अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष ने पुनर्विचार याचिका दायर की | WeForNewsHindi | Latest, News Update, -Top Story
Connect with us

राष्ट्रीय

अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष ने पुनर्विचार याचिका दायर की

Published

on

Ayodhya
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली। अयोध्या मामले पर फैसले के खिलाफ मुस्लिम पक्ष ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की है।

अयोध्या रामजन्मभूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में पहली पुनर्विचार याचिका दाखिल की गई। इसे जमीयत उलेमा-ए-हिंद की ओर से दायर किया गया है। यह याचिका मौलाना सैयद अशद रशीदी की ओर से दायर की गई है, जो अयोध्या मामले में मुस्लिम पक्ष के 10 याचिकाकर्ताओं में से एक हैं।

उधर, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (आईएमपीएलबी) ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ दिसंबर के पहले सप्ताह में पुनर्विचार याचिका दायर करेगा। बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक जफरयाब जिलानी ने कहा है कि याचिका आठ दिसंबर से पहले दाखिल की जानी है।

वहीं, सुन्नी वक्फ बोर्ड ने साफ कर दिया है कि अयोध्या पर उसे सुप्रीम कोर्ट का फैसला स्वीकार है और पुनर्विचार याचिका नहीं दायर की जाएगी। 26 नवंबर को लखनऊ में हुई बैठक में बहुमत से इस निर्णय पर मुहर लगाई जा चुकी है। हालांकि बैठक में पांच एकड़ जमीन पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। इस पर राय बनाने के लिए सदस्यों ने और वक्त मांगा है।

–आईएएनएस

राष्ट्रीय

‘संविधान’ साल 2019 का ऑक्सफोर्ड हिंदी शब्द घोषित

Published

on

Oxford Hindi Word Of The Year
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली। ‘संविधान’ को वर्ष 2019 के लिए ऑक्सफोर्ड हिंदी वर्ड ऑफ द ईयर (एचडब्ल्यूओटीवाई) घोषित किया गया। संविधान का अर्थ ‘मूलभूत सिद्धांतों का निकाय या स्थापित दृष्टांत है, जिसके अनुसार एक राष्ट्र या अन्य संगठन शासित होते हैं। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस (ओयूपी) के एक बयान में कहा गया कि ऑक्सफोर्ड हिंदी वर्ड ऑफ द ईयर एक ऐसा शब्द या अभिव्यक्ति है जिसने बहुत अधिक ध्यान आकर्षित किया है और पिछले वर्ष के लोकाचार, मनोदशा या तल्लीनता को दर्शाता है। यह कांस्टिट्यूशन शब्द का हिंदी अनुवाद है।

हिंदी लैंग्वेज चैंपियन फॉर ऑक्सफोर्ड लैंग्वेजेज की कृतिका अग्रवाल ने कहा, “इस साल हिंदी वर्ड ऑफ द ईयर का उपयुक्त पसंद लोगों की मनोदशा को प्रदर्शित कर रही है, इसके साथ ही यह निर्णय निमार्ताओं का भी ध्यान केंद्रित करता है। संविधान देश की भावना का प्रतीक है और साल 2019 संविधान की भावना का गवाह था जिसे समाज के सभी वर्गों ने अपनाया। 2019 में संविधान एक अकादमिक अवधारणा से आंदोलन की तरफ बढ़ा।”

–आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

जल शक्ति और एनडीआरएफ की झांकी को सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार

Published

on

Water-Tableau
जल शक्ति मंत्रालय की झांकी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस परेड में शामिल हुई जल शक्ति मंत्रालय और एनडीआरएफ की झांकी को संयुक्त रूप से सर्वश्रेष्ठ झांकी के तौर पर चुना गया है। जल शक्ति मंत्रालय की झांकी में भारत सरकार की नई पहल ‘जल जीवन मिशन’ को सुंदरता से प्रदर्शित किया गया था। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने ‘जल जीवन मिशन’ की इस झांकी को सर्वश्रेष्ठ झांकी के रूप में पुरस्कृत किया। इस अनोखी झांकी में प्रधानमंत्री के ‘हर घर जल’ के विजन को दर्शाया गया था।

गणतंत्र दिवस परेड में आकर्षण का केंद्र रही इस झांकी का विषय वर्ष 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को कार्यशील घरेलू नल कनेक्शन (एफएचटीसी) उपलब्ध कराना है।

पिछले वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘जल जीवन मिशन’ प्रारंभ किए जाने की घोषणा की थी। इसके अंतर्गत वर्ष 2024 तक प्रत्येक ग्रामीण परिवार को नियमित आधार पर निर्धारित गुणवत्ता तथा पर्याप्त मात्रा में पीने योग्य जल उपलब्ध कराना है। वर्तमान में देश के लगभग 17.8 करोड़ ग्रामीण परिवारों में से केवल 3.3 करोड़ परिवारों के पास ही नल जल कनेक्शन की सुविधा है। इसलिए इस मिशन के अंतर्गत वर्ष 2024 तक शेष लगभग 14.6 करोड़ परिवारों को घरेलू नल कनेक्शन उपलब्ध कराया जाना है।

विजेता झांकी के जरिए मिशन की परिकल्पना का जीवंत स्वरूप दर्शाया गया था। इसका सामने का डिजाइन एक विशाल पीतल के नल और एक धात्विक घड़े के रूप में था, जो कि छोटे-छोटे धात्विक घड़ों से बना हुआ था। यह लाखों ग्रामीण घरों का प्रतिनिधित्व करता है। मध्य भाग में यह दशार्या गया था कि नए भारत में कैसे एक ग्रामीण परिवार इस मिशन के तहत लाभ प्राप्त करेगा।

जल शक्ति मंत्रालय के मुताबिक, यह झांकी सभी ग्रामीण समुदायों को जल संरक्षण तथा गुणवत्तापूर्ण जल की पहुंच उपलब्ध कराने के लिए साथ मिलकर कार्य करने के प्रधानमंत्री के विजन और संकल्प का द्योतक है, ताकि जल को साझी प्रतिबद्धता बनाया जा सके।

प्रधानमंत्री ने इसे दीर्घकालिक पेयजल सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण मिशन बताया है।

— आईएएनएस

Continue Reading

राष्ट्रीय

उच्च तनाव में रहते हैं मिडिल स्कूल के 94 फीसद शिक्षक

Published

on

Teachers in High Stress

न्यूयॉर्क। शिक्षक और अभिभावक गौर करें! मध्य विद्यालयों के 94 प्रतिशत शिक्षक उच्च स्तर के तनाव से ग्रस्त रहते हैं, जिसका विद्यार्थियों के परिणाम पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। एक नए शोध में यह बात सामने आई है। शोध के निष्कर्ष में आगे कहा गया है कि शिक्षकों द्वारा अनुभव किया गया है कि शैक्षणिक और व्यावहारिक, दोनों रूप से शिक्षण के बोझ को कम करना छात्र की सफलता में सुधार के लिए महत्वपूर्ण है।

प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों के बीच तनाव का अध्ययन किए जाने पर यह बात सामने आई है कि शिक्षकों के तनाव में रहने का छात्रों के परिणाम पर नकारात्मक असर हो सकता है।

अमेरिका में मिसौरी विश्वविद्यालय से अध्ययनकर्ता कीथ हरमन ने कहा, “दुर्भाग्य से, हमारे निष्कर्षो से पता चलता है कि कई शिक्षकों को वह समर्थन नहीं मिल रहा है, जो उन्हें अपनी नौकरी के तनाव से पर्याप्त रूप से निपटने के लिए जरूरी है।”

हरमन ने आगे कहा, “यह स्पष्ट है कि शिक्षकों में तनाव छात्र की सफलता से संबंधित है, इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम स्कूल के तनावपूर्ण माहौल को बेहतर बनाने के तरीके खोजें, ताकि शिक्षकों को अपनी नौकरी के दौरान परेशानी का सामना न करना पड़े।”

–आईएएनएस

Continue Reading
Advertisement
Congress
चुनाव7 hours ago

कांग्रेस की आयोग से शिकायत- ‘दिल्ली चुनाव का सांप्रदायीकरण कर रही भाजपा’

