झारखंड में नक्सलियों ने की 2 लोगों की हत्या | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

झारखंड में नक्सलियों ने की 2 लोगों की हत्या

Published

on

naxal attack
फाइल फोटो

झारखंड के हजारीबाग जिले में संदिग्ध नक्सलियों ने दो लोगों की हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार, गुरुवार को नक्सलियों ने के. श्यामलाल महतो और घनश्याम महतो का नवादीह गांव स्थित उनके घर से अपहरण किया और उन्हें जंगल में ले गए।

नक्सलियों ने दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी। नक्सलियों ने घटनास्थल पर एक नोट   छोड़ा था जिसमें उन्होंने दोनों मृतकों को ‘पुलिस का मुखबिर’ बताया था।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

कर्नाटक में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 6 हुई

Published

on

Coronavirus
प्रतीकात्मक तस्वीर

बेंगलुरु। कर्नाटक में कोविड -19 के कारण एक और व्यक्ति की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या छह हो गई है। वहीं, राज्य में कोरोना पॉजीटिव मामलों की संख्या 191 तक पहुंच गई है। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। स्वास्थ्य अधिकारी ने कहा, “अभी तक 191 पॉजीटिव मामले सामने आए हैं। इसमें छह लोगों की मौत और डिस्चार्ज हो चुके 28 लोग भी शामिल हैं।”

कोविड-19 से मारे गए छठे व्यक्ति से संबंधित आधिकारिक विवरण जैसे कि उम्र, स्थान, लिंग और मृत्यु का स्थान की जानकारी अभी नहीं मिल पाई है।

एक स्वास्थ्य अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, “आधिकारिक जानकारी शाम तक साझा की जाएगी।”

दो दिनों में यह राज्य में कोविड-19 से हुई मौत का दूसरा मामला है। इससे पहले मंगलवार कालबुर्गी के एक 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी।

कर्नाटक में बुधवार शाम 5 बजे से गुरुवार दोपहर तक कोविड-19 के 10 नए मामले सामने आए।

Continue Reading

राष्ट्रीय

उप्र : मऊ में 2 और जमातियों की हुई पहचान

Published

on

Corona India Tablighi Jamaat
Flie photo


मऊ (उत्तर प्रदेश)
: उत्तर प्रदेश की मऊ जिला पुलिस ने दो और ऐसे लोगों का पता लगाने में सफलता हासिल की है, जिन्होंने तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इन दोनों लोगों को एकांतवास में भेजा गया है और उनके नमूने भी परीक्षण के लिए भेज दिए गए हैं। इसी के साथ वाराणसी जोन के जिलों में जमात के कुल सदस्यों की संख्या 216 हो गई है, जबकि उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 387 हो गई है।

वाराणसी जोन के एडीजी बृज भूषण ने कहा, पिछले 24 घंटों में मऊ पुलिस ने दो और तबलीगी जमात कार्यक्रम में शामिल होने वालों का पता लगाने में सफलता पाई है। अब मऊ जिले में कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों का आंकड़ा 21 तक पहुंच गया है।

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में हिस्सा लेने वालों में आजमगढ़ जिल में 36, गाजीपुर में 22, वाराणसी में 43 और जौनपुर में 45 लोगों की पहचान हुई है। जौनपुर के 45 लोगों में 14 बांग्लादेशी, एक नेपाली और अन्य राज्यों से 10 लोग भी शामिल हैं। इसके अलावा भदोही में 16 पाए गए हैं, जिनमें 11 बांग्लादेशी भी शामिल हैं। वहीं मिजार्पुर जिले में आठ और सोनभद्र में 17 लोगों के जमात के कार्यक्रम में भाग लेने की बात सामने आ चुकी है।

प्रदेश के इस जोन में अभी तक जमात कार्यक्रम में भाग लेने वाले 12 लोगों को कोविड-19 पॉजिटिव पाया गया है, जिनमें वाराणसी, मिजार्पुर और जौनपुर में दो-दो, गाजीपुर और आजमगढ़ में तीन-तीन लोग शामिल हैं। इन लोगों के संपर्क में आए पांच और व्यक्ति भी संक्रमित हुए हैं।

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

क्वारंटाइन में प्रकृति से जोड़ा नाता

Published

on

Coronavirus

गोरखपुर, 9 अप्रैल (आईएएनएस)| क्वारंटाइन तनहाई, ऐसे में सबसे मुश्किल होता है समय का सदुपयोग। ऐसा न होने पर संबंधित व्यक्ति डिप्रेशन में भी जा सकता है। कई शोध में यह बात निकलकर सामने आई है कि समय के सदुपयोग का सबसे प्रभावी तरीका है, प्रकृति से रिश्ता जोड़ना। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद से लगे सहजनवा कस्बे के ग्राम नेवास में क्वारंटाइन किए गए लोग पौधों की देखरेख कर यही कर रहे हैं। इससे उनका समय भी कट रहा है। स्वाभाविक है कि इसके जरिए उनकी क्वारंटाइन की यादें भी सदा के लिए ताजा रहेंगी।

सहजनवा क्षेत्र के पाली ब्लॉक ग्रामसभा नेवास के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में क्वारंटाइन किए गए 33 लोग पर्यावरण को बचाने और उन्हें हरा-भरा करने में जुटे हैं। विद्यालय परिसर में लगे मुरझा रहे पौधों में जान डालने का काम यह लोग कर रहे हैं। उन्होंने सुबह-शाम परिसर के पौधों को पानी देकर उन्हें हरा-भरा कर दिया है।

प्रधान प्रतिनिधि रामेन्द्र उर्फ छोटकू तिवारी ने कहा, “हमारे ग्रामसभा के पूर्व माध्यमिक विद्यालय में 33 लोगों को क्वारंटाइन कराया गया है। यह दिल्ली, जयपुर अन्य शहरों में दिहाड़ी का काम करते हैं। हमारे बगल के गांव और अन्य जगह क्वारंटाइन से भागने की बातें सामने आ रही है। ऐसे में यह लोग भी पहले कुछ ऐसा सोच रहे थे, लेकिन बाद में इन्हें थोड़ा जागरूक किया गया। इनका मन लगाने के लिए पर्यावरण संरक्षण की ओर ध्यान अकर्षित करवाया गया। अब यह भागने के बजाय सुबह शाम पौधों को पानी देकर उनमें हरियाली लाने का काम कर रहे हैं।”

उन्होंने कहा, “इस काम में भोला, सुग्रीव, रामबेलास, रिंकू समेत अनेक लोग आगे आए हैं। इन सभी ने अपने हिसाब से दो-दो पौधों को गोद ले लिया है। उसकी देखभाल कर रहे हैं। यह सारे काम यह सामजिक दूरी को बनाते हुए कर रहे हैं। पौधों की मेड़ बनाकर पानी डालना हो। घास की सफाई हो सभी में सोशल डिस्टेंसिग का पालन हो रहा है। इनका हौसला बढ़ाने के लिए बीडीओ और एसडीएम स्वयं आकर इनकी तारीफ कर चुक हैं।”

प्रधान प्रतिनिधि ने कहा, “इन लोगों ने संकल्प लिया है कि जब तक इनके क्वारंटाइन के दिन पूरे नहीं हो जाते तब तक यह लोग यहीं रहेंगे और पौधों की सेवा करेंगे। इसके अलावा घर पहुंचने पर भी स्वास्थ्य विभाग की गाइड लाइन के अनुसार ही काम करेंगे।”

–आईएएनएस

Continue Reading

Most Popular