राष्ट्रीय

आधार में फर्जीवाड़ा: अब तक 490000 से ज्यादा ऑपरेटरों को ब्लैक लिस्ट में डाला गया

आधार कार्ड
प्रतीकात्मक तस्वीर

शनिवार (9 सितंबर) को उत्तर प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स ने फर्जी आधार कार्ड बनाने वाले लोगों के गिरोह को पकड़ा है। इस गिरोह में पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। युआईडीएआई ने जानकारी साझा करते हुए बताया है कि साइट पर कुछ असमान्य गतिविधियों का पता चलते ही पुलिस को जानकारी दी गई औऱ फर्जी आधार कार्ड के गिरोह का भांडफोड किया। युआईडीएआई के मुताबिक ओपरेटरों के लॉग इन को हैक कर फर्जी आधार कार्ड बनाए जा रहे थे। हालांकि युआईएडीआई का कहना है कि उनकी तकनीकी प्रणाली बहुत मजबूत है जिसके चलते साइट में इन लोगों की तकनीकी छेड़छाड़ का पता चल पाया। लेकिन

यूआईडीएआई ने जानकारी देते हुए बताया है कि अगर ऑपरेटर या सुपरवाइजर के इस साजिश में शामिल होने की जानकारी मिलती है तो उसे 5 साल के लिए ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा। इसके अलावा पचास हजार रुपये जुर्माने के साथ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

प्राधिकरण द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार यूआईडीएआई की स्थापना के बाद से यूआईडीएआई प्रक्रियाओं के उल्लंघन के लिए 49,000 से अधिक ऑपरेटरों को ब्लैक लिस्ट में डाला गया है।

केंद्र सरकार रोज आधार कार्ड को अनिवार्य करने पर एक नोटिफिकेशन जारी कर देता है, लेकिन जब 49 हजार से अधिक ऑपरेटरों को ब्लैक लिस्ट में डाला गया है जो आधार कार्ड पर सरकार की आधी तैयारी को जताता है और साथ ही उस शक को भी बुनियादी ठहरा देता है जिसमें कहा गया था कि आधार में हमारी नीजी जानकारी का दूर्पयोग हो सकता है।

WeForNews Bureau

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top