Imran Khan
अंतरराष्ट्रीय8 hours ago

जब इमरान ने कहा- ‘डॉक्टर ने ऐसा इंजेक्शन लगाया कि नर्से लगने लगीं हूर’

Oxford Hindi Word Of The Year
राष्ट्रीय8 hours ago

‘संविधान’ साल 2019 का ऑक्सफोर्ड हिंदी शब्द घोषित

Water-Tableau
राष्ट्रीय9 hours ago

जल शक्ति और एनडीआरएफ की झांकी को सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार

Anurag Thakur and Pravesh Verma
राजनीति9 hours ago

अनुराग ठाकुर और प्रवेश वर्मा के खिलाफ सौंपी गई चुनाव आयोग को रिपोर्ट

sensex-min (1)
व्यापार9 hours ago

सेंसेक्स 188 अंक नीचे

nitish kumar
राजनीति9 hours ago

देशहित के बाहर नहीं जाना चाहिए: नीतीश

Ayushmann
मनोरंजन9 hours ago

मुझे गे रोल निभाने पर दोबारा सोचने को कहा गया था : आयुष्मान

टेक9 hours ago

सैमसंग गैलक्सी नोट को टक्कर देने तैयार ‘मोटोरोला स्टाइल्स’

PM Modi addresses at UNGA
राजनीति9 hours ago

खेती को लाभकारी बनाने पर सरकार का फोकस : मोदी

chili-
स्वास्थ्य4 weeks ago

हरी मिर्च खाने के 7 फायदे

punjabi suit
लाइफस्टाइल2 weeks ago

लोहड़ी के दिन पंजाबी सूट में दिखें आकर्षक

motapa-
स्वास्थ्य3 weeks ago

किशोरावस्था में वजन घटाने की सर्जरी हृदय रोग में मददगार

लाइफस्टाइल4 weeks ago

नियमित साइकिल चलाना तनाव घटाने में मददगार

Imli Rice-
लाइफस्टाइल3 weeks ago

घर में ऐसे बनाएं स्वादिष्ट इमली चावल…

Kindler-m
लाइफस्टाइल4 weeks ago

एक्स्ट्रा फैट करता है बच्चों की हड्डियां कमजोर

Vitamin-
स्वास्थ्य3 weeks ago

विटामिन A की कमी को ऐसे करें दूर…

लाइफस्टाइल4 days ago

बदलते मौसम के साथ हुई मौसमी एलर्जी का करें तुरंत इलाज

Ginger
लाइफस्टाइल2 weeks ago

इन सारी बीमारियों को झट से दूर करेगा अदरक

Cold
लाइफस्टाइल1 week ago

सर्दी-जुकाम से बचाव के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय…

Human chain Bihar against CAA NRC
शहर3 days ago

बिहार : सीएए, एनआरसी के खिलाफ वामदलों ने बनाई मानव श्रंखला

Sara Ali Khan
मनोरंजन1 week ago

“लव आज कल “में Deepika संग अपनी तुलना पर बोली सारा

मनोरंजन1 week ago

सैफ अली खान की बेटी होने के नाते मुझे गर्व है : Sara Ali Khan

Ayushmann Khurrana-min
मनोरंजन1 week ago

फिल्म ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ का ट्रेलर रिलीज

sidharth--
मनोरंजन2 weeks ago

Sidharth Malhota की बर्थडे पार्टी में शामिल हुए सितारे

मनोरंजन2 weeks ago

‘Jawaani Jaaneman’ उम्र को स्वीकारने के बारे में है : Saif Ali Khan

मनोरंजन2 weeks ago

‘Panga’ को प्रमोट करने खूबसूरत अंदाज में दिखी Kangana

मनोरंजन2 weeks ago

‘Tanaji:The Unsung Warrior’ की स्क्रीनिंग में पहुंचीं Sara और Nysa

shahrukh khan
मनोरंजन2 weeks ago

Kabir Khan की सीरीज ‘ Indian National Army ‘ में सुनाई देगी “King Khan” की आवाज

मनोरंजन2 weeks ago

मनोज नाथ का “बागेश्वर घूमेली” गाना रिलीज

Most Popular