीम तथा डेयरडेविल्स टीम के भी कप्तान रहे हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